Monthly Archives: September 2018

ऊष्मागतिकी निकाय द्वारा किया गया कार्य (work done by a thermodynamic system in hindi)

(work done by a thermodynamic system in hindi) ऊष्मागतिकी निकाय द्वारा किया गया कार्य  : ऊष्मागतिकी भौतिक विज्ञानं कि वह शाखा है जिसमे मुख्य रूप से ऊष्मा ऊर्जा का यांत्रिक उर्जा में रूपांतरण का अध्ययन किया जाता है , सीधे शब्दों में हम यह कह सकते है कि उष्मागतिक द्वारा हम ऊष्मा उर्जा और यांत्रिक… Continue reading »

ऊष्मागतिक प्रक्रम , समदाबी , समआयतनिक , समतापी , रुद्धोष्म प्रक्रम , thermodynamical process in hindi

(thermodynamical process in hindi) ऊष्मागतिक प्रक्रम  : ऊष्मागतिक प्रक्रम ऊष्मा की गति के अध्ययन को कहते है , जैसा की हम जानते है कि जब हम गर्मी में किसी बर्फ के टुकड़े को हाथ लगाते है तो हमें बहुत ही अधिक आराम मिलता है क्योंकि बर्फ की तुलना में हमारा शरीर अधिक गर्म होता है… Continue reading »

ऊष्मागतिकी क्या है , परिभाषा , प्रकार (thermodynamics in hindi) , खुला , बंद निकाय

(thermodynamics in hindi) ऊष्मागतिकी क्या है , परिभाषा , प्रकार : ऊष्मा गतिकी एक बहुत ही महत्वपूर्ण भौतिक विज्ञान की शाखा है और भौतिकी की इस शाखा में ताप और ऊष्मा तथा इनके मध्य ऊर्जा और कार्य सम्बन्ध का अध्ययन किया जाता है। अत: सीधे शब्दों में कहे तो उष्मागतिकी शाखा के अंतर्गत हम ताप… Continue reading »

प्लांक की परिकल्पना (planck’s hypothesis in hindi)

(planck’s hypothesis in hindi) प्लांक की परिकल्पना  : क्वान्टम परिकल्पना सबसे पहले मैक्स प्लांक ने सन 1900 दी थी जिसके अनुसार प्रकाश उर्जा का उत्सर्जन या अवशोषण उर्जा के छोटे छोटे बंडल या पैकेट के रूप में होता है जिसे क्वांटा कहते है। जब मैक्स प्लांक कृष्णिका पिंड के विकिरण का अध्ययन कर रहे थे… Continue reading »

वीन का विस्थापन नियम (wien’s displacement law in hindi)

(wien’s displacement law in hindi) वीन का विस्थापन नियम : इस नियम के आधार पर हम यह बता सकते है कि किस तरंग दैर्ध्य पर किसी कृष्णिका पिंड या ब्लैक बॉडी से उत्सर्जित ऊष्मा विकिरण की तीव्रता का मान अधिकतम होता है। यदि इसके बाद भी ताप का मान और अधिक बढाया जाए तो तीव्रता… Continue reading »

न्यूटन का शीतलन का नियम (newton’s law of cooling in hindi) , क्या है , ग्राफ , सूत्र

(newton’s law of cooling in hindi) न्यूटन का शीतलन का नियम : न्यूटन के इस नियम के अनुसार किसी भी पिंड या वस्तु के ठण्डा होने की दर का मान वस्तु के ताप तथा वस्तु के चारो ओर के वातावरण के ताप में अंतर के समानुपाती होता है। जैसा कि हम जानते है कि जब… Continue reading »

स्टीफन का नियम stefan’s law of radiation in hindi

(stefan’s law of radiation in hindi) स्टीफन का नियम : सन 1879 में जोसफ स्टीफन ने ऊष्मा संचरण या उत्सर्जन – अवशोषण पर कुछ प्रयोग किये जिनके आधार पर इन्होने अपना एक नियम दिया जिसे स्टीफन का नियम कहते है , इस नियम के अनुसार “किसी भी पृष्ठ द्वारा उत्सर्जित ऊष्मा उर्जा का मान ,… Continue reading »

किरचॉफ का ऊष्मा विनिमय नियम kirchhoff’s heat radiation law in hindi

(kirchhoff’s heat radiation law in hindi) किरचॉफ का ऊष्मा विनिमय नियम : जैसा की हमने पढ़ा कि केवल परम शून्य ताप के अलावा अन्य तापों पर वस्तु ऊष्मा का उत्सर्जन या अवशोषण करती है। किरचॉफ ने बताया कि किसी दिए गए ताप पर सभी वस्तुओं या पिण्डो की उत्सर्जन क्षमता और ऊष्मा अवशोषण क्षमता के… Continue reading »

प्रिवोस्ट का ऊष्मा विनिमय सिद्धान्त prevost theory of heat exchange in hindi

prevost theory of heat exchange in hindi प्रिवोस्ट का ऊष्मा विनिमय सिद्धान्त : हर वस्तु शून्य केल्विन को छोड़कर बाकी सभी ताप पर ऊष्मा विकिरण उत्सर्जित करता है या चारो तरफ के बाह्य वातावरण से ऊष्मा का अवशोषण करता है। वस्तु या पिंड द्वारा ऊष्मा उत्सर्जन की दर का मान इस बात पर निर्भर करता… Continue reading »

आदर्श कृष्ण पिंड या कृष्णिका विकिरण क्या है , परिभाषा (black body radiation in hindi)

(black body radiation in hindi) आदर्श कृष्ण पिंड या कृष्णिका विकिरण क्या है , परिभाषा  : वह वस्तु जिस पर जब विकिरण आपतित की जाती है तो वह सम्पूर्ण विकिरणों को अवशोषित कर लेता है और कुछ भी परावर्तित नहीं करता है , उस वस्तु को आदर्श कृष्ण पिंड या कृष्णिका या ब्लैक बॉडी कहते… Continue reading »