द्रव अवस्था के चार गुणधर्म लिखिए। write four properties of liquid state

By  
प्रश्न 20 : द्रव अवस्था के चार गुणधर्म लिखिए।

उत्तर : सबसे पहले हम द्रव अवस्था के चार गुणों को पढ़ते है फिर इनको विस्तार से आगे अध्ययन करेंगे –

  1. द्रव का आकार अनिश्चित होता है , अर्थात द्रव को जिस पात्र में भी डाला जाए यह उसी पात्र के आकार को ग्रहण कर लेता है , इसलिए द्रव के आकार को अनिश्चित कहते है।
  2. द्रव का आयतन निश्चित होता है। जैसे यदि 100 मिलीलीटर पानी को लिया जाए और इसे चाहे किसी भी पात्र में डाला जाए यह 100 मिलीलीटर ही रहेगा , अर्थात इसका आयतन पात्र आदि के साथ परिवर्तित नहीं होता है अर्थात इसका आयतन नियत या निश्चित रहता है।
  3. द्रव में संपीड्यता बहुत कम होती है , द्रव में संपीड्यता का मान गैस से कम होता है लेकिन ठोस से अधिक होता है , ठोस में संपीड्यता न के बराबर होती है जबकि गैस में संपीड्यता बहुत अधिक पायी जाती है।
  4. द्रव का घनत्व गैस से अधिक होता है लेकिन ठोस से कम होता है अर्थात द्रव में गैस की तुलना में अवयवी कण पास पास स्थित रहते है लेकिन ठोस की तुलना में दूर दूर कहे जा सकते है।
  5. द्रवों का प्रवाह उच्च स्तर से निम्न स्तर की तरफ होता है।
  6. द्रवों का क्वथनांक , कमरे के ताप से अधिक ताप पर होता है , सामान्य अवस्था में जब द्रवों को धीरे धीरे गर्म किया जाता है तो वे वाष्प अवस्था में बदलने लगते है या अगस अवस्था में बदलने लगते है , इसी प्रक्रिया को क्वथनांक कहा जाता है।
  7. द्रवों में श्यानता का गुण पाया जाता है अर्थात द्रवों में बहने का गुण पाया जाता है , किसी भी द्रव की बहने की समर्थता को श्यानता कहते है , किसी द्रव के गाढ़ेपन या बहने का विरोध करने वाले गुण को श्यानता कहा जाता है , जो पदार्थ आसानी से बह सकता है उसमे श्यानता कम होती है और जो अधिक गाढ़ा होता है और कम बह पाता है उसमें शयानता अधिक होती है उदाहरण के लिए पानी मे श्यानता , वनस्पति तेल की तुलना में कम होती है।

tag in english : write four properties of liquid state ?