निम्नलिखित में से कौन सा रासायनिक परिवर्तन है | रासायनिक परिवर्तन की प्रक्रिया है which is chemical change in hindi

By  

which is chemical change in hindi निम्नलिखित में से कौन सा रासायनिक परिवर्तन है | रासायनिक परिवर्तन की प्रक्रिया है ?

71. प्राकृतिक गैस में सर्वाधिक मात्रा में उपस्थित यौगिक हाइड्रोजन तथा निम्नलिखित से बना होता है-
(अ) सल्फर (स) कार्बन
(स) कैल्सियम (द) नाइट्रोजन
Ans- (स) प्राकृतिक गैस में सर्वाधिक मात्रा में उपस्थित यौगिक हाइड्रोजन
तथा कार्बन का बना होता है।
72. हाइड्रोक्लोरिक अम्ल, हाइड्रोजन तथा-तत्वों से बनता है।
(अ) लोहा (स) सल्फर
(स) कार्बन (द) क्लोरीन
Ans-. (द) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCl) हाइड्रोजन तथा क्लोरीन से बना होता है।
73. लौह अयस्क से लोहे का उत्पादन निम्नलिखित प्रक्रम से होता है-
(अ) क्लोरीनीकरण (स) अपचयन ।
(स) प्रभाजी आसवन (द) विद्युत अपघटन
Ans- (स) लौह अयस्क से लोहे का उत्पादन अपचयन विधि से होता है लोहे का निष्कर्षण वात भट्टी (Blsat Furnance) का प्रयोग किया जाता है।
ऽ लोहे का निष्कर्षण मुख्यतः हेमाटाइट (Haematite) अयस्क से किया जाता है।
74. एथिलीन तथा स्टाइरीन की व्यापारिक उपयोगिता उनकी निम्नलिखित क्षमता के कारण है-
(अ) जल अपघटन (स) ऑक्सीकरण
(स) बहुलकीकरण (द) अपचयन
Ans- (स) बहुलीकरण के कारण एथिलीन तथा स्टाइरीन की व्यापारिक उपयागिता होता है।
ऽ वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अणु मिलकर बड़े अणु का निर्माण करते हैं बहुलीकरण कहलाता है।

ऽ एथिलीन के बहुलीकरण से पालीथीन का निर्माण होता है।

75. पानी में घुलने के पश्चात् 7 से कम pH वाला योगिक है-
(अ) एथनॉल (स) शर्करा
(स) साधारण लवण (द) सिरका
Ans-. (द) पानी में घुलने के पश्चात 7 से कम च्भ् वाला यौगिक सिरका है। इसका च्भ् मान 2-4 से 3-4 तक होते हैं।
ऽ किसी घोल की अम्लीयता का क्षारीयता की व्यक्त करने के लिए एक मापदण्ड का उपयोग होता है इस मापदण्ड को PH scale कहते हैं।

अम्लीय उदासीन क्षारीय
p~ Hk~ Scale

76. जल के साथ स्वच्छ विलयन नहीं बनाने वाला यौगिक है-
(अ) बेन्जोइक अम्ल (स) शर्करा
(स) बेकिंग पाउडर (द) कॉस्टिक सोडा
Ans- (अ) जल के साथ स्वच्छ विलयन नहीं बनाने वाला यौगिक बेन्जोइक अम्ल है । इसका उपयोग खाद्य पदार्थों के संरक्षण में किया जाता है।
77. ऐसे पदार्थ को जिसका जलीय विलयन जल से अच्छा बिजली का चालक होता है-
(अ) इक्षु शर्करा (cane sugar)
(स) ग्लूकोज
(स) साधारण लवण
(द) एथिल ऐल्कोहॉल
Ans-. (स) साधारण लवण (NaCl) जिसका जलीय विलयन जल से अच्छा बिजली का चालक होता है । यह जल में घुलकर छं़ एवं ब्स- आयन बनाता है।
ऽ एथिल एल्बोहॉल (Ethyl Alcohol) इसका उपयोग शराब (Wine) के रूप में होता है। यह अत्यधिक ज्वलनशील होता (है। मोटर एवं हवाई जहाज के ईंधन के रूप मेंय पारदर्शक साबुन बनाने में इसका उपयोग होता है।
78. सुरा से शुद्ध ऐल्कोहॉल इस प्रक्रम से प्राप्त किया जा सकता है-
(अ) क्रिस्टलन (स) आसवन
(स) भंजन (द) ऑक्सीकरण
Ans- (स) आसवन से सुरा से ऐल्कोहॉल प्राप्त किया जाता है।
79. उच्च तापमान तथा दाब पर गर्म करने से मोमीय ठोस में बदल जाने वाली गैस है-
(अ) क्लोरीन (स) हाइड्रोजन
(स) ऐसीटिलीन (द) एथिलीन
Ans-. (द) उच्च तापमान तथा दाब पर गर्म करने से मोमीय ठोस एथिलीन बदल जाने वाली गैस है।
ऽ क्लोरीन गैसीय अवस्था में पाया जाता है यह दम घोटु एवं विषैली गैस है यह ब्लीचिंग पाउडर, क्लोरोफार्म एवं पेय जल को शुद्ध करने, चीनी को सफेद करने इत्यादि के काम आता है।
80. सागर जल में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला पदार्थ है-
(अ) पोटैशियम क्लोराइड (स) साधारण लवण
(स) रेत (द) कैल्सियम कार्बोनेट
Ans- . (स) सागर जल में सर्वाधिक मात्रा साधारण लवण (NaCl) पाया जाता है।
ऽ कैल्सियम कार्बोनेट (CaCO3) प्रकृति में चूने के पत्थर संगमरमर, खड़िया आदि के रूप में पाया जाता है। यह जल में अघुलनशील होता है। इसका उपयोग दंत मंजन, पाउडर, पेस्ट बनाने में तथा दीवारों पर सफेदी करने के, तथा सीमेण्ट उद्योग में भी होता है।
81. किसी तत्व की परमाणु संख्या निम्नलिखित की संख्या के बराबर होती है-
(अ) नाभिक के न्यूट्रॉन (स) नाभिक के प्रोटॉन
(स) सापेक्ष परमाणु द्रव्यमान (द) बाह्यतम कक्षक में इलेक्ट्रॉन
Ans- . (स) किसी तत्व की परमाणु संख्या नाभिक के प्रोटॉन की संख्या के बराबर होती है।
ऽ किसी तत्व के नाभिक में जितना प्रोटॉन होता है उतना ही उस तत्व के वाह्यतम कक्षा में इलेक्ट्रॉन होता है लेकिन न्यूट्रॉन की संख्या घटती बढ़ती रहती है।
82. शर्करा विलयन के किण्वन से बनने वाली गैस है–
(अ) सल्फर डाइऑक्साइड (स) कार्बन मोनोऑक्साइड
(स) कार्बन डाइऑक्साइड (द) मेथेन
Ans- . (स) शर्करा विलियन के किण्वन से बनने वाली गैस कार्बन डायऑक्साइड (CO2) है।
83. ग्लूकोज के किण्वन का अंतिम उत्पाद है-
(अ) CO2 तथा CHSOH
(स) CO तथा ऐल्कोहॉल
(स) CO2 तथा H2O
(द) CO2 तथा  C2H5OH
Ans- . (द) ग्लूकोज के किण्वन का अंतिम उत्पाद CO2 तथा CHOH होता है।
84. ऐसीटिक अम्ल के जलीय विलयन का चभ्2 है। उसमें निम्नलिखित के मिलाने से उसका चभ् मान बढ़ जाएगा-
(अ) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (स) साधारण लवण
(स) जलीय अमोनिया (द) इक्षु शर्करा
Ans- . (स) ऐसीटिक अम्ल के जलीय विलयन का PH , 2 है। उसमें जलीय अमोनिया के मिलाने से उसका PH मान बढ़ जाता है।
85. व्यापारिक तौर पर अमोनिया का उत्पादन अत्यावश्यक है क्योंकि यह निम्नलिखित के काम में आता है
(अ) बहुलकीकरण से प्रोटीन बनाने में
(स) साबुन बनाने में
(स) कृत्रिम खाद्य पदार्थ बनाने में
(द) उर्वरक बनाने में
Ans-  (द) उर्वरक बनाने में व्यापारिक तौर पर अमोनिया का उत्पादन अत्यावश्यक है।
86. उर्वरक में निम्नलिखित तत्व उपलब्ध नहीं है-
(अ) नाइट्रोजन (स) हाइड्रोजन
(स) क्लोरीन (द) फॉस्फोरस
Ans- . (स) उर्वरक में क्लोरीन नहीं पाया जाता है।
फॉस्फोरस नाइट्रोजन का अनुरूप (Analogue) है यह प्रकृति में मुक्तावस्था में नहीं पाया जाता है। मानव शरीर में फॉस्फोरस अनिवार्य है। जानवरों की हड्डियों में यह 85% कैल्सियम फॉस्फेट के रूप में रहता है।
87. प्रकृति में नहीं पाया जाने वाला कच्चा माल है-
(अ) जल (स) पेट्रोल
(स) विनाइल क्लोराइड (द) कार्बन डाइऑक्साइड
Ans- . (स) विनाइल क्लोराइड प्रकृति में नहीं पाया जाने वाला कच्चा माल है।
ऽ जल रंगहीन, स्वादहीन एवं गंधहीन होता है यह ठोस, द्रव एवं गैस तीनों अवस्था में पाया जाता है।
ऽ पेट्रोलियम एक प्राकृतिक ईंधन है यह भू-पर्पटी (Earth’s crust) के बहुत नीचे अवसादी या परतदार (Sedimetory rock) चट्टानों के परतों के बीच पाया जाता है । इसे कालासोना (Black Gold), द्रवसोना (Liquid Gold) भी कहा जाता है।
ऽ PVC (Poly Venyl Chloride)- Venyl chloride बहुलीकरण से Polyvenyl Chloride प्राप्त होता है । इसका उपयोग पाइप बनाने के विद्युत तार के कवर बनाने में, जूता के सोल इत्यादि बनाने में होता है।
88. ऐसा प्राकृतिक पदार्थ, जो केवल एक ही तत्व से बना हुआ है और जिससे ऊर्जा प्राप्त की जा सकती है, निम्नलिखित है-
(अ) पेट्रोलियम (स) कोयला
(स) जल (बांधों में) (द) वायु (पवन चक्की में)
Ans- . (स) कोयला ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो केवल एक ही तत्व से बना हुआ है और इससे ऊर्जा प्राप्त की जाती है ।
89. अपनी पिघली अवस्था में विद्युत का चालन करने वाला पदार्थ है-
(अ) पॉलिथीन (स) ग्लूकोज
(स) सामान्य लवण (द) यूरिया
Ans- . (स) सामान्य या साधारण लवण (NaCl) अपनी पिघली अवस्था के विद्युत का चालन करने वाला पदार्थ है।
ऽ पॉलिथीन (Polythene) उच्च ताप एवं दाव पर इथिलीन (C2H4) के बहुलीकरण से पॉलीथीन बनता है। इसका उपयोग थैला बनाने में, बरसाती बनाने में होता है।
90. कौन-सा कथन गैसों पर लागू नहीं होता?
(अ) इनके अणु पात्र के दीवार से टकराते हैं तथा दाब उत्पन्न करते हैं।
(स) इनके अणु आपस में टकराते हैं।
(स) तापमान बढ़ने से इनके अणु अधिक यादृच्छिक (random) गति से घूमने लगते हैं
(द) इनके अणु एक नियमित विन्यास में अत्यन्त निकट से बंधे होते
Ans- . (द) गैसों के अणु एक निमित विन्यास में अत्यन्त निकट से बंधे होते हैं। यह सही नहीं है।
91. लोहे के उत्पादन के लिए जिस कच्ची वस्तु का इस्तेमाल होता है, वह है-
(अ) चूना पत्थर (स) पेट्रोल
(स) कोक (द) रबर
Ans-  (स) लोहे के उत्पादन के लिए कच्च वस्तु के रूप में कोक का उपयोग होता है।
ऽ कोक (Coke)-कोयले को वायु की अनुपस्थिति में गर्म करने पर इसके वाष्पशील अवयव निकल जात हैं तथा जो अवशेष बचता है वह कोक कहलाता है इसमें 80-85% कार्बन पाया जाता है इसका उपयोग धातुओं के निष्कर्षण में अवकारक के रूप से ईंधन एवं इलेक्ट्रोड के रूप में इसका उपयोग होता है।
ऽ रबर (Rubber)-प्राकृतिक रबर आइसोप्रीन का बहुलक है। लैटेक्स में 1ः एसिटिक अम्ल मिलाया जाता है जिसके फलस्वरूप रबर प्राप्त होता है।
92. पेट्रोल से लगी आग को बुझाने के लिए प्रायः जल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है, क्योंकि-
(अ) आग की लपटें काफी गर्म होती हैं तथा जल से ठंडी नहीं की
जा सकती
(स) जल और पेट्रोल रासायनिक तौर पर अभिक्रिया करते हैं
(स) जल और पेट्रोल आपस में मिश्रणीय (miscible) होते हैं
(द) जल और पेट्रोल आपस में अमिश्रणीय हैं, पेट्रोल जल की सतह
पर परत बना लेता है
Ans- . (द) पेट्रोल में लगी आग को बुझाने के लिए प्रायः जल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है क्योंकि जल और पेट्रोल आपस में अमिश्रणीय है पेट्रोल जल की सतह पर परत बना लेता है।
93. बहुलकी प्रकृति का पदार्थ नहीं है-
(अ) नाइलॉन (स) सेल्युलोज
(स) मंड (द) ग्लूकोज
Ans- . (द) बहुलकी प्रकृति का पदार्थ ग्लूकोज नहीं है।
ऽ नायलॉन (Nylon) यह पहला मानव निर्मित रेशा है इसका निर्माण एडिपिक अम्ल एवं ऐक्सा मिथिलिन डाई एमीन से होता है। इसका उपयोग वस्त्र बनाने में टायर, रस्सी पैरासूट बनाने में होता है।
ऽ सेलुलोज का निर्माण सोडियम हाइड्रॉक्साइड एवं कार्बन डाई सल्फाइड से मिलकर होता है। रेयान एक प्रकार का रेशा है जिसका निर्माण सेलुलोज से होता है । रेयान का उपयोग वस्त्र बनाने में होता है।
94. औद्योगिक रूप से विद्युत अपघटन द्वारा बनाए जाने वाले पदार्थों का समूह हैं-
(अ) एथनॉल, क्लोरीन, कॉस्टिक सोडा
(स) कॉस्टिक सोडा, क्लोरीन, एल्यूमीनियम
(स) नाइट्रोजन, ऑक्सीजन, एल्युमीनियम
(द) शर्करा, सामान्य लवण, लोहा
Ans- . (स) औद्योगिक रूप से विद्युत अपघटन द्वारा बनाए जाने वाले पदार्थ कॉस्टिक सोडा, क्लोरीन, एल्युमीनियम है।
95. रासायनिक परिवर्तन की प्रक्रिया है-
(अ) साधारण लवण का जल में घुलना
(स) प्रभाजी आसवन से पेट्रोलियम का शोधन
(स) मोटर कारों में पेट्रोल का दहन
(द) पेट्रोल और एथिल ऐल्कोहॉल का मिलाना
Ans- . (स) रासायनिक परिवर्तन वह प्रक्रिया है जिसमें मोटर कारों से पेट्रोल का दहन होता है।
ऽ रासायनिक परिवर्तन वैसा परिवर्तन है जिसमें किसी पदार्थ के रंगरूप या गुण हमेशा के लिए बदल जाते हैं अर्थात् नये पदार्थ का निर्माण हो जाता है।
म्ग. दूध से दही बनना, लोहे में जंग लगाना, मोमबत्ती का जलना इत्यादि ।
96. पर्यावरण का प्रदूषण करने वाली गैस है-
(अ) ऑक्सीजन (स) नाइट्रोजन
(स) सल्फर डाइऑक्साइड (द) भाप (steam)
Ans- . (स) पर्यावरण का प्रदूषण करने वाली गैस सल्फर डायऑक्साइड है।
97. हीरा उसी एक तत्व से बना है जिससे बना है-
(अ) साधारण लवण (स) शर्करा
(स) ग्रेफाइट (द) क्लोरोफार्म
Ans- . (स) हीरा उसी एक तत्व से बना है जिससे ग्रेफाइट बना है दोनों कार्बन के अपरूप (Allotrops) है।
ऽ शक्लोरोफॉर्म (Chloroform) निश्चेतक (Anaestheticagent) है। यह चीड़-फाड़ जैसे कार्यों (Surgery) में इसका उपयोग होता है । श्वास के साथ इसका वाष्प लेने से बेहोशी होती है।
98. पौधों की वृद्धि के लिए सबसे महत्वपूर्ण यौगिक निम्नलिखित से बने होते हैं-
(अ) कार्बन (स) नाइट्रोजन
(स) ऑक्सीजन (द) सल्फर
Ans- . (स) नाइट्रोजन पौधे की वृद्धि के लिए सबसे महत्वपूर्ण यौगिक है।
99. कॉस्टिक सोडा के विलयन को अलसी (linseed) के तेल के साथ
गरम करने से बने यौगिक को निम्नलिखित की तरह काम में लाया जा सकता है-
(अ) ईंधन (स) उर्वरक
(स) साबुन (द) प्लास्टिक
Ans- . (स) कॉस्टिक सोडा के विलयन को अलसी (Linseed) के तेल के
साथ गरम करने से बने यौगिक साबुन की तरह काम करते हैं।
100. सल्फ्यूरिक अम्ल के औद्योगिक उत्पादन में काम आने वाली दो गैसें है-
(अ) कार्बन डाइऑक्साइड और ऑक्सीजन
(स) सल्फर डाइऑक्साइड और हाइड्रोजन
(स) सल्फर डाइऑक्साइड और ऑक्सीजन
(द) सल्फर डाइऑक्साइड और क्लोरीन
Ans- . (स) सल्फ्यूरिक अम्ल (H2SO4) का औद्योगिक उत्पादन सल्फर डाइऑक्साइड और हाइड्रोजन के मिश्रण से होता है।
ऽ H2SO4 को रसायनों का सम्राट (King fo Chemical) कहा जाता है। H2SO4 का उपयोग स्टोरेज बैट्री (Storage Sels) पेट्रोलियम के शुद्धीकरण में होता है एवं यह एक प्रबल निर्जलीकारक है।