Monthly Archives: September 2018

कार्नो इंजन क्या है , सिद्धांत , कार्यप्रणाली , भाग , चित्र वर्णन (carnot engine in hindi)

(carnot engine in hindi) कार्नो इंजन क्या है , सिद्धांत , कार्यप्रणाली , भाग , चित्र वर्णन : इस प्रकार का इंजन हमारे रेफ्रिजरेटर और a.c में लगा रहता है। इस इंजन में दो समतापी उत्क्रमणीय प्रक्रम होते है तथा दो ही रुद्धोष्म उत्क्रमणीय प्रक्रम होते है। कार्नो इंजन एक आदर्श ऊष्मा इंजन ही होता… Continue reading »

प्रशीतक या रेफ्रिजरेटर क्या है , सिद्धांत , कार्यविधि , कौनसी गैस काम आती है (Refrigerator in hindi)

(Refrigerator in hindi) प्रशीतक या रेफ्रिजरेटर क्या है , सिद्धांत , कार्यविधि , कौनसी गैस काम आती है : हम ऊष्मागतिकी का दूसरा नियम पढ़ चुके है जिसके अनुसार जब किसी ठंडी वस्तु को गर्म वस्तु के सम्पर्क में लाया जाता है तो ठंडी वस्तु गर्म होने लगती है और गर्म वस्तु ठण्डी होने लगती है। और… Continue reading »

पेट्रोल इंजन और डीजल इन्जन में क्या अंतर है (difference between petrol engine and diesel engine in hindi)

(difference between petrol engine and diesel engine in hindi) पेट्रोल इंजन और डीजल इन्जन में क्या अंतर है : हम यहां पेट्रोल और डीजल इंजन के बारे में अध्ययन करने वाले है , सबसे पहले आप यह समझे ले कि जो इंजन पेट्रोल इंधन से चलते है उन्हें पेट्रोल इंजन कहते है और जिन इंजन… Continue reading »

ऊष्मा इंजन क्या है , परिभाषा , कार्यप्रणाली , चित्र प्रकार , दक्षता (heat engine in hindi)

(heat engine in hindi) ऊष्मा इंजन क्या है , परिभाषा , कार्यप्रणाली , चित्र प्रकार , दक्षता : यह एक ऐसी डिवाइस है जो ऊष्मा ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा या कार्य में परिवर्तित करती है। चाहे ऊष्मा कोयला हो या तेल या अन्य किसी से भी उत्पन्न की जाए लेकिन विश्व में लगभग 80% ऊर्जा… Continue reading »

ऊष्मागतिकी का द्वितीय (दूसरा) नियम (second law of thermodynamics in hindi)

(second law of thermodynamics in hindi) ऊष्मागतिकी का द्वितीय (दूसरा) नियम : ऊष्मा गतिकी का दूसरा नियम यह बताता है कि ऊष्मा ऊर्जा को पूर्ण रूप से यांत्रिक उर्जा में परिवर्तन नहीं किया जा सकता है।  अर्थात यदि हम चाहे कि कोई ऊष्मा ऊर्जा पूर्ण रूप से अर्थात 100% यान्त्रिक ऊर्जा में परिवर्तित हो जाए तो… Continue reading »

गूगल २०थ बर्थडे Google’s 20th Birthday in hindi

Google’s 20th Birthday in hindi गूगल २०थ बर्थडे –  आज शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो गूगल के बारे में नहीं जानता होगा , आज गूगल को बने २० साल बीते गए और इन बीस साल में गूगल ने बहुत कुछ हासिल किया है। आज गूगल दुनिया का सबसे प्रचलित और सबसे अधिक उपयोग में… Continue reading »

उत्क्रमणीय प्रक्रम और अनुत्क्रमणीय प्रक्रम (reversible and irreversible processes in hindi)

(reversible and irreversible processes in hindi) उत्क्रमणीय प्रक्रम और अनुत्क्रमणीय प्रक्रम : अगर हम ऊष्मागतिकी प्रक्रमों के प्रकार की बात करे तो ये दो प्रकार के होते है पहला उत्क्रमणीय प्रक्रम तथा दूसरा अनुत्क्रमणीय प्रक्रम।  इनमे से उत्क्रमणीय प्रक्रम एक आदर्श स्थिति होती है जो कभी संभव नहीं हो सकती है और अनुत्क्रमणीय प्रक्रम एक… Continue reading »

गैस का मुक्त प्रसार (free expansion of gases in hindi) , क्या है , परिभाषा , उदाहरण

(free expansion of gases in hindi) गैस का मुक्त प्रसार : गैसों का ऐसा प्रसार जिसमे गैस की आंतरिक ऊर्जा में किसी प्रकार का कोई परिवर्तन नहीं होता है गैस का मुक्त प्रसार कहलाता है , इसे निम्न उदाहरण द्वारा समझ सकते है – ,माना एक गैस किसी चैम्बर में भरी हुई है जिसकी चारो… Continue reading »

ऊष्मागतिकी का प्रथम (पहला) नियम (first law of thermodynamics in hindi)

(first law of thermodynamics in hindi) ऊष्मागतिकी का प्रथम (पहला) नियम : ऊष्मा गतिकी का पहला नियम यह बताता है कि ऊष्मा भी एक प्रकार की ऊर्जा ही है अर्थात ऊष्मा , उर्जा का एक रूप है। ऊष्मा ऊर्जा संरक्षण नियम की पालना करती है अर्थात ऊष्मा उर्जा को न तो उत्पन्न किया जा सकता… Continue reading »

ऊष्मागतिकी का शून्यवाँ (शून्य) नियम (zeroth law of thermodynamics in hindi)

(zeroth law of thermodynamics in hindi) ऊष्मागतिकी का शून्यवाँ (शून्य) नियम  : ऊष्मा गतिक का शून्य नियम यह बताता है कि जब दो निकाय किसी तीसरे निकाय के साथ उष्मीय साम्य में हो तो वे दोनों निकाय आपस में भी एक दुसरे के साथ उष्मीय साम्य अवस्था में होंगे। उष्मीय साम्य का तात्पर्य है जब… Continue reading »