Geology

अवसादी शैलो का रासायनिक संघटन Chemical composition of sedimentary genres

Chemical composition of sedimentary genres अवसादी शैलो का रासायनिक संघटन : अवसादी शैलो का रासायनिक संघटन अत्यधिक परिवर्तनशील होने के कारण उनकी उत्पत्ति में निहित है।  इसी कारण ये आग्नेय शैलो से अलग है।  उदाहरण के लिए – सेंडस्टोन में 99% सिलिका होता है।  bended आयरन फोरमेसन में आयरन ऑक्साइड 58% से भी अधिक होता है।  pure चुना पत्थर में 55% तक CaO होता है।  ये सब वेदरिंग साइकिल के कारण होता है।

अवसादी शैलो का खनिजात्मक संघटन

अवसादी शैलो में दो प्रकार के खनिज पाए है।  एक प्रकार के खनिज मूल शैलो में अपक्षय से प्राप्त परिवहन के बाद निक्षेपण स्थान तक आते है और अवसादी शैल में पाए जाते है।  बलकृत रूप से प्राप्त इस प्रकार के खनिजों को अपरदी खनिज (Detrital mineral ) या अन्यत्रजात खनिज (Allogenic mineral ) कहते है।  इसके विपरीत निक्षेपण स्थान पर ही रासायनिक अवक्षेपण या जैविक विधियों से उत्पन्न खनिज को त्व्रजात खनिज (Authigenic mineral ) कहते है।

अन्यत्र जात मिनरल : क्वार्ट्ज़ , जरकॉन , इल्मेनाइट , मैग्नेटाइट , फेल्सपार इत्यादि।

तत्रजात खनिज : हेनाइट , सिल्वाइट , कैल्साइट , पायराइट इत्यादि।

कुछ प्रमुख अवसादी शैलो का वितरण –

1. संगुटीकाश्म (Conglomerate) :

Nature : consolidated gravels

colour : variable

Mineral composition : गोलीय गुटिकायें सुविकसित मेट्रिक्स रूप में स्थित होती है।

इस मेट्रिक्स में बालू अथवा गोंद होती है जो सिलिका , केल्सियम कार्बोनेट अथवा आयरन ऑक्साइड से जमी रहती है।  विषम विन्यास गुटिका में पूर्णत: क्वार्टज़ पाया जाता है।

texture : Very coarse grained

varieties : यदि किसी रोक के फ्रेगमेंट कोणीय या उपकणीय हो तो इसे “breccia” कहते है।

breccia में rock फ्रेगमेंट की कणीयता यह बताती है की यह मेटेरियल अपने स्रोत से अधिक दूर तक परिविहित नहीं हुआ है।

2. sand stone (बालुकाश्म)

Nature : arenaceous

colour : मेटेरियल के आधार पर परिवर्तनशील।  यदि rock में सिलिका अथवा केल्शाईट , आयरन ऑक्साइड , मृत्तिका (clay) अथवा क्लोराइड भी हो सकते है।

texture : बालुकाश्म में बालू कण पूर्णत: सुवर्गित , उपकोणीय से गोलीय होते है।  बालुकाश्म का गठन है – मोटी बालू – 2 से 0.5 mm मध्यम बालू 0.5-0.25 mm और महीन बालू – 0.25 से 0.1 mm

structure : बालुकाश्म में मुख्यत: परतदार अवसाद शैल , धारा संस्तरण , तरंग चिन्ह और वर्षा बिन्दु देख सकते है।

Varieties :

  • Orthoquartzite : वे सफ़ेद सिलिकामय बालुकाश्म जिनमे अधिकतम गुटिकाए सुविकसित quartz हो , ओर्थोक्वार्ट्ज कहलाते है।
  • grit : इसमें तीखे कोणीय कण होते है।
  • Arkose : एक मोटी गुटिका वाला बालुकाश्म जो notable मात्रा में फेल्सपार रखता है , Arkose होता है।
  • Graywackes : यह एक ग्रे कलर rock है जो क्वार्ट्ज के बहुत कम विकसित कोणीय फ्रेग्मेंट और बेसिक आग्नेय शैल रखती है और महीन गुटिका क्लोराइड एवं मृत्तिका पदार्थ रखती है।  Graywakes 30% से अधिक महीन गुटिका क्ले अथवा क्लोराइट अथवा दोनों रखता है। इससे भी महीन गुटिकामय graywakes shales में होते है।

3. shale : scratched by a knife

Nature : argillaceous

colour : variable

Mineral composition : shale मुख्यत: क्ले खनिज रखता है जैसे : kaolinite , montmorillonite and illite . बहुत कम मात्रा में पाए जाने वाले खनिज quartz , mica और clorite .

texture : बहुत महीन गुतिकाएं (size 0.01 mm से कम )

structure : Lamination , ripple marks और कुछ organic structure

Varieties :

  •  calarious shale : CaCO3 की पर्याप्त मात्रा हो।
  • Ferruginous shale : Fe2O3/FeO की पर्याप्त मात्रा उपस्थित हो।
  • Carbonaceous shale : Carbonaceous matter की पर्याप्त मात्रा।
  • siltstone : silt grain size 0.01 mm से 0.1 mm
  • mudstone : structureless rock containing compact mud .

4. Limestone (चूना पत्थर) 

Nature : Calcarious rock of ten contains fossils .

colour : white , grey अथवा cream .

Mineral composition : इसमें CaO व CO2 की मात्रा सर्वाधिक होती है।  कुछ चूना पत्थरो का 95% भाग CaO व CO2 ही होता है।  कुछ मात्रा में फास्फोरस , लौह ऑक्साइड , लौह सल्फाइड पाया जाता है।

चूना पत्थर के प्रमुख खनिज कैल्साईट , एरागोनाईट एवं डोलोमाईट , कैल्सिडोनी , मृत्तिका , पायराईट इत्यादि।

Texture : चूना पत्थर एक महीन गुटिकामय रॉक है।

oolitic and organic structure रखते है।

Variaties :

  • chalk : Foraminiferal shells रखते है।
  • oolitic limestone : Reunded grains resembling fish roe . CaCO3 layers
  • marl : Impure limestone जिसमे क्ले और कैल्सियम कार्बोनेट प्रतिशत समान हो।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close