Category Archives: geography

वायुमण्डल की परिभाषा क्या है ? वायुमण्डल परतें , वायुमंडल का महत्व , संरचना चित्र , atmosphere of earth in hindi

atmosphere of earth in hindi , वायुमण्डल की परिभाषा क्या है ? वायुमण्डल परतें , वायुमंडल का महत्व , संरचना चित्र :- वायुमण्डल (atmosphere) : पृथ्वी के चारो ओर पायी जाने वाली वायु की परत को वायुमंडल कहते है। पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल के कारण वायुमंडल पृथ्वी के चारो ओर बना रहता है। वायुमण्डल के तीन… Continue reading »

प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत क्या है , प्लेट विवर्तनिक का सिद्धान्त किसने दिया plate tectonics theory in hindi

plate tectonics theory in hindi , plate tectonics theory given by प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत क्या है , प्लेट विवर्तनिकी का सिद्धांत किसने दिया :-  पृथ्वी से सम्बन्धित सिद्धान्त (theories related to earth in hindi) :  1. महाद्वीपीय विस्थापन सिद्धांत : यह सिद्धांत  सन 1912 में अल्फ्रेड वेगनर द्वारा दिया गया था। वेगनर जर्मन मौसम वैज्ञानिक थे… Continue reading »

अन्तराष्ट्रीय तिथि रेखा क्या है , अंतर्राष्ट्रीय तिथि रेखा टेढ़ी-मेढ़ी क्यों है , कितनी बार विचलित होती है , मुड़ी international date line in hindi

international date line in hindi , अन्तराष्ट्रीय तिथि रेखा क्या है , अंतर्राष्ट्रीय तिथि रेखा टेढ़ी-मेढ़ी क्यों है , कितनी बार विचलित होती है , कितनी बार मुड़ी हुई है :- विषुव (equinox) : पृथ्वी की कक्षा में वह स्थिति जब सूर्य विषुवत रेखा के ठीक ऊपर स्थित होता है उसे विषुव कहते है। इस दौरान… Continue reading »

उपसौर और अपसौर की परिभाषा क्या है , पृथ्वी की अक्ष या धुरी किसे कहते है , कक्षा , perihelion and aphelion in hindi

perihelion and aphelion in hindi , उपसौर और अपसौर की परिभाषा क्या है , पृथ्वी की अक्ष या धुरी किसे कहते है , कक्षा , पृथ्वी की गतियाँ परिक्रमण व परिभ्रमण : पृथ्वी (earth) : पृथ्वी का आकार (shape of earth in hindi) :पृथ्वी का आकार गोलाभ (geoid) (जिओइड) है। पृथ्वी विषुवतीय रेखीय क्षेत्रो में… Continue reading »

पृथ्वी की आंतरिक संरचना (internal structure of earth in hindi) , क्रस्ट या भू-पर्पटी , मेंटल , कोर या क्रोड़

(internal structure of earth in hindi) पृथ्वी की आंतरिक संरचना :- घनत्व के आधार पर पृथ्वी की आंतरिक संरचना दर्शायी जाती है।  पृथ्वी का औसत घनत्व का मान लगभग 5.5 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर होता है। पृथ्वी की आन्तरिक संरचना का अध्ययन भूकंप विज्ञान के आधार पर किया जाता है अर्थात भूकम्प विज्ञान में भूकम्प… Continue reading »

चट्टानें (rocks in hindi) , चट्टान किसे कहते हैं , परिभाषा क्या है , अर्थ , चट्टानों का वर्गीकरण प्रकार

चट्टान किसे कहते हैं , परिभाषा क्या है , अर्थ , चट्टानों का वर्गीकरण प्रकार , चट्टानें (rocks in hindi) :- चट्टानें (rocks) : चट्टानों का निर्माण खनिजो से होता है और खनिजो का निर्माण तत्वों से होता है। पृथ्वी की क्रस्ट पर आठ प्रमुख तत्व पाए जाते है इन तत्वों का क्रस्ट पर पाए जाने… Continue reading »

ज्वालामुखी का वितरण (distribution of volcanoes in hindi) , ज्वालामुखी का वैश्विक वितरण world distribution of volcanoes

world distribution of volcanoes in hindi , ज्वालामुखी का वैश्विक वितरण : ज्वालामुखी का वितरण (distribution of volcanoes) ज्वालामुखी का वैश्विक वितरण प्लेट विवर्तनिकी के आधार पर दर्शाया जाता है। विश्व में निम्नलिखित प्रमुख ज्वालामुखी पेटियाँ है – (1) परि-प्रशांत महासागरीय पेटी (circum pacific belt) (2) मध्य महाद्वीपीय पेटी (mid continental belt) (3) मध्य महासागरीय… Continue reading »

ज्वालामुखी क्या है ? परिभाषा , ज्वालामुखी किसे कहते है ? कैसे फटता है (volcano in hindi)

ज्वालामुखी क्या है ? परिभाषा , ज्वालामुखी किसे कहते है ? कैसे फटता है  (volcano in hindi)

ज्वालामुखी (volcano in hindi) : ज्वालामुखी एक प्राकृतिक घटना है जिसके अंतर्गत पृथ्वी के आंतरिक भाग से लावा , विभिन्न गैसे , राख , जलवाष्प , ज्वालामुखी बम , ज्वल खण्डाश्मी पदार्थ (pyroclastic) , लैपिली आदि पदार्थ बाहर निकलते है। ज्वालामुखी क्रियाओ के दौरान निकलने वाली मुख्य गैसे निम्नलिखित है – नाइट्रोजन (N) , सल्फर… Continue reading »

भूकंप के प्रकार (types of earthquake) , भारत में भूकम्प (earthquake in india) , भूकंप का वितरण (distribution of earthquake)

भूकंप के प्रकार (types of earthquake) भूकंप को तीन आधारों पर वर्गीकृत किया जा सकता है – 1. कारण के आधार पर 2. स्थिति के आधार पर 3. अवकेन्द्र की गहराई के आधार पर 1. कारण के आधार पर : भूकंप के कारण के आधार पर इसे दो भागो में बाँट सकते है – (i)… Continue reading »

भूकंप की परिभाषा क्या है , (earthquake in hindi) , अवकेन्द्र (focus or hypocenter of an earthquake)

भूकम्प (earthquake) : पृथ्वी में होने वाले कम्पन्न को ही भूकंप कहते है।  भूकम्प के दौरान पृथ्वी के आंतरिक भाग में अचानक ऊर्जा मुक्त होती है जो चारो दिशाओ में भूकम्पीय तरंगो के रूप में फ़ैल जाती है।  यही तरंगे भूमि में कम्पन्न करवाती है। विज्ञान की जिस शाखा में भूकंप का अध्ययन किया जाता… Continue reading »