पेट्रोल इंजन और डीजल इन्जन में क्या अंतर है (difference between petrol engine and diesel engine in hindi)

(difference between petrol engine and diesel engine in hindi) पेट्रोल इंजन और डीजल इन्जन में क्या अंतर है : हम यहां पेट्रोल और डीजल इंजन के बारे में अध्ययन करने वाले है , सबसे पहले आप यह समझे ले कि जो इंजन पेट्रोल इंधन से चलते है उन्हें पेट्रोल इंजन कहते है और जिन इंजन में डीजल को ईंधन की तरह काम में लिया जाता है उन्हें डीजल इंजन कहते है।

अब बात करते है कि दोनों इंजनो के मध्य क्या अंतर होता है।

पेट्रोल इंजन और डीजल इन्जन में अंतर

1. पेट्रोल इंजन में पेट्रोल और हवा कार्बोरेटर में जाकर अच्छे से मिल जाते है अर्थात कार्बोरेटर में पेट्रोल और हवा दोनों का मिश्रण बन जाता है , अब यह मिश्रण सिलेंडर में जाता है।
डीजल इंजन में ईंधन इंजेक्टर की सहायता से पहले डीजल को सिलेंडर में प्रवेश करवाया जाता है और इसके बाद सिलेंडर में हवा को प्रवेश करवाया जाता है और इसके बाद दोनों का मिश्रण सिलेंडर में बनता है।
2. पेट्रोल इंजन में पहले हवा और पेट्रोल को संपीडित किया जाता है और संपीडन के बाद इलेक्ट्रिक स्पार्क के द्वारा इसे प्रज्वलित किया जाता है। डीजल इन्जन में सिर्फ चार्ज हवा को संपीड़ित किया जाता है और संपीडन के बाद संपीडित हवा की ऊष्मा के द्वारा प्रजव्लित किया जाता है।
3. पेट्रोल इंजन में लगभग 2% पेट्रोल तथा 98% वायु को ईंधन की तरह काम में लिया जाता है तथा डीजल इंजन में डीजल , वायु तथा ऊष्मा के मिश्रण को ईंधन की तरह उपयोग किया जाता है।
4. पेट्रोल इंजन की दक्षता बहुत कम होती है तथा डीजल इंजन की दक्षता अधिक होती है , पेट्रोल इंजन की दक्षता का मान लगभग 52% होता है तथा डिजल ईंजन की दक्षता का मान लगभग 64% होती है।
5. पेट्रोल ईंजन में स्पार्क प्लग लगा होता है तथा डीजल इंजन में ईंधन इंजेक्टर या ऑइल प्लग लगा रहता है।
6. पेट्रोल इंजन में विस्फोट होने का खतरा अधिक होता है क्योंकि इसमें पेट्रोल और वायु दोनों संपीडित रहती है जबकि डीजल इंजन में विस्फोट का कोई खतरा नहीं होता है क्योंकि इसमें केवल वायु ही संपीडित अवस्था में रहती है।
7. पेट्रोल इंजन हल्का , सस्ता होता है तथा इसका रखरखाव का खर्चा भी कम रहता है जबकि डीजल इन्जन महंगा , भारी रहता है और इसका रख रखाव का खर्चा अधिक बैठता है।
8. पेट्रोल इंजन हलके वाहनों जैसे दुपहिया , जीप इत्यादि में लगा रहता है जबकि डीजल इंजन भारी वाहनों जैसे ट्रक , बस इत्यादि में लगा रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *