नेटवर्किंग क्या है | नेटवर्किंग की परिभाषा किसे कहते है ? के प्रकार Networking in hindi computer

By  

Networking in hindi computer types , power नेटवर्किंग क्या है | नेटवर्किंग की परिभाषा किसे कहते है ? के प्रकार लाभ बताइए ?

इसका परिणाम ब्राउजर पर इस प्रकार से दिखाई देता है
नेटवर्किंग
नेटवर्किंग द्वारा एक से अधिक कंप्यूटरों को जोड़कर हार्डवेयर और डाटा को साझा किया जाता है। नेटवर्किंग दो प्रकार की होती है जिन्हें लोकल एरिया नेटवर्किंग ;Local Area Networking) और वाइड एरिया नेटवर्किंग ;Wild Area Networking) कहते हैं। Window XP द्वारा एलएन करना बहुत आसान है आइए Window XP में नेटवर्किंग के बारे में जानकारी प्राप्त करें। यदि कंप्यूटर में Window XP इंस्टॉल किया गया है तो कंप्यूटर ऑन करके Window XP लोड होने पर लॉगिन का मेन्यू आ जाता है। इसमें मेन्यू में Password देकर आफ नेटवर्किंग प्रयोग कर सकते हैं। यदि किसी अन्य व्यक्ति को नेटवर्किंग प्रयोग करना है तो इसके लिए स्टार्ट मेन्यू में उपलब्ध  Log of~ कमांड का प्रयोग करना होगा अब इसे कोई भी व्यक्ति प्रयोग कर सकता है
ड्राइव लेटर निर्धारित करना
नेटवर्किंग के लिए यदि आप ड्राइवर लेटर निर्धारित करते हैं तो निम्न स्टेप ले
1. डेक्सटॉप में Start बटन पर क्लिक करके माउस प्वाइंटर को Programs ग्रुप पर ले जाए।
2. अब माउस प्वाइंटर को Accesories ग्रुप पर ले जाकर Window Explorer पर क्लिक करें। परिणाम Window Explorer का डायलॉग बॉक्स स्क्रीन पर आ जाएगा।
3. Window Explorer के Tool मेन्यू में मैप नेटवर्क ड्राइव का प्रयोग करके ड्राइव लेटर बदल ले।
नेटवर्किंग पासवर्ड कैसे बदले
यदि आप अपने नेटवर्क का पासवर्ड बदलना चाहते हैं तो निम्न स्टेप ले
1. Window XP के डेक्सटॉप पर जाकर स्टार्ट बटन पर क्लिक करें।
2. माउस प्वाइंटर को कंट्रोल पैनल विकल्प पर ले जाए।
3. User Account विकल्प पर क्लिक करने पर निम्न बॉक्स दिखाई देगा।
4. अब Change in account विकल्प पर क्लिक करने पर विभिन्न नाम दिखाई देते हैं।
5. User Account विकल्प पर क्लिक करने पर निम्न वॉक दिखाई देगा।
6. अब Change in account विकल्प पर क्लिक करने पर विभिन्न नाम दिखाई देते हैं।
7. आप जिस अकाउंट का पासवर्ड बदलना चाहते हैं, उस पर क्लिक करने पर अगले पेज के अनुसार स्क्रीन दिखाई देती है।
अब Change your psaword विकल्प पर क्लिक करके अपना करंट पासवर्ड तथा नया पासवर्ड टाइप करें उसके बाद Change psaword बटन पर क्लिक करने पर पासवर्ड बदल जाता है। नेटवर्किंग में कंप्यूटर कैसे ढूंढे
यदि आप कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े सैकड़ों कंप्यूटर्स में से किसी कंप्यूटर को ढूंढना चाहते हैं तो उसके लिए निम्न स्टेप लें
1. Window XP के डेक्सटॉप पर जाकर Start बटन पर क्लिक करें।
2. माउस प्वाइंटर से Search विकल्प को क्लिक करें।
3. अब माउस प्वाइंटर से All Files एंड Folders को क्लिक करने पर निम्न डायलॉग बॉक्स स्क्रीन पर आ जाता है
4. उस कंप्यूटर का नाम टाइप करें जिसे आप ढूंढना चाहते हैं।
5. Search Now बटन दबाने से नेटवर्क में उपलब्ध कंप्यूटर की स्थिति दिखाई देने लगती है।

शेयर फोल्डर बनाना
शेयर फोल्डर का अर्थ उस फोल्डर से है जिससे नेटवर्क से जुड़े किसी भी कंप्यूटर द्वारा प्रयोग किया जा सके। यदि आप अपने किसी फोल्डर को शेयर फोल्डर बनाना चाहते हैं तो निम्न स्टेप लें
1. Window XP के डेक्सटॉप पर जाकर Start बटन पर क्लिक करके माउस प्वाइंटर को प्रोग्राम से  Accesories में ले जाए।
2. Window XP विकल्प पर क्लिक करें।
3. अब जिस फोल्डर को शेयर फोल्डर बनाना चाहते हैं, माउस द्वारा उसे चुने।
4. File मेन्यू पर क्लिक करें।
5. Properties विकल्प पर क्लिक करें।
6. एट्रीब्यूट विकल्पों में से अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प चुनें।
7. Apply बटन पर क्लिक करने पर कंफर्म एट्रीब्यूट चेंज का बॉक्स स्क्रीन पर आ जाता है।
8.. OK बटन पर क्लिक करने पर फिर Properties के डायलॉग बॉक्स आ जाते है।
9. OK बटन पर क्लिक करने पर चुना गया फोल्डर फोल्डर बन जाता है।
दूसरे कंप्यूटर का शेयर फोल्डर खोलना
1. नेटवर्क से जुड़े किसी भी अन्य कंप्यूटर के शेयर फोल्डर खोलने और प्रयोग करने की विधि इस प्रकार है Window XP के डेक्सटॉप में जाकर Network Moorhead पर क्लिक करके इस फोल्डर को खोले।
2. अब इसमें उपलब्ध शेयर होल्डर्स में से उस फोल्डर को चुनें जिसे खोलना चाहते हैं।
3. माउस द्वारा डबल क्लिक करने पर वह फोल्डर आपके कम्प्यूटर में आकर खुल जाएगा।
इंटरनेट का परिचय
इंटरनेट एक विश्वव्यापी नेटवर्क हैं। यह टेलीफोन लाइनों और सेटेलाइट के माध्यम से विभिन्न स्थानों और देशों के कंप्यूटरों को जोड़कर बनाया गया नेटवर्क है
दो या दो से अधिक कंप्यूटर्स को आपस में जोड़ता हैं।
सूचनाओं के आदान-प्रदान और data share करने की सुविधा देता है , नेटवर्क किसी भी अन्य नेटवर्क किया व्यक्तिगत कंप्यूटर से सूचनाओं के परस्पर आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान करता है इसके माध्यम से आप डाटा या फाइल ट्रांसफर कर सकते हैं, ऐसा करने के लिए इंटरनेट से जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर में एक निश्चित लैंग्वेज प्रयोग करनी पड़ती हैं। इंटरनेट पर किसी भी देश कंपनी या व्यक्ति का अधिकार नहीं है अतः यदि इंटरनेट से आपको कोई क्षति पहुंचती है तो आप कहीं पर भी शिकायत नहीं कर सकते हैं। इस कारण एक एंटीवायरस सॉफ्टवेयर लेना और भी आवश्यक हो जाता है इंटरनेट का लाभ यह है कि आपको हर विषय पर जानकारियां मिल जाएगी, यह भक्ति सूचनाओं या जानकारियों की जांच करना असंभव है कि वह कितनी सही हैं।
इंटरनेट पर क्या-क्या कार्य कर सकते हैं
इंटरनेट पर आप विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकते हैं जिनमें से कुछ निम्नलिखित है
ई-मेल भेज और प्राप्त कर सकते हैं।
विभिन्न वेबसाइट देख सकते हैं।
गेम खेल सकते हैं।
अपने मनपसंद व्यक्तियों से बात कर सकते हैं।
किसी भी विषय पर सूचनाएं प्राप्त कर सकते हैं।
खरीदारी कर सकते हैं नौकरी के लिए अपना बायोडाटा भेज सकते हैं।
अपनी वेबसाइट बना सकते हैं प्रोग्राम्स को डाउनलोड कर सकते हैं अपनी कंपनी का विज्ञापन दे सकते हैं यह सूची अभी पूरे नहीं है यह तो मात्र वह कुछ सामान एक कार है जो आज सभी लोग करते हैं इनके इनके अतिरिक्त और भी कुछ से कार्य इंटरनेट द्वारा होते हैं और भविष्य में इस सूची में बढ़ोतरी होना निश्चित है

इंटरनेट की शुरुआत
1960 के दशक में अमेरिका के रक्षा विभाग एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी द्वारा इंटरनेट विकसित किया गया था । यह उन दिनों की बात है जब तत्कालीन USR :  union of soviet socialist republic और USA में शीत युद्ध चल रहा था उस समय अमेरिका को संदेश भेजने के किसी किसी ऐसे माध्यम की जरूरत पड़ी, जो bombprofo हो ताकि USR द्वारा हमले की स्थिति आर्मी नेवी और एयरफोर्स के बीच तालमेल बना रहा हैं। वह माध्यम electronic text आधारित इंटरनेट पर सर्च किया था ,कि संदेश अपने गंतव्य स्थान पर पहुंचे जरूर भले ही उसमें कितना भी समय लगे। इस कारण इंटरनेट एक विशेष वातावरण में बना जहां स्वतंत्रा पर जोर दिया गया information की सुरक्षा पर नहीं क्योंकि तब यह माध्यम सिर्फ सेना के लिए ही उपयोगी था। धीरे-धीरे इंटरनेट की लोकप्रियता बढ़ी सेना के बाद अमेरिका के शिक्षा संस्थान ने स्वयं को इसी इलेक्ट्रॉनिक्स टैक्सबेस माध्यम से जोड़ लिया ताकि विद्यार्थियों ने जगह किए जा रहे प्रयोगों का अनुभव और लाभ अपने स्थान पर ही उठा सकेंं। इसके बाद बड़ी-बड़ी कंपनियों ने स्वयं को जोड़ा और आज का इंटरनेट आपके सामने हैं, जहां दुनिया का प्रत्येक कोना आप दूसरे कोने से इंटरनेट के माध्यम से जुड़ा हुआ हैं।