जलमण्डल (hydrosphere meaning in hindi) | जलमंडल के बारे में जानकारी और महत्व in english

By   June 13, 2020

जलमण्डल (hydrosphere meaning in hindi) जलमंडल के बारे में जानकारी और महत्व in english :

जलमण्डल : ग्रह का अत्यधिक बहुमूल्य खनिज पानी/जल को माना जाता है। जल पृथ्वी के लगभग 73 प्रतिशत हिस्से को घेरता है और जल वायुमंडल का मुख्य घटक होता है। जल जीवद्रव्य का अत्यधिक उच्च बहुमूल्य घटक भी माना जाता है तथा इसलिए ही जल सभी जीवो के लिए आवश्यक प्रमुख अकार्बनिक खाद्य है। जिव के उपापचय में जल ही हाइड्रोजन का प्रमुख और ऑक्सीजन का एक स्रोत होता है। पानी वातावरण में एक नियंत्रित चक्र प्रदर्शित करता है , जहाँ पर सूर्य की ऊर्जा के कारण जल का वाष्पीकरण हो जाता है। यह जल वाष्प ही अधिक ऊंचाई पर पहुँच कर बादलो का निर्माण करते है। और ये बादल ठन्डे होकर निचे पृथ्वी पर गिरते है अर्थात यह जल वर्षा अथवा बर्फ के रूप में वापस जल बनकर पृथ्वी पर आ जाते है। उपापचय के लिए जलचर (जलीय जीव) जलीय वातावरण से सीधे ही जल ग्रहण करते है जबकि थलचर और वायुचर जलाशयों , नदियों और समुद्रो से जल ग्रहण करते है। थलीय जीव पृथ्वी के जल चक्र को अति प्रभावित करते है। जल सजीवों का प्रमुख भोज्य है। तथा वायुमंडल में अपनी मात्रा को कम अथवा अधिक करके सजीवो को प्रभावित करता है। यह जलमण्डल ताप , आद्रता , वर्षा की मात्रा , हवाओ , धाराओ और तरंगों के रूप में जीवधारियों के उपापचयो को प्रभावित करता है।  जल स्तर तापक्रम के प्रभाव से ऊपर नीचे होकर सम्पूर्ण जल भण्डार में विभिन्न पदार्थो के समान वितरण में सहायक है। जल की अधिकतम गुप ऊष्माओं के कारण इसमें तापमान ऊर्जा बहुत अधिक मात्रा में संग्रहित होती है। ध्रुवीय बर्फ के पिघलते रहने से जल का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है तथा समुद्री किनारे लगातार डूबते जा रहे है अर्थात पानी का स्तर और क्षेत्र विस्तार हो रहा है। जिसके कारण रेगिस्तान बढ़ते जा रहे है एवं पृथ्वी भी अधिक गर्म होती जा रही है। उपरोक्त जलमण्डलीय चक्रीय परिवर्तन जन्तुओ के उपापचयो के लिए अत्यधिक प्रभावी है।

# जलमंडल से संबंधित प्रश्न उत्तर (hydrosphere related questions and answers in hindi language) तथा पृथ्वी पर कितना पानी है व कुल जल का कितना प्रतिशत भाग महासागरों में निहित है ?