Monthly Archives: November 2018

X किरणें क्या है , X किरण की खोज किसने की , एक्स-रे , क्ष किरणों (x-ray in hindi)

(x-ray in hindi) X किरणें क्या है , X किरण की खोज किसने की , एक्स-रे , क्ष किरणों : X-किरणें विद्युत चुम्बकीय ऊर्जा वाली बहुत ही शक्तिशाली किरणें होती है , जब कोई तीव्र इलेक्ट्रॉन पुंज एक उच्च गलनांक और उच्च परमाणु भार वाले पदार्थ पर गिरता है तो इससे जो किरणें उत्सर्जित होती है उन किरणों को… Continue reading »

कॉम्पटन प्रभाव क्या है , परिभाषा , सूत्र (compton effect in hindi) , व्हाट इस कॉम्प्टन इफ़ेक्ट इन हिंदी

(compton effect in hindi) कॉम्पटन प्रभाव क्या है , परिभाषा , सूत्र , व्हाट इस कॉम्प्टन इफ़ेक्ट इन हिंदी : जब किसी फोटोन को किसी पदार्थ पर डाला जाता है तो यह फोटोन पदार्थ के इलेक्ट्रॉन से टकराता है और टक्कर (संघट्ट) के बाद फोटोन का प्रकीर्णन हो जाता है , इलेक्ट्रॉन द्वारा फोटोन के प्रकीर्णन को… Continue reading »

प्रकाश विद्युत प्रभाव (photoelectric effect in hindi) , की खोज या प्रतिपादन किसने किया

(photoelectric effect in hindi) प्रकाश विद्युत प्रभाव की खोज या प्रतिपादन किसने किया : जब कोई प्रकाश किसी पदार्थ या धातु पर गिरता है तो पदार्थ या धातु से इलेक्ट्रानों का उत्सर्जन होता है , इस घटना को प्रकाश विद्युत प्रभाव कहते है। या घटना तभी घटित होती है जब प्रकाश की आवृत्ति देहली आवृत्ति से… Continue reading »

फोटॉन क्या है , फोटोन की खोज किसने की थी , ऊर्जा , गुण (photon in hindi)

(photon in hindi) फोटॉन क्या है , फोटोन की खोज किसने की थी , ऊर्जा , गुण : भौतिक विज्ञान में फोटोन को विद्युत चुम्बकीय ऊर्जा का बण्डल कहा जाता है , यह प्रकाश की मूल इकाई होती है जिससे प्रकाश बना होता है , मैक्स प्लांक के क्वांटम सिद्धांत के अनुसार , प्रकाश ऊर्जा के छोटे छोटे… Continue reading »

डेविसन जर्मर प्रयोग , डेविसन जर्मन का प्रयोग (davisson germer experiment in hindi)

(davisson germer experiment in hindi) डेविसन जर्मर प्रयोग , डेविसन जर्मन का प्रयोग : डेविसन और जर्मर ने द्रव्य के तरंग व्यवहार की पुष्टि की। 1924 डी ब्रोग्ली ने द्रव्य के द्वेत प्रकृति के बारे में बताया था इसके अनुसार द्रव्य गतिशील अवस्था में तरंग की तरह और स्थिर अवस्था में कण की तरह व्यवहार करता… Continue reading »

द्रव्य तरंगे अथवा दे ब्रोग्ली तरंग , गुण , द्रव्य तरंगों की तरंग दैर्ध्य (theory of matter waves de broglie in hindi)

(theory of matter waves de broglie in hindi) द्रव्य तरंगे अथवा दे ब्रोग्ली तरंग , गुण , द्रव्य तरंगों की तरंग दैर्ध्य : सन 1925 में फ़्रांस के वैज्ञानिक लेविस डी ब्रोग्ली ने द्रव्य के द्वेती प्रकृति के बारे में बताया था , उन्होंने बताया कि जिस प्रकार विकिरणों की द्वैत प्रकृति होती है ठीक उसी प्रकार… Continue reading »

एनोड किरण , धन किरणें क्या है , कैनाल किरण , एनोड किरणें (anode rays in hindi)(positive or canal rays)

(anode rays in hindi) एनोड किरण , धन किरणें क्या है , कैनाल किरण , एनोड किरणें : याद रखिये कि ये तीनों एक ही प्रकार की किरणें है एनोड किरणों को ही धन किरणें या कैनाल किरण (positive ray or canal ray) कहा जाता है। विसर्जन नलिका के सिरों पर जब कम दाब पर उच्च विभवान्तर आरोपित… Continue reading »

मिलिकन का तेल बूंद प्रयोग (millikan oil drop experiment in hindi)

(millikan oil drop experiment in hindi) मिलिकन का तेल बूंद प्रयोग : सन 1909 में रॉबर्ट मिलिकन और हार्वे फ्लेचर ने इलेक्ट्रॉन पर उपस्थित आवेश का मान ज्ञात करने के लिए एक प्रयोग किया जिसे तेल बून्द प्रयोग कहते है। सामान्यत कोई भी तेल की बूंद , अपने द्रव्यमान के कारण गुरुत्वाकर्षण बल के प्रभाव से… Continue reading »

थॉमसन विधि द्वारा इलेक्ट्रॉन के विशष्ट आवेश (e/m) का मान (Thomson’s method – specific charge (e/m) in hindi)

थॉमसन विधि द्वारा इलेक्ट्रॉन के विशष्ट आवेश (e/m) का मान (Thomson’s method – specific charge (e/m) in hindi)

(Thomson’s method – specific charge (e/m) of an electron in hindi) थॉमसन विधि द्वारा इलेक्ट्रॉन के विशष्ट आवेश (e/m) का मान ज्ञात करना : सन 1897  में जे.जे. थॉमसन ने कैथोड किरणों के लिए अर्थात इलेक्ट्रान के विशिष्ट आवेश का मान ज्ञात किया। इलेक्ट्रॉन का विशिष्ट आवेश : इकाई द्रव्यमान पर उपस्थित आवेश को विशिष्ट… Continue reading »

कैथोड किरण : कैथोड किरणों की खोज किसने की , गुण क्या है , केथोड किरणें नलिका (cathode rays in hindi)

(cathode rays in hindi) कैथोड किरण : कैथोड किरणों की खोज किसने की , गुण क्या है , केथोड किरणें नलिका : जब किसी विसर्जन नलिका में निम्न दाब पर गैस उपस्थित हो और इस नली के सिरों पर बहुत अधिक मान का विभवान्तर आरोपित किया जाए तो कैथोड से एनोड की तरफ इलेक्ट्रोन की… Continue reading »