जिगलर नाटा बहुलकीकरण /उपसहसंयोजक ,आण्विक द्रव्यमान ,संश्लेषित , प्राकृतिक रबर 

Ziegler-Natta Polymerization in hindi जिगलर नाटा बहुलकीकरण / उपसहसंयोजक बहुलकीकरण : डाई इन या एल्किनों की वे बहुलकीकरण अभिक्रियाएँ जो कार्ब धात्विक यौगिक द्वारा उत्प्रेरित होती है , उपसहसंयोजक बहुलकीकरण क्रियाविधि कहलाती है। अभिक्रिया के प्रथम पद में कार्बधात्विक यौगिक एवं एकलक इकाई के संयोग से नयी एकलक इकाई का […]

बहुलकीकरण की परिभाषा क्या है , प्रकार , योगात्मक , संघनन बहुलकीकरण polymerization in hindi

बहुलकीकरण (polymerization in hindi) : एकलक इकाइयों से बहुलक बनने की प्रक्रिया को बहुलकीकरण कहते है। सामान्यत बहुलकीकरण क्रिया दो प्रकार से होती है – 1. योगात्मक बहुलकीकरण 2. संघनन बहुलकीकरण 1. योगात्मक बहुलकीकरण जब एकलक अणु / इकाइयाँ परस्पर योगात्मक अभिक्रिया द्वारा बहुलक का निर्माण करती है तो इस […]

बहुलक की परिभाषा , संश्लेषित पॉलीमर क्या है , प्रकार , वर्गीकरण synthetic polymer in hindi

संश्लेषित बहुलक (synthetic polymer) : बहुलक (polymer) ग्रीक शब्द पोली मरोस से लिया गया है जिसका मतलब होता है बहुत  सी इकाइयाँ। अतः बहुत सी छोटी छोटी इकाइयो से मिलकर बने उच्च अणुभार वाले यौगिक बहुलक कहलाते है। वह छोटी संरचनात्मक इकाई जिसकी पुनरावर्ती से बहुलक का निर्माण होता है […]

संश्लेषित अपमार्जक क्या है , परिभाषा , प्रकार , क्रांतिक मिसेल सान्द्रता (CMC) , साबुन और अपमार्जक में अंतर

synthetic detergents in hindi संश्लेषित अपमार्जक : लम्बी हाइड्रोकार्बन श्रृंखला युक्त सल्फ्यूरिक अम्ल या सल्फोनिक अम्लों के सोडियम लवण अपमार्जक कहलाते है। ये साबुन नहीं होते परन्तु साबुन के समान कार्य करते है अत: इन्हें साबुन रहित साबुन (soap less soap) भी कहते है। अपमार्जक अणु के दो भाग होते है […]

न्यूक्लिक अम्लों का जैविक कार्य , DNA की पुनरावर्ती व स्वप्रतिकृतिकरण , आनुवांशिक कूट 

न्यूक्लिक अम्लों का जैविक कार्य : (1) डीएनए (DNA) की पुनरावर्ती एवं स्वप्रतिकृतिकरण (replication of dna) : वह गुण जिसमे कोई जैव अणु अपने समान दूसरे अणु का संश्लेषण करता है replication कहलाता है। डीएनए अणु में यह गुण पाया जाता है और डीएनए के इसी गुण के कारण आन्वांशिक […]

न्यूक्लियोसाइड और न्यूक्लियोटाइड की परिभाषा क्या है , nucleoside and nucleotide in hindi

न्यूक्लियोसाइड (nucleoside in hindi) : एक नाइट्रोजनी क्षार व शर्करा के मध्य N ग्लाइकोसिडिक बंध के बनने से बनी इकाई न्यूक्लियोसाइड कहलाती है। न्यूक्लियोसाइड = शर्करा + नाइट्रोजनी क्षार न्यूक्लियोसाइड में शर्करा का C-1 पिरिमिडीन क्षार के N-1 के साथ एवं फ्यूरीन क्षार के N-9 के साथ जुड़ता हैं। डीएनए व […]

न्यूक्लिक अम्ल की परिभाषा क्या है , डी ऑक्सी राइबोज न्यूक्लिक अम्ल , राइबोज़ न्यूक्लिक अम्ल

Nucleic acid in hindi न्यूक्लिक अम्ल : वे यौगिक जो आनुवांशिक सूचनाओं को परिरक्षित करते हो एवं कोशिकाओं के अंदर प्रोटीन संश्लेषण की प्रक्रिया का अनुलेखित व अनुवादित करते हो न्यूक्लिक अम्ल कहलाते हैं। न्यूक्लिक अम्ल जैव बहुलक होते है , जो न्युक्लिओटाइडो के बहुलकीकरण से बनते हैं। न्यूक्लिक अम्ल दो […]

प्रोटीन की परिभाषा क्या है , गुण , लक्षण ,वर्गीकरण / प्रकार ,प्रोटिन की संरचना , विकृतिकरण

protein in hindi प्रोटीन की परिभाषा क्या है : α अमीनो अम्लों के रेखीय बहुलक प्रोटीन कहलाते है। प्रोटीन शरीर की वृद्धि एवं मरम्मत में सहायक होते है। प्रोटीन ग्रीक भाषा के प्रोटियस से लिया गया है जिसका मतलब होता है अति मत्वपूर्ण। अत: प्रोटीन सजीव के शरीर के लिए अतिआवश्यक यौगिक […]

पेप्टाइड की परिभाषा क्या है , प्रकार , पेप्टाइडो का नामकरण , अपघटन की विधि , संश्लेषण विधि

peptide in hindi पेप्टाइड की परिभाषा क्या है : एमीनो अम्लों के अणुओं के अम्लीय -COOH समूह एवं क्षारीय -NH2 दोनों प्रकार के समूह होते है अत: एक एमिनो अम्ल का COOH समूह दूसरे एमीनो अम्ल के -NH2 से अभिक्रिया करके एमाइड या लवण बना लेते है , इसे पेप्टाइड कहते है। पेप्टाइड में […]

तेल और वसा की परिभाषा क्या है , उदाहरण , रासायनिक गुण , शुद्धता का निर्धारण का मान

यहाँ हम पढ़ेंगे वसा , तेल , अपमार्जक और संश्लेषित बहुलक क्या है , इनकी परिभाषा क्या है , इनके उदाहरण , संरचना चित्र इत्यादि (oil and fat in hindi) तेल व वसा : ग्लिसरोल एवं लम्बी श्रृंखला वाले कार्बोक्सिलिक अम्लों के एस्टर तेल व वसा कहलाते है। एस्टर निर्माण […]

error: Content is protected !!