Monthly Archives: April 2018

पूर्ण आन्तरिक परावर्तन की परिभाषा क्या है , पूर्ण आंतरिक Total internal reflection in hindi

Total internal reflection in hindi पूर्ण आन्तरिक (आंतरिक) परावर्तन की परिभाषा क्या है : हम प्रकाश का अपवर्तन पढ़ चुके है जिसमे हमने पढ़ा है की जब प्रकाश किरण किसी विरल माध्यम से सघन माध्यम में गमन करती है तो अपवर्तन के कारण यह अभिलम्ब की तरफ झुक जाती है। तथा जब प्रकाश किरण किसी… Continue reading »

पैंदे का ऊपर उठा हुआ , छड का मुड़ा हुआ दिखाई देना , कांच की पट्टिका द्वारा अपवर्तन

appearance of bottom raised of a liquid in hindi द्रव से भरे पात्र के पैंदे का ऊपर उठा हुआ दिखाई देना : जब किसी पात्र में पानी भरा जाता है तो हमें बाहर से देखने पर इस पानी की गहराई कम दिखाई देती है अर्थात इस पात्र का पैंदा कुछ उठा हुआ प्रतीत होता है… Continue reading »

सूर्योदय तथा सूर्यास्त की अपवर्तन की घटना sunrise and sunset phenomenon refraction of light

sunrise and sunset phenomenon refraction of light सूर्योदय तथा सूर्यास्त की अपवर्तन की घटना : आपने अगर ध्यान दिया हो तो आप पाएंगे की सूर्योदय से पहले ही हमें सूर्य दिखाई देने लग जाता है तथा इसी प्रकार शाम को जब सूर्यास्त हो जाता है उसके बाद भी सूर्य दिखाई देता है इस सूर्योदय तथा… Continue reading »

तारों का टिमटिमाना की अपवर्तन घटना twinkling of stars in hindi

(twinkling of stars in hindi ) तारों का टिमटिमाना की अपवर्तन घटना : जैसा की हम जानते है की तारे हमसे हजारो मील दूर स्थित है इसलिए जब हम इन्हें देखते है तो इनका प्रतिबिम्ब हमारी रेटिना पर एक बिन्दु के समान बनता है। तारों को जब हम देखते है तो हमें ये चमकते हुए प्रतीत… Continue reading »

अपवर्तनांक की परिभाषा क्या है Refractive index in hindi

(Refractive index in hindi) अपवर्तनांक की परिभाषा क्या है : अपवर्तनांक किसी भी माध्यम का वह गुण होता है जिसके आधार पर उस माध्यम में प्रकाश किस वेग से गति करेगा यह निर्धारित होता है। अर्थात अपवर्तनांक के आधार पर ही हम उस माध्यम में प्रकाश के वेग को परिभाषित या ज्ञात कर सकते है।… Continue reading »

प्रकाश का अपवर्तन , क्या है , परिभाषा व स्नेल का नियम Refraction of light in hindi

प्रकाश का अपवर्तन , क्या है , परिभाषा Refraction of light in hindi : जब प्रकाश की किरण किसी पारदर्शी माध्यम में गति करती है तो प्रकाश का गमन एक सीधी रेखा के रूप में होता है। लेकिन जब प्रकाश एक पारदर्शी माध्यम से दूसरे पारदर्शी माध्यम में गमन करता है तो दोनों माध्यमों को… Continue reading »

द्विघटकीय मैग्मा का क्रिस्टलन Crystallization of binary magma in hindi

Crystallization of binary magma in hindi (द्विघटकीय मैग्मा का क्रिस्टलन) : मैग्मा के शीतलन या दबाव में परिवर्तन पर खनिज क्रिस्टलित होते है।   प्रकार संघटन के पश्चात् आग्नेय शैल निर्मित होते है।  शैलों में खनिजों की संख्या मैग्मा के संघटन और शीतलन की स्थितियों पर निर्भर करती है।  यहाँ हम द्वीखनिजीय शैलो के बारे में… Continue reading »

आग्नेय शैलों का रूप Forms of igneous bodies in hindi , Description of igneous body

Forms of igneous bodies in hindi आग्नेय शैलों का रूप: आग्नेय शैल बॉडीज दो प्रकार की होती है – 1. बहिर्वेधी शैल रूप ( extrusive Igneous bodies ) 2. अंतर्वेधी शैल रूप (intrusive Igneous bodies ) 1. बहिर्वेधी शैल रूप ( extrusive Igneous bodies ) : बहिर्वेधी शैल रूप मैग्मा के भू पृष्ठ पर उद्गार… Continue reading »

आग्नेय शैलों की संरचना Structures of IGneous rocks in hindi

Structures of IGneous rocks in hindi (आग्नेय शैलों की संरचना ) : शैलो की क्षेत्रीय अवस्था को संरचना कहते है।  आग्नेय शैलों की निम्नलिखित संरचना होती है – 1. flow structures : कभी कभी आग्नेय शैल समान्तर अथवा अंशीय समान्तर बेंड अथवा structure दिखाती है जिसका कारण है – मैग्मा अथवा लावा के शीतलन एवं क्रिस्टलन… Continue reading »

आग्नेय शैलो के गठन व सूक्ष्म संरचनाएं Textures of igneous rocks in hindi

Textures of igneous rocks in hindi (आग्नेय शैलो के गठन व सूक्ष्म संरचनाएं) : texture का अर्थ है किसी शैल में खनिज कणों की आकृति , आकार , एवं स्थिति व्यवस्था। या शैलो के विभन्न खनिज घटकों एवं कांच के पारस्परिक संबंधो को शैल गठन कहते है। विभिन्न गठन समुच्चयो के सानिध्य से सूक्ष्म संरचना… Continue reading »