Monthly Archives: February 2019

लिगेण्ड की परिभाषा क्या है , लिगेंड के प्रकार (ligands in hindi in chemistry)

(ligands in hindi in chemistry) लिगेण्ड की परिभाषा क्या है , लिगेंड के प्रकार : लिगैण्ड एक प्रकार का आयन या अणु होता है जो केंद्र धातु परमाणु से जुड़कर उपसहसंयोजन सत्ता या जटिल का निर्माण करता है। लिगेंड को परमाणु या परमाणु का समूह कहा जाता है जिसकी इलेक्ट्रॉन त्यागने की प्रवृति होती है… Continue reading »

संकुल यौगिक या उपसहसंयोजक यौगिक क्या है (coordination compounds in hindi) , लिगेण्ड

(coordination compounds in hindi) संकुल यौगिक या उपसहसंयोजक यौगिक क्या है : इस यौगिक का निर्माण तब होता है जब दो समान ऋण आयन युक्त दो सामान्य लवणों को आपस में मिश्रित कर शुष्क होने तक वाष्पित किया जाता है। संकुल यौगिक या उपसहसंयोजक यौगिक बनाने का उदाहरण निम्न है – एक बीकर में पोटेशियम… Continue reading »

C++ : SCOPE in hindi , what is scope in c++ language

what is scope in c++ language , C++ : SCOPE in hindi :- इससे पहले के article मे function के type , structure , default parameter और return statement को discuss किया गया है | function के आधार variable को दो भागो मे divind किया गया है | C++ language मे  किसी variable को दो… Continue reading »

C++ : CALL BY REFERENCE

what is C++ : CALL BY REFERENCE :- इससे पहले के article मे function type ,function structure और function parameter को discuss किया है इस article मे recursion function को  discuss करेगे | Recursion Function जब किसी function को खुद को कल करता है तब इस function को recursion function कहते है  | एक function… Continue reading »

C++ : CALL BY REFERENCE ( EXAMPLE)

examples of C++ : CALL BY REFERENCE ( EXAMPLE) :- इससे पहले के article मे  function के type , strurcture और call by reference को discuss किया था | अब इस article मे function के उदाहरन को discuss करेग जिसमे call by reference को use किया जाता है | उदाहरन -1 इस उदाहरन मे ,… Continue reading »

द्विक लवण किसे कहते है , द्विक लवण की परिभाषा क्या है , (double salt in hindi)

(double salt in hindi) द्विक लवण किसे कहते है , द्विक लवण की परिभाषा क्या है : लवण अलग अलग प्रकार के हो सकते है।  क्रिस्टल का आकार तथा क्रिस्टल की संरचना लवण के रंग , गुण , स्वाद , पारदर्शिता आदि को प्रभावित करता है। द्विक लवण दो अलग अलग सामान्य क्रिस्टलीय लवणों का… Continue reading »

वर्नर का सिद्धांत : उपसहसंयोजक यौगिकों का वर्नर सिद्धांत (werner’s theory of coordination compounds in hindi)

(werner’s theory of coordination compounds in hindi) वर्नर का सिद्धांत : उपसहसंयोजक यौगिकों का वर्नर सिद्धांत : सन 1823 में स्विस के महान बैज्ञानिक अल्फ्रेड वर्नर ने जटिल यौगिकों या उपसहसंयोजन यौगिक की संरचना और इन यौगिकों के गठन को समझाने के लिए बहुत अध्ययन करने के बाद अपने विचार रखे जिसे हम वर्नर का… Continue reading »

C++ : Default Parameter or Function Overloading in hindi , what is Default Parameter or Function Overloading c++ language

what is Default Parameter or Function Overloading c++ language , C++ : Default Parameter or Function Overloading in hindi :- इससे पहले के article मे , function के basic structure , function के type और function के उदाहरानो को discuss किया | अब इस article मे function  overloading को discuss करेगे |Function Overloading जब किसी… Continue reading »

C++ : Math.h class ( Part -3 ) in hindi , exp() , log10() , ceil()

इससे पहले के article मे math.h header file के trigonometric , hyperbolic trigomatric , pow ,square और cube function को discuss किया था | अब इस article मे math.h class के बाकि functions को discuss करेगे | exp() exp() function का use exponation value को calcualate करने के लिए किया जाता है | function exp()… Continue reading »

C++ : User Define Function Example ( Part -2 ) in hindi , program examples of User Define Function in c++ language

इससे पहले के article मे , function के कुछ उदाहरानो को discuss किया था | एब function से based कुछ advance उदाहरनो  को discuss करेगे | इन उदाह्रानो को पहले खुद try करे और बाद मे इसके solution को देखे | जिससे आप सभी के c++ language के syntax और concept अच्छी तरह से समज… Continue reading »