सिरका में कौन सा एसिड पाया जाता है | सिरका की प्रकृति अम्लीय है क्योंकि इसमें which acid in present in vinegar in hindi

By  

which acid in present in vinegar in hindi सिरका में कौन सा एसिड पाया जाता है अम्ल ?

41. सिरका की प्रकृति अम्लीय है क्योंकि इसमें होता है-
(अ) सिट्रिक अम्ल (स) सल्फ्यूरिक अम्ल
(स) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (द) ऐसीटिक अम्ल
Ans-  (द) सिरका की प्रकृति अम्लीय हैं क्योंकि इसमें ऐसीटिक अम्ल होता है।
42. नींबू तथा संतरे में पाया जाने वाला अम्ल है-
(अ) ऐसीटिक अम्ल (स) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल
(स) सिट्रिक अम्ल (द) ओग्जेलिक अम्ल
Ans- (स) नींबू तथा संतरे में साइट्रिक अम्ल पाया जाता है।
43. जल आपूर्ति के लिए जल का शोधन (purification) निम्नलिखित
प्रक्रिया से होता है।
(अ) क्लोरीनीकरण (स) आसवन
(स) फिल्टरन (द) निस्तारण
Ans- (अ) जल आपूर्ति के जल का शोधन (Purification) क्लोरीनीकरण प्रक्रिया से होता है।
44. शर्करा के किण्वन के दौरान बनने वाला मुख्य यौगिक है-
(अ) मेथिल ऐल्कोहॉल (स) एथिल ऐल्कोहॉल
(स) ऐसीटिक अम्ल (द) एथिलीन
Ans- (स) शर्करा के किण्वन के पश्चात एथिल (ईथाइल) एल्कोहल बनता है।
ऽ Fermantation (किण्वन) वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमें कोई कार्बनिक जटिल पदार्थ एंजाइम द्वारा सरल पदार्थ में परिवर्तित होता है किण्वन कहलाता है।

45. नाइट्रोजन यौगिकीकरण (fixation) का अर्थ है-
(अ) नाइट्रोजन का द्रवीकरण (liquefication)
(स) वायुमंडलीय नाइट्रोजन का जरूरी यौगिकों में परिवर्तन
(स) नाइट्रोजन का ऐमीनों में परिवर्तन
(द) वायुमंडल की नाइट्रोजन का पिंडन (solidification)
Ans- (स) नाइट्रोजन यौगिकीकरण (Fixation) के अन्तर्गत वायुमंडलीय नाइट्रोजन का जरूरी यौगिकों में परिवर्तन ।
46. काष्ठ कोयला बनाने के लिए लकड़ी …………..जलाते हैं।
(अ) वायु की उपस्थिति में
(स) शुद्ध ऑक्सीजन की उपस्थिति में
(स) वायु की अनुपस्थिति में
(द) नाइट्रोजन और अक्रिय गैसों की उपस्थिति में
Ans- (स) काष्ट कोयला बनाने के लिए लकड़ी को वायु की अनुपस्थिति में जलाते हैं।
47. जंतु चा कोल प्राप्त होता है-
(अ) हड्डियों के भंजक आसवन से
(स) वायु के संपर्क में जंतुओं की हड्डियों के जलने से
(स) जंतुओं के मांस के जलने से
(द) वायु की अनुपस्थिति में जंतुओं की हड्डियों के जलने से
Ans- . (द) जंतु चारकोल वायु की अनुपस्थिति में जंतुओं की हड्डियों के जलाने से प्राप्त होता है।
48. प्राकृतिक रबर को अधिक मजबूत तथा प्रत्यस्थ (elsatic) बनाने के लिए उसमें मिलाया जाता है-
(अ) सल्फ्यूरिक अम्ल (स) स्पंज
(स) सल्फर (द) क्लोरीन
Ans- . (स) सल्फर मिलाने से प्राकृतिक रबर अधिक मजबूत तथा प्रत्यास्थ (elsatic) होता है।
49. फोटोग्राफिक प्लेटों को काले कागजों से ढक कर रखा जाता है, क्योंकि-
(अ) कागज के सेल्युलोज ऐसीटेंट को ताजा रखना आवश्यक है।
(स) सूर्य के किरणें काले कागजों के द्वारा आसानी से अवशोषित हो
जाती हैं तथा फिल्म डेवेलप में सहायक होती हैं।
(स) प्लेट पर लगा सिल्वर (रजत) ब्रोमाइड प्रकाश के प्रति अति संवेदनशील है, काला कागज उसे प्रकाश के संपर्क में नहीं आने देता।
(द) सिल्वर ब्रोमाइड का धात्विक चांदी में बदलना आवश्यक है।
Ans-  (स) प्लेट पर लगा सिल्वर (रजत) ब्रोमाइड (AgBr) प्रकाश के प्रति अति संवेदनशील है काला कागज उसे प्रकाश के संपर्क में नहीं आने देता है।
50. क्लोरीकरण-
(अ) क्लोराइड को क्लोरीन में बदलने की प्रक्रिया है।
(स) अशुद्ध जल में थोड़ा-सा क्लोरीन डालना है।
(स) क्लोरीन बनाने की एक रासायनिक अभिक्रिया है।
(द) लवण का बनना है जिनमें क्लोरीन होती है।
Ans-  (स) अशुद्ध जल में थोड़ा-सा क्लोरीन डालना क्लोरीकरण कहलाता है।
51. यद्यपि रोशन बल्ब के भीतर का तापमान लगभग 2700°C है, तथापि फिलामेन्ट जल नहीं जाता क्योंकि-
(अ) जिस धातु से यह बना होता है वह अग्नि प्रतिरोधी होता है
(स) जलने के लिए आवश्यक ऑक्सीजन बल्ब में मौजूद नहीं होती क्योंकि बल्ब निर्वातित (evacuated) होता है तथा उसमें अशुद्ध नाइट्रोजन या अक्रिय गैसें भरी होती हैं।
(स) यह संवत (closed) तंत्रों में नहीं जलता है
(द) यह अधात्विक पदार्थ से बना होता है
Ans-  (स) रोशनी वाले बल्ब के भीतर का तापमान लैंगभग 2700°C है लेकिन फिलामेन्ट जलता नहीं है क्योंकि जलने के लिए आवश्यक ऑक्सीजन बल्ब में मौजूद नहीं होता क्योंकि बल्ब निर्वातित (Evacuated) होता है तथा उसमें अशुद्ध नाइट्रोजन या अक्रिय गैस भरी जाती है।
52. इस्पात में होता है-
(अ) 0.1-2 प्रतिशत कार्बन (स) 5-10 प्रतिशत कार्बन
(स) कोई कार्बन नहीं (द) 20 प्रतिशत कार्बन
Ans-  (अ) इस्पात में कार्बन की मात्रा 0-25 से 1.5ः तक होता है। इस्पात लोहा एवं कार्बन का मिश्रधातु है ।
ऽ Stainles Steel में लोहा, क्रोमियम एवं निकेल होता है। इसमें क्रोमियम की मात्रा लगभग 18ः होता है क्रोमियम की मात्रा अधिक होने पर Stainles Steel की कठोरता बढ़ जाती है।
ऽ इस्पात का उपयोग बर्तन बनाने में पुल बनाने में औजार बनाने में रेलवे पटरी बनाने में।
53. लार मंड (स्टार्च) को जल अपघटित कर निम्नलिखित बनाता है-
(अ) ग्लूकोज (स) सूक्रोज
(स) फ्रक्टोज (द) ऐसीटिक अम्ल
Ans- (अ) लार मंड (स्टार्च) को जल अपघटित कर ग्लूकोज प्राप्त होता है।
54. श्वसन प्रक्रम में वायु के जिस घटक का प्रयोग होता है वह है-
(अ) नाइट्रोजन (स) ऑक्सीजन
(स) कार्बन डाइऑक्साइड (द) अक्रिय गैस
Ans- (स) श्वसन में ऑक्सीजन का प्रयोग होता है।
55. एल्यूजेल (allugel) की गोलियां अम्लता कम करने के लिए ली जाती हैं जिसमें होता है-
(अ) सोडियम कार्बोनेट (स) सोडियम हाइड्रोऑक्साइड
(स) अमोनिया (द) ऐलुमिनियम हाइड्रोऑक्साइड
Ans-  (द) एल्यूजेज (Allugel) की गोलियों में ऐलुमिनियम हाइड्रोक्साइड
पाया जाता है जो अम्लीयता कम करने के लिए ली जाती है।
56. भोजन में लवणों की मुख्य भूमिका है-
(अ) खाद्य सामग्री को स्वादिष्ट बनाना
(स) थोड़ी मात्रा में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल बनाना भी कि भोजन के पाचन में सहायक होता है
(स) खाना बनाने के प्रक्रम को सरल बनाता
(द) खाद्य पदार्थों की जल में घुलनशीलता को बढ़ाता है,
Ans-  (स) भोजन में लवणों की मुख्य भूमिका थोड़ी मात्रा में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल बनना जो कि भोजन का पाचन में सहायक होता है।
57. रासायनिक यौगिक के सलानुपाती सूत्र (Empirical formula) व आण्विक सूत्र घरस्सर निम्न प्रकार से संबंधित हैं –
(अ) मूलानुपाती सूत्र = द ग आण्विक सूत्र
(स) आण्विक सूत्र = मूलानुपाती सूत्र ध्द
(स) आण्विक सूत्र = द ग मूलानुपाती सूत्र
(द) आण्विक सूत्र = द $ मूलानुपाती सूत्र
Ans- . (स) रासायनिक यौगिक के मूलानुपाती सूत्र (म्उचपतपबंस वितउनसं) व आण्विक सूत्र (डवसमबनसंत वितउनसं) परस्पर निम्न प्रकार से संबंधित है-
आण्विक का अणु सूत्र = द जहाँ द = 1, 2, 3, 4 =
मूलानुपाती सूत्र
→ आण्विक सूत्र = द ग मूलानुपाती सूत्र
58. मनुष्यों के द्वारा सर्वाधिक उपयोग में लाया जाने वाला धातु है-
(अ) सोना (स) ऐलुमिनियम
(स) तांबा (द) लोहा
Ans-  (द) मनुष्यों के द्वारा सर्वाधिक उपयोग में लाया जाने वाला धातु लोहा है।
ऽ एल्युमिनियम का मुख्य अयस्क बॉक्साइड (Al2O3-2H2O) इससे एल्युमिनियम का निष्कर्षण होता है।
ऽ ताँबे का निष्कर्षण मुख्यतः कॉपर पाइराइट (CuFeS2) से किया जाता है।
पीतल (Brsa) Cu ़ nZ
काँसा (Broæe) Cu ़ Sn
ऽ सोना का निष्कर्षण मुख्यतः कैल्बेराइट (Aute2) एवं सिल्वेनाइट्स (Ag Au)2 Te2 से किया जाता है।
ऽ स्वर्ण की शुद्धता (Purity fo Gold) कैरेट (ब्ंतंजमे) में व्यक्त किया जाता है। 100ः शुद्ध सोना 24 कैरेट का होता है।
ऽ सोना को कठोर बनाने के लिए इसमें तांबा मिलाया जाता है।
छवजम-सभी अयस्क खनिज होते हैं, लेकिन सभी खनिज अयस्क नही होता है।
59. गोबर गैस का मुख्य घटक है-
(अ) कार्बन डाइऑक्साइड (स) ऐसीटिलीन
(स) एथिलीन (द) मीथेन
Ans- (द) गोबर गैस का मुख्य घटक मिथेन है । इसमें मिथेन 65ः पाया जाता है।
ऽ ठपवहें (गोबर गैस) से मिथेन के अलावे कार्बन डायऑक्साइड, हाइड्रोजन, हाइड्रोजन सल्फाइड आदि गैसें निकलती है। यह एक उत्तम किस्म का ईंधन है, इसमें धुआं नहीं निकलता है।
ऽ ठपवहें के समाप्ति के बाद संयंत्र में अवशिष्ट पदार्थ में छ, एवं फॉस्फोरस के कई यौगिक मौजूद रहते हैं जिसका उपयोग उर्वरक के रूप में किया जाता है।
ऽ जानवरों एवं पेड़-पौधों से प्राप्त अवशिष्ट पदार्थ सूक्ष्म जीवों द्वारा जल की उपस्थिति में आसानी से सड़ते हैं, जिसके फलस्वरूप ठपवहें निकलता है। कृत्रिम रूप से फलों को पकाने के लिए एसिटिलीन गैस का उपयोग किया जाता है।
60. पौधों के लिए सबसे अच्छा उर्वरक है-
(अ) कम्पोस्ट (स) अमोनियम सल्फेट
(स) सुपर फॉस्फेट ऑफ लाइम (द) यूरिया
Ans- . (अ) पौधों के लिए सबसे अच्छा उर्वरक कम्पोस्ट है। यह जानवरों के अवशिष्ट पदार्थ से प्राप्त होता है।
ऽ वर्जिलियस के शिष्य वोहलर ने सर्वप्रथम कार्बनिक यौगिक यूरिया का निर्माण किया। इन्होंने अमोनिया सायनेट को गर्म कर यूरिया प्राप्त किया।
NH4 CNo~ NH2 CONH2
अमोनियम साइनेट यूरिया
61. pH प्रदर्शित करता है-
(अ) विलयन का तापमान (स) विलयन का वाष्प दाब
(स) विलयन की अम्लता तथा क्षारकता
(द) विलयन की आयनी शक्ति
Ans-  (स) PH विलयन की अम्लता तथा क्षारकता प्रदर्शित करता है।
pH (Parker Hannifin) किसी घोल में हाइड्रोजन आयन के सान्द्रण के ऋणात्मक लघुगणक को उस घोल का PH कहते हैं। pH = – log [H़],,
62. हाइडोक्लोरिक अम्ल के जलीय विलयन का pH लगभग हो सकता है-
(अ) 2 (स) 7
(स) 12 (द) 9
Ans-  (अ) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल (HCI) के जलीय विलयन का च्भ् लगभग 2 होता है। इसकी प्रकृति अम्लीय होती है।
63. किस निम्नलिखित के जलीय विलयन का चभ् मान हो सकता है-
(अ) सोडियम हाइड्रोक्साइड (स) एमोनियम सल्फेट
(स) सोडियम क्लोराइड (द) हाइड्रोजन क्लोराइड
Ans- . (अ) सोडियम हाइड्रोक्साइड (NaOH) के जलीय विलयन का च्भ्
हो सकता है।
ऽ Sodium Hydroxide and curresa HIST (Caustic Soda) या दाहक सोडा भी कहा जाता है। इसका उपयोग साबुन बनाने में, कागज के निर्माण में सूती कपड़ों में चमक पैदा करने में कृत्रिम रेशम के निर्माण में होता है।
64. शैलों तथा खनिजों में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है-
(अ) सिलिकन (स) कार्बन
(स) हाइड्रोजन (द) सोना

Ans-  (अ) सिलिकन शैलों तथा खनिजों में सर्वाधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है।
65. हाइड्रोजन से सबसे अधिक यौगिक बनाने वाला तत्व है-
(अ) ऑक्सीजन (स) सिलीकन
(स) कार्बन (द) बोरॉन
Ans- . (स) कार्बन हाइड्रोजन के साथ मिलकर सबसे अधिक यौगिक का निर्माण करता है।
ऽ सिलिकन प्रकृति में रेत (ेंदक) और पत्थर के रूप में पाया जाता है। यह अपरूपता (Allotropy) की घटना प्रदर्शित करता है। यह एक अधातु है । पृथ्वी की सतह पर ऑक्सीजन के बाद दूसरा बहुतायत मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। पृथ्वी की परत में इसकी प्रतिशता 26ः होती है।
ऽ सिलिकन कार्बाइड (Silicon carbide) इसे कार्बोरण्डम (Carbo rendom) एवं कृत्रिम हीरा भी कहा जाता है।
66. आग बुझाने के लिए काम में लाई जाने वाली गैस है-
(अ) कार्बन मोनोऑक्साइड (स) सल्फर डाइऑक्साइड
(स) कार्बन डाइऑक्साइड (द) हाइड्रोजन
Ans . (स) कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) आग बुझाने के काम में लाई जाने वाली गैस है।
ऽ ब्व्2, गैस ग्रीन हाऊस प्रभाव (Green house fefect) के लिए मुख्य रूप से उत्तरदायी होता है।
ऽ शीतल पेय पदार्थों के बोतलों (Cold äinks) में उच्च दाब पर ब्व्2, गैस भरी होती है।
ऽ कार्बन मोनोक्साइड (Carbon Monoxide) गैस मानव रक्त के हीमोग्लोबीन के साथ मिलकर कार्बोक्सी हीमोग्लोबीन (Carboxy Haemoglobin) बनता है जिससे रक्त में ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता समाप्त हो जाती है।
67. घरेलू ईंधन के रूप में काम में लाई जाने वाली गैस है-
(अ) ऑक्सीजन (स) नाइट्रोजन
(स) मेथैन (द) फ्लोरीन
Ans- (स) घरेलू ईंधन के रूप में काम में लाई जाने वाली गैस मिथेन है।
ऽ नाइट्रोजन प्रोटीन (Protein) नामक जटिल कार्बनिक यौगिक में उपस्थि रहता है यह यूरिया में 46ः होता है। पेड़ पौधे मिट्टी से नाइटोजन नाइट्रेट्स के रूप में प्राप्त करते हैं।
ऽ प्लोरीन आवर्त सारणी का सर्वाधिक विद्युत ऋणात्मक तत्व है। यह गैसीय अवस्था में पाया जाता है।
68. निम्नलिखित गैस के जलीय विलयन का तेज अम्लीय गुण होता है।
(अ) अमोनिया (स) फॉस्फीन
(स) सल्फर डाइऑक्साइड (द) हाइड्रोजन सल्फाइड
Ans- (स) सल्फर डाइऑक्साइड गैस के जलीय विलयन का तेज अम्लीय
गुण होता है।
ऽ ज्वालामुखी से निकलने वाली गैसों में SO2 (Sulphur Dioxide) होता है। यह रंगहीन, दम घोंटने वाली गंधयुक्त हवा से भारी तथा विषैली गैस होती है। इसका उपयोग विरंजक के रूप में होता है।
ऽ CO2 सूर्य प्रकाश में क्लोरीन के साथ संयोग कर फॉस्जीन या कार्बोनिल क्लोराइड (Phosgene or Carbonyl Chloride) COCI का निर्माण करता है जो एक विषैली गैस है।
69. सिलिकन तत्व में पाया जाता है-
(अ) कोयला (स) रेत
(स) चूना पत्थर (द) लवण
Ans-  (स) रेत (Sand) में सिलिकन तत्व पाया जाता है।
70. बॉक्साइड से एलुमिनियम धातु का औद्योगिक उत्पादन निम्नलिखित
प्रक्रिया से होता है-
(अ) प्रभाजी क्रिस्टलन (स) प्रभाजी आसवन
(स) विद्युत अपघटन (द) अपचयन
Ans-  (स) विद्युत अपघटन द्वारा बॉक्साइड से एलुमिनियम धातु का औद्योगिक उत्पादन होता है।
ऽ किसी यौगिक की द्रवित अवस्था का घोल की अवस्था में विद्युत धारा प्रवाहित कर अपघटित करने की क्रिया को वैद्युत अपघटन कहते है।