बुकमार्क किसे कहते हैं हिंदी में बताएं bookmark in hindi meaning definition बुक मार्क की परिभाषा क्या हैं ?

By  

bookmark in hindi meaning definition बुक मार्क की परिभाषा क्या हैं ? बुकमार्क किसे कहते हैं हिंदी में बताएं ?

 बुकमार्क – इसका प्रयोग डाक्यूमेन्ट में स्थित लोकेशन/ स्थान अथवा टैक्स्ट सिलेक्शन को एक नाम द्वारा पहचान देने के लिए किया जाता है। जिसे भविष्य में री-वाइज (Revise) किया जा सके।
बुकमार्क में क्रास रेफरेंस भी जोड़ा जा सकता है।

 माइक्रोसॉफ्ट वर्ड एडवांस्ड
1. होम पेज पर स्थित स्टाइल समूह, टेक्स्चुअल कंटेंट के फॉण्ट स्टाइल पर कार्य करते है।
2. स्टाइल समूह – इसके उपयोग द्वारा फारमेटिंग विकल्पों को पूरे डॉक्यूमेन्ट में एक साथ समान रूप से लागू कर सकते है।
3. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड की इन्सर्ट टैब पर उपस्थित समूह – पेज, टेबल्स, लिंक्स इलस्ट्रेशनख हैडर, फुटर, टेक्स्ट, सिम्बल्स, फ्लैश।
4. इलस्ट्रेशन ग्रुप में उपलब्ध विकल्प-पिक्चर, क्लिप आर्ट, शेप्स, स्मार्ट आर्ट, चार्ट, स्क्रीनशॉट ।
5. पिक्चर-फाइल अथवा डाक्यूमेन्ट में पिक्चर इन्सर्ट करने के लिए।
6. क्लिप आर्ट – डाक्यूमेन्ट में ड्राईंग, विडियो, ऑडियो सम्मिलित कर सकते है।
7. Shapes लाइब्रेरी में बनी Shapes को इन्सर्ट कर सकते है।
8. स्मार्ट आर्ट – यह ग्राफिक्स की सूचनाओं को विजुअली प्रदर्शित करने हेतु काम आता है।
9. स्क्रीन शॉट – इसके माध्यम से किसी भी प्रोग्राम की फोटो इन्सर्ट कर सकते है।
10. सेल – इन्सर्ट टेबल के हर बॉक्स को सेल कहते है।
11. टेबल ग्रुप – इसकी सहायता से डॉक्यूमेन्ट में टेबल को इन्सर्ट कर सकते है।
12. टेबल ग्रुप में उपलब्ध विकल्प – इन्सर्ट टैबल, ड्रा टेबल, कन्वर्ट टैबल टू टेक्स्ट, एक्सेल स्प्रेडशीट, फनपबा Tables आदि।
13. इन्सर्ट टैबल – इसकी सहायता से रो (Row) और कॉलम (Coloumn) का चयन कर टैबल इन्सर्ट कर सकते है।
14. स्मार्ट आर्ट ग्राफिक्स – इनके उपयोग से यूजर अपने विचार और योजनाओं को अनेक प्रकार से व्यवस्थित कर प्रदर्शित कर सकता है।
15. फ्लोचार्ट – यह किसी भी योजना की प्रक्रिया (Process) या अल्गोरिथम को प्रदर्शित करने का साधन है। इसकी मदद से प्रोसेस में शामिल स्टेप्स को सभी सम्मिलित व्यक्तियों तक पहुंचा सकते है, साथ ही आभासी और व्यर्थ के स्टेप्स को हटा भी सकते है।
16. कैनवास उपयोग करने के फायदे -कैनवास शेप के लिए कंटेनर का कार्य करता है, जिससे फ्लोचार्ट को डाक्यूमेंट में स्थापित या पुनः स्थापित किया जा सकता है।
17. पिक्चर इन्सर्ट करना – इन्सर्ट टैब पर स्थित पिक्चर विकल्प की सहायता से आनलाईन इमेज या पहले से सेव इमेज को इन्सर्ट किया जा सकता है।
18. चार्ट्स – यह किसी भी सूचना को कुशल व संक्षिप्त तरीके से दर्शाने का प्रभावी तरीका है। इसका प्रयोग प्रेसेन्टेशन, लेक्चर और ट्यूटोरियल आदि में होता है।
19. हैडर और फुटर – इसका प्रयोग उन आब्जेक्ट्स या टेक्स्ट को प्रविष्ट करने के लिए किया जाता है, जिन्हें डाक्यूमेन्ट में हर पृष्ठ पर दोहराया जाना हो।

22. हाइपरलिंक – इसका उपयोग डाक्यूमेंट में किसी वेब पेज, बाहरी डाक्यूमेन्ट या आन्तरिक हाइपरलिंक जो जोड़ने में कर सकते है।
23. हाइपरलिंक के भाग – वेब पेज का पता, ईमेल का पता या अन्य लिंक।
24. हाइपरलिंक को देखने के लिए ब्जतस ज्ञमल को दबाये हुए हाइपरलिंक पर क्लिक करे।
25. ष्प्लेस इन द डाक्येन्ट” – यह इन्सर्ट हाइपरलिंक विकल्प में होता है, जिसकी सहायता से डायलाग बॉक्स से हैडिंग, बुकमार्क का चुनाव कर सकते है।
26. ष्टेक्स्ट टू डिस्प्ले”- यह इन्सर्ट हाइपरलिंक के विकल्प में होता है जिसमें वह टैक्स्ट लिखे, जिस पर हाइपरलिंक दर्शाना होता है।
27. पेज नम्बर जोड़ना – इन्सर्ट टैब के हैडर फुटर ग्रुप से डाक्यूमेन्ट में पेज नम्बर इन्सर्ट कर सकते है।
28. पेज ब्रेक – इस विकल्प से मेन्युअली पेज ब्रेक कर सकते है।
29. सेक्शन ब्रेक – इसका प्रयोग डॉक्यूमेन्ट को सेक्शन में विभाजित करने, सेक्शन क्रिएट करने में किया जाता है। हर एक सैक्शन की विशेष फार्मेटिंग हो सकती है।
30. नेक्स्ट पेज सेक्शन ब्रेक – यह नये पेज से सेक्शन बेक शुरू होता है, जब आप डॉक्यूमेंन्ट में नये चैप्टर को शुरू करते है।
31. Continious Section Break डॉक्यूमेन्ट के एक पेज पर ही नया सेक्शन शुरू करने के लिए प्रयोग किया जाता है।
32. इवन एण्ड ऑड पेज सेक्शन ब्रेक – यह उन डॉक्यूमेन्ट्स में इन्सर्ट होता है जहां से अगला (Next) पेज सम या विषम संख्या से आरम्भ होता है।
33. कनेक्टर – यह एक रेखा है जिसके दोनों किनारों पर कनेक्शन पाइंट होते है जो शेप – (Shape) को एक – दूसरे से कनेक्ट रखते है।
34. कनेक्टर के प्रकार – स्ट्रेट, एल्बो, कवर्ड (Curved)।
35. मेल मर्ज – यह एक माध्यम है जिसके द्वारा एक ही लैटर या मेल को एक साथ अलग-अलग लोगों को पर्सनलाइज तरीके से भेजा जा सकता है।
36. मेल मर्ज का उपयोग – इसकी सहायता से कैटलॉग या डायरेक्टरी बनाई जा सकती है, म्दअमसवच तैयार कर सकते है, मैलिंग लेबल का सेट तेयार करना, ई-मेल मैसेज के सेट – तैयार कर सकते है।
37. ट्रैक चेंज फीचर – इसका उपयोग डॉक्यूमेन्ट में होने वाले करेक्शन्स का निरीक्षण करने के लिए किया जाता है। इससे मुख्यत: Errors की पहचान की जाती है।

महत्वपूर्ण प्रश्न
1. माइक्रोसॉफ्ट डोक्यूमेंट मे पेज, टेबल, हैडर एवं फूटर, टेक्स्ट इन्सर्ट कर सकते हैं-
(अ) होम टैब से (ब) इन्सर्ट टैब से (स) पेज ले आउट टैब से (द) उपरोक्त सभी
2. माइक्रोसॉफ्ट डोक्यूमेंट मे पिक्चर,क्लिप आर्ट,शेप्स, स्मार्ट आर्ट, चार्ट इन्सर्ट कर सकते हैं-
(अ) इलेस्ट्रेशन ग्रुप से (ब) स्टाइल ग्रुप से (स) टेक्स्ट ग्रुप से (द) उपरोक्त सभी
3. माइक्रोसॉफ्ट डोक्यूमेंट मे ड्राइंग, विडियो,  Audio इन्सर्ट कर सकते हैं –
(अ) क्लिप आर्ट से (ब) स्मार्ट आर्ट से (स) टेक्स्ट ग्रुप से (द) उपरोक्त सभी
4. किसी भी योजना का प्रोसैस या अल्गोरिथम प्रदर्शित करने का साधन हैं –
(अ) क्लिप आर्ट (ब) स्मार्ट आर्ट (स) फ्लो चार्ट (द) उपरोक्त सभी
5. चार्टस का उपयोग होता हैं-
(अ) प्रेजेंटेशन मे (ब) लैक्चर मे (स) ट्यूटोरियल मे (द) उपरोक्त सभी
6. ट्रैक चेंज फीचर का उपयोग होता हैं – सराणसी
(अ) Error की पहचान करने मे (ब) मेल मर्ज करने मे
(स) ट्रैक चेंज करने मे (द) उपरोक्त सभी
7. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में थिसॉरस (Thesaurus) टूल किस काम आता है:
(अ) स्पेल्लिंग के सुझाव के लिए कामलव (ब) ग्रामर के विकल्प हेतु
(स) पर्यायवाची और विलोम शब्द हेतु HLN (द) उपरोक्त में से कोई नहीं
8. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड 2010 में रिबन पर किन चीजों को क्रमवार जोडने पर बनता है –
(अ) गेट्स (ब) विंडोज एक (स) टैब (द) डोर्स
9. एक डॉक्यूमेंट में हैडर व फूटर को जोड़ने का मूल मकसद क्या है –
(अ) डॉक्यूमेंट का प्रदर्शन सुधारने हेतु KSK (ब) पेज के शुरूआत व अंत को मार्क करने हेतु
(स) बड़े डॉक्यूमेंट को आसानी से पढ़ते योछ बनाने हेतु
(द) डॉक्यूमेंट पर पेज हैडर व फूटर प्रिंट करने हेतु
10. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड 2010 में वह कौनसा फीचर है जिसके द्वारा डॉक्यूमेंट में हो रहे बदलाव को मोनीटर किया जाता है –
(अ) एडिट डॉक्यूमेंट (ब) मॉनिटर चेंज (स) ट्रैक चेंज (द) ट्रैक आल
11. निम्न में से कौनसी सपदम spacing वैद्य नहीं है –
(अ) सिंगल (ब) डबल (स) ट्रिपल (द) मल्टीप्ल
12. सुपर स्क्रिप्ट, सब-स्क्रिप्ट, आउट लाइन, एम्बॉस और एन्ग्रावे किस कारण जाने जाते हैं –
(अ) फॉण्ट स्टाइल (ब) पैराग्राफ इफेक्ट (स) फॉण्ट इफेक्ट (द) वर्ड आर्ट
13. निम्न में से कौनसा एक वैद्य पेज मार्जिन नहीं है –
(अ) लेफ्ट (ब) राईट (स) सेण्टर (द) टॉप
14. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड 2010 में सिम्बल डायलाग बॉक्स प्राप्त करने के लिए …..पर क्लिक करे तथा सिम्बल का चयन करें –
(अ) इन्सर्ट (ब) फॉर्मेट (स) टूल्स (द) टेबल
15. निम्न में से क्या एक ही लेटर को अलग-अलग लोगों को भेजने में सहायता करता है –
(अ) मैक्रो (ब) टेम्पलेट (स) मेलमर्ज (द) कोई भी नहीं
16. एक हाइपरलिंक को रेगुलर टेक्स्ट में कन्वर्ट करने हेतु:
(अ) एडिट हाइपरलिंक (ब) सेलेक्ट हाइपरलिंक
(स) कन्वर्ट हाइपरलिंक (द) रिमूव हाइपरलिंक