विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना कब की गई world health organisation established in hindi

By   December 23, 2020

world health organisation established in hindi विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना कब की गई ? 

विश्व स्वास्थ्य संगठन
संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद् द्वारा एक विशेषीकृत एजेंसी के रूप में 7 अप्रैल 1948 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) की स्थापना हुई। इसका उद्देश्य संसार के सभी व्यक्तियों को कम से कम लागत में यथासंभव अधिक से अधिक उच्च स्तर तक स्वास्थ्य उपलब्ध कराना है।

यह संगठन स्वास्थ्य सेवाएँ मजबूत करने, रोग उन्मूलन करने की प्रेरणा और काम को बढ़ावा देने, माँ तथा बाल स्वास्थ्य को बढ़ावा देने, मानसिक स्वास्थ्य, औषधीय अनुसंधान तथा दुर्घटनाओं को रोकने, स्वास्थ्य व्यवसाय में शिक्षा तथा प्रशिक्षण के स्तर बेहतर बनाने और पोषण, आवास, स्वच्छंदता प्रबंध, काम की दशाओं तथा परिवेशीय स्वास्थ्य के अन्य पहलुओं में सुधार करने में सरकार की मदद करता है।

बोध प्रश्न 2
1) अपराध को बढ़ावा देने वाले मुख्य कारक बताइए। अपना उत्तर लगभग आठ पंक्तियों में लिखिए।
2) बाल अपराध के विरुद्ध सुधार के कौन-से उपाय किए गए हैं। लगभग दस पंक्तियों में उत्तर दीजिए।
3) उपयुक्त उत्तर द्वारा रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए रू
क) पहली बार बाल अधिकारों की घोषणा वर्ष …….. में की गई।
(क) 1926 (ख) 1924 (ग) 1925 (घ) 1935
ख) वर्ष ………………… को अंतर्राष्ट्रीय बाल वर्ष के रूप में मनाया गया।
(क) 1976 (ख) 1989 (ग) 1990 (घ) 1979
ग) विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना ………………… को हुई।
(क) 7 अप्रैल, 1948 (ख) 7 अप्रैल, 1946 (ग) 6 मई, 1952 (घ) 9 जून, 1942

बोध प्रश्न 2
1) जिन घटकों से बाल अपराध को बढ़ावा मिलता है, वे हैं – टूटे हुए परिवार, घर में एकांत की कमी, खराब आवास, घर तथा पास-पड़ोस में मनोरंजन के लिए स्थान का अभाव, माता-पिता की उपेक्षा तथा उनकी (माता-पिता) गरीबी। इसके अलावा विद्यालय, काम करने के स्थान तथा पास-पड़ोस में अवांछनीय मित्रमंडली, सिनेमा, साहित्य तथा अन्य संचार माध्यमों के अवांछनीय प्रभाव से बाल अपराध को बढ़ावा मिलता है।

2. अपराध के विरुद्ध निवारक के साथ-साथ सुधारात्मक उपाय करने के लि भी जारी किए गए हैं। इन कानूनों के तहत पूर्णकालिक महिला मैजिस्ट्रेटों के नियंत्रण में किशोर अदालतें बनाई गई हैं। किशोरों को अदालत में बिना हथकड़ी के पेश किया जाता है। उनके मामलों में विशेष अधिकारी बहस करते हैं जिन्हें परिवीक्षा अधिकारी कहते हैं। ये अधिकारी सामाजिक कार्य तथो सुधारात्मक प्रशासन में प्रशिक्षित होते हैं। जब तक अदालत में उनके मामलों का फैसला नहीं हो जाता, इन किशारों को सुधार-गृहों में रखा जाता है। अदालत के फैसले के बाद वे किशोर जिन पर लगातार देखभाल करने की आवश्यकता होती है, देखभाल, उपचार, शिक्षा तथा प्रशिक्षण के लिए अनुमोदित स्कूलों में रखे जाते हैं। आशा की जाती है कि स्कूल से निकलने के समय तक उनकी मानसिक, नैतिक तथा शारीरिक अवस्था बदल चुकी होगी तथा उनमें एक अच्छे नागरिक के गुण आ गए होंगे।

3) (क) 1924 (ख) 1979 (ग) 7 अप्रैल, 1948

बोध प्रश्न 3
1) राष्ट्रीय बाल नीति का मूल उद्देश्य क्या है? लगभक तीन पंक्तियों में उत्तर दीजिए।
2) राष्ट्रीय बाल नीति के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए क्या उपाय किए हैं? लगभग दस पंक्तियों में उत्तर दीजिए।
3) उन देशों के नाम बताइए जहाँ बालिका वर्ष मनाया गया। लगभग तीन पंक्तियों में उत्तर दीजिए।

बोध प्रश्नों के उत्तर

बोध प्रश्न 3
1) राष्ट्रीय बाल नीति का मुख्य उद्देश्य बच्चों के जन्म से पूर्व तथा जन्म के पश्चात् उनके विकास काल में, उनको शारीरिक, मानसिक तथा सामाजिक विकास प्रदान करना है।
2) राष्ट्रीय बाल नीति के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए जो उपाय अपनाए गए हैं,उनमें शामिल हैं- समेकित स्वास्थ्य कार्यक्रम, पोषण कार्यक्रम, पोषण शिक्षा, औपचारिक शिक्षा, अनौपचारिक शिक्षा, स्कूल, सामुदायिक केंद्रों में खेल-क्रीड़ा, सांस्कृतिक तथा वैज्ञानिक कार्यकलापों की सुविधाएँ, अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों के बच्चों के लिए विशेष सहायता तथा शारीरिक रूप से विकलांग, संवेगात्मक रूप से विक्षुब्ध अथवा मानसिक रूप से मंद बच्चों के इलाज, शिक्षा, पुनर्वास तथा देखभाल के लिए विशेष कार्यक्रम।
3) जिन 7 सार्क देशों ने 1990 को बालिका वर्ष के रूप में मनाया, वे हैं- बंगलादेश, भूटान, भारत, मालद्वीप, नेपाल, पाकिस्तान तथा श्रीलंका।