Monthly Archives: October 2018

प्रत्यास्थता गुणांक : यंग , आयतन , दृढ़ता प्रत्यास्थता गुणांक , प्रकार , विमा , मात्रक क्या है , सूत्र उदाहरण

(modulus of elasticity in hindi) प्रत्यास्थता गुणांक : यंग , आयतन , दृढ़ता प्रत्यास्थता गुणांक , प्रकार , विमा , मात्रक क्या है , सूत्र उदाहरण : हमने हुक का नियम पढ़ा जिसमे हमने पढ़ा कि प्रत्यास्थता सीमा के अन्दर किसी वस्तु पर प्रतिबल का मान उसमे उत्पन्न विकृति के समानुपाती होती है अर्थात प्रतिबल ∝… Continue reading »

हुक का नियम क्या है (Hooke’s law in hindi)

(Hooke’s law in hindi) हुक का नियम क्या है : हुक्स का प्रत्यास्थता का नियम अंग्रेजी वैज्ञानिक रोबर्ट हुक ने सन 1676 में दिया था। उनका यह नियम किसी वस्तु में उत्पन्न छोटे विरूपण से सम्बंधित था , इस नियम के द्वारा उन्होंने प्रतिबल और विकृति में एक सम्बन्ध स्थापित किया। हुक के नियम के… Continue reading »

विकृति क्या है , परिभाषा , उदाहरण , कारण , प्रकार , आयतन , अपरूपण अनुदैर्ध्य विकृति (what is strain in hindi)

(what is strain in hindi) विकृति क्या है , परिभाषा , उदाहरण , कारण , प्रकार , आयतन , अपरूपण अनुदैर्ध्य विकृति : जब किसी वस्तु पर बाह्य बल या विरुपक बल आरोपित किया जाता है तो वस्तु के आकार या आकृति में परिवर्तन हो जाता है या दुसरे शब्दों में कहे तो वस्तु में… Continue reading »

प्रतिबल क्या है , परिभाषा , उदाहरण , सूत्र , मात्रक , प्रकार , अपरूपण प्रतिबल (what is stress in hindi)

(what is stress in hindi) प्रतिबल क्या है , परिभाषा , उदाहरण , सूत्र , मात्रक , प्रकार , अपरूपण प्रतिबल : जब किसी वस्तु पर बाह्य बल (विरुपक बल) लगाया जाता है तो इस बल के कारण वस्तु के आकार या आकृति अथवा दोनों में परिवर्तन हो जाता है। और जैसा हमने प्रत्यास्थता के कारण… Continue reading »

सुघट्यता क्या है , परिभाषा , उदाहरण , पूर्ण सुघट्य वस्तु (plasticity in hindi)

(plasticity in hindi) सुघट्यता क्या है , परिभाषा , उदाहरण , पूर्ण सुघट्य वस्तु : किसी वस्तु का वह गुण जिसके कारण विरुपक बल हटा लेने के बाद भी वस्तु अपनी मूल अवस्था में आने का प्रयास नहीं करती है उसे सुघट्यता कहते है और जो वस्तु यह गुण दर्शाती है उन्हें सुघट्य वस्तुएं कहते… Continue reading »

प्रत्यास्थता क्या है , परिभाषा , उदाहरण , कारण , पूर्ण प्रत्यास्थ वस्तु (elasticity in hindi)

(elasticity in hindi) प्रत्यास्थता क्या है , परिभाषा , उदाहरण , कारण , पूर्ण प्रत्यास्थ वस्तु : हमने पढ़ा कि जब किसी वस्तु पर बाह्य बल आरोपित किया जाता है तो इस बाह्य बल के कारण वस्तु के आकार व आकृति में परिवर्तन आ जाता है और इसे बल को विरुपक बल कहते है  ,… Continue reading »

विरुपक बल क्या है (deforming force in hindi) , परिभाषा , उदाहरण

(deforming force in hindi) विरुपक बल क्या है : जब किसी वस्तु या पिण्ड पर बाह्य बल लगाया जाता है तो उसकी अवस्था या विन्यास में परिवर्तन हो जाता है , यह तभी संभव है जब बाह्य बल लगने पर वस्तु गति न करे लेकिन यह बाह्य बल लगने से वस्तु के अणुओं के विन्यास… Continue reading »

अंतरा परमाण्विक बल (interatomic forces in hindi) , अन्तरा परमाण्विक बल क्या है , परिभाषा

(interatomic forces in hindi)  अंतरा परमाण्विक बल : जैसा की हम जानते है की किसी परमाणु में दो प्रकार के विद्युत आवेश उपस्थित होते है अर्थात नाभिक धनावेशित होता है तथा इलेक्ट्रान जो नाभिक के चारो ओर एक निश्चित कक्षाओं में चक्कर लगाते है उन पर ऋणावेश उपस्थित रहता है , अत: स्वभाविक है कि… Continue reading »

केशनली अथवा केशिकत्व क्या है , परिभाषा , उदाहरण , घटना का कारण (capillarity in hindi)

(capillarity in hindi) केशनली अथवा केशिकत्व क्या है , परिभाषा , उदाहरण , घटना का कारण : केशनली एक अत्यंत सूक्ष्म अनुप्रस्थ क्षेत्रफल वाली नली होती है जिसे जब किसी द्रव में डुबोया जाता है तो केशनली का तल कुछ ऊपर उठ जाता है या निचे गिर जाता है , केशनली में तल का ऊपर… Continue reading »

स्पर्श कोण क्या है , द्रव का स्पर्श रेखा (angle of contact of water in hindi)

(angle of contact of water in hindi) स्पर्श कोण क्या है , द्रव का : जब किसी ठोस पात्र इत्यादि में द्रव को डाला जाता है तो हम देखते है कि द्रव , ठोस की सतह को जहाँ स्पर्श करता है उस स्पर्श बिंदु के पास या कुछ वक्रीय दिखाई देता है अर्थात कुछ मुड़ा… Continue reading »