भारत पूर्ण संप्रभु लोकतांत्रिक गणतंत्र कब बना when did india become a fully sovereign democratic republic

By   June 7, 2021

when did india become a fully sovereign democratic republic in hindi भारत पूर्ण संप्रभु लोकतांत्रिक गणतंत्र कब बना ?

प्रश्न :  लोकप्रिय प्रभुसत्ता क्या है?
(अ) जनता का प्रभुत्व
(ब) जनता के प्रतिनिधि का प्रभुत्व
(स) विधि शीर्ष का प्रभुत्व
(द) राज्य के शीर्ष का प्रभुत्व
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
लोकप्रिय प्रभुसत्ता का अर्थ एक ऐसी शासन पद्धति से है जिसमें जनता अपने प्रतिनिधियों के माध्यम से शासन करती है। ऐसी शासन व्यवस्था में जनता को अपने प्रतिनिधियों को चुनने तथा समय-समय पर परिवर्तित करने का अधिकार होता है। इस शासन प्रणाली का विकास सामाजिक समझौता सिद्धांत के आधार पर हुआ है।
प्रश्न : भारत पूर्ण संप्रभु लोकतांत्रिक गणतंत्र कब बना?
(अ) 26 जनवरी, 1949 (ब) 26 नवंबर, 1951
(स) 26 नवंबर, 1930 (द) 26 नवंबर, 1949
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
26 नवंबर, 1949 को भारत पूर्ण संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य बना क्योंकि संविधान सभा द्वारा संविधान की उद्देशिका अथवा प्रस्तावना को 26 नवंबर, 1949 को अंगीकृत, अधिनियमित एवं आत्मार्पित किया गया तथा संविधान के कुछ अनुच्छेदों को तत्काल लागू कर दिया जबकि शेष संविधान को 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया।
3. संविधान की उद्देशिका (प्रस्तावना) का संशोधन कितनी बार किया गया था?
(अ) तीन बार (ब) दो बार
(स) एक बार (द) संशोधन नहीं किया गया
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
संविधान की उद्देशिका (प्रस्तावना) में संशोधन एक बार ख्42वें संविधान संशोधन (1976),, किया गया। इसके द्वारा उद्देशिका में ‘समाजवाद‘, ‘पंथनिरपेक्ष‘ एवं ‘खंडता‘ शब्द जोड़े गए।
4. भारतीय संविधान की प्रस्तावना में निम्नलिखित में से किस अभिव्यक्ति का प्रयोग नहीं किया गया है?
(अ) सर्वसत्ताधारी लोकतंत्रीय गणराज्य
(ब) समाजवादी
(स) धर्मनिरपेक्ष
(द) संघीय
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2007, 2009
उत्तर-(द)
भारतीय संविधान की प्रस्तावना में ‘संघीय‘ शब्द का प्रयोग नहीं किया गया है परंतु अनुच्छेद 1 के अंतर्गत भारत को ‘राज्यों का संघ‘ घोषित किया गया है।
5. हमारे संविधान की प्रस्तावना में उल्लेख नहीं है –
(अ) न्याय का (ब) भ्रातृत्व का
(स) प्रतिष्ठा की समानता का (द) वयस्क मताधिकार का
S.S.C.F.C.I. परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
संविधान की प्रस्तावना में न्याय, भ्रातृत्व एवं प्रतिष्ठा की समानता का तो उल्लेख है परंतु वयस्क मताधिकार का उल्लेख नहीं है। संविधान के अनु. 326 में वयस्क मताधिकार के आधार पर लोक सभा और राज्य विधान सभाओं के निर्वाचनों का होना उल्लिखित है।
6. संविधान के निर्माताओं के मनोभाव और आदर्श प्रतिबिंबित होते है-
(अ) मूल अधिकारों में
(ब) राज्य नीति के निदेशक सिद्धांतों में
(स) उद्देशिका में
(द) मूल कर्तव्यों में
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
भारतीय संविधान की उद्देशिका में संविधान निर्माताओं के मनोभाव और आदर्श प्रतिबिंबित होते हैं। यदि संविधान के किसी मंतव्य का स्पष्टीकरण नहीं हो पाए, तो उद्देशिका निर्णायक भूमिका का निर्वहन करते हुए मार्गदर्शन करती है। इन री: बेरूबारी यूनियन (1960) मामले में कहा गया है कि ‘‘प्रस्तावना संविधान के निर्माताओं के आशय को स्पष्ट करने वाली कुंजी है।‘‘
7. भारत के संविधान में ‘संघीय‘ शब्द का प्रयोग कहां पर हुआ है?
(अ) प्रस्तावना (ब) भाग प्प्प्
(स) अनुच्छेद 368 (द) संविधान में कहीं नही
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
भारतीय संविधान में ‘संघ‘ (Federation) शब्द के स्थान पर अनुच्छेद (1) के अंतर्गत ‘रांज्यों का संघ‘ (Union of States) शब्द का प्रयोग किया गया है।
8. भारत के संविधान में भारत को किस रूप में वर्णित किया गया है?
(अ) परिसंघ-कल्प । (ब) एकात्मक
(स) राज्यों का संघ (द) परिसंघ
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
भारत के संविधान के भाग 1 के अनुच्छेद 1(1) में कहा गया है ‘‘भारत अर्थात् इंडिया, राज्यों का संघ होगा‘‘।
9. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 1 में यह घोषणा की गई है कि ‘‘इंडिया अर्थात् भारत‘‘ …….है।
(अ) राज्यों का संघ
(ब) एकात्मक विशिष्टताओं वाला संघीय राज्य
(स) संघीय विशिष्टताओं वाला संघीय राज्य
(द) संघीय राज्य
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (ज्पमत.प्) परीक्षा, 2013
उत्तर-(अ) उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
10. संविधान के अनुच्छेद-I में भारत को क्या कहा गया है?
(अ) परिसंघ
(ब) परिसंघ, प्रबल एकात्मक आधार के साथ
(स) महासंघ
(द) राज्यों का संघ
S.S.C.Section off परीक्षा, 2006
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
11. शक्तियों का विभाजन और स्वतंत्र न्यायपालिका किसकी दो महत्त्वपूर्ण विशेषताएं हैं?
(अ) सरकार का लोकतांत्रिक स्वरूप
(ब) सरकार का संघीय स्वरूप
(स) सरकार का समाजवादी स्वरूप
(द) सरकार का एकात्मक स्वरूप
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(ब)
संघ और राज्यों के बीच शक्तियों का विभाजन संघात्मक संविधान का मूल तत्त्व है। यह विभाजन प्रायः एक संविधान द्वारा किया जाता है, जो देश की सर्वोच्च विधि होती है। चूंकि सरकारों की शक्तियों का विभाजन एक लिखित संविधान द्वारा होता है, जिससे विभिन्न सरकारें एक-दूसरे के कार्य क्षेत्र में हस्तक्षेप न करें। इसके लिए एक ऐसी संस्था की आवश्यकता होती है, जो स्वतंत्र एवं निष्पक्ष होकर केंद्रीय तथा राज्य सरकारों के बीच विवादों को निष्पक्षता से निपटा सके।
12. भारत में संघ राज्य-क्षेत्रों की संख्या है-
(अ) पांच (ब) सात
(स) नौ (द) छः
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
वर्तमान में भारत में संघ राज्य क्षेत्रों की संख्या सात है। ये हैं दिल्ली, पुडुचेरी, चंडीगढ़, दादरा व नगर हवेली, अंडमान एवं निकोबार द्वीपसमूह, दमन व दीव तथा लक्षद्वीप।
13. भारत संघ में कितने राज्य है?
(अ) 28 (ब) 27
(स) 30 (द)29
S.S.C.संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
वर्तमान में भारत संघ में कुल 29 राज्य तथा सात राज्य क्षेत्र हैं।
14. लक्कादीव, मिनिकोय और अमीनदीवी द्वीप का नाम बदल कर लक्षद्वीप किस वर्ष में संसदीय अधिनियम द्वारा किया गया था?
(अ) 1973 (ब) 1971
(स) 1970 (द) 1972
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
लक्कादीव, मिनिकोय और अमीनदीवी द्वीप का नाम बदल कर लक्षद्वीप वर्ष 1973 में संसदीय अधिनियम द्वारा किया गया।
15. संघ राज्य क्षेत्र में निम्नलिखित में से क्या शामिल नहीं है?
(अ) लक्षद्वीप (ब) अंडमान और निकोबार
(स) जम्मू और कश्मीर (द) दिल्ली
S.S.C. स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी‘ एवं ‘डी‘) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
जम्मू और कश्मीर संघ राज्य क्षेत्र में शामिल नहीं है। जम्मू और कश्मीर राज्य क्षेत्र है और इसे अनु. 370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा दिया गया है जबकि भारत में सात केंद्र (संघ) राज्य क्षेत्र अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, दिल्ली, लक्षद्वीप और पांडिचेरी (पुडुचेरी) हैं।
16. 1956 में राज्यों का पुनर्गठन करने से ?
(अ) 17 राज्य और 6 संघ राज्य क्षेत्र बने
(ब) 17 राज्य और 9 संघ राज्य क्षेत्र बने
(स) 14 राज्य और 6 संघ राज्य क्षेत्र बने
(द) 15 राज्य और 9 संघ राज्य क्षेत्र बने
S.S.C.C.P.O.परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
1956 में राज्यों का पुनर्गठन करने से 14 राज्य क्रमश आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, मुंबई, केरल, मध्य प्रदेश, मद्रास, मैसूर, उड़ीसा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और जम्मू कश्मीर तथा 6 संघ क्रमशः दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह तथा लक्कादीव बने।
17. निम्नलिखित में से कौन-सा राजनीतिक अधिकार नहीं है?
(अ) मत देने का अधिकार
(ब) जीवन का अधिकार ।
(स) चुनाव लड़ने का अधिकार
(द) सरकार के अधिशासी निकायों के पास शिकायत करने
का अधिकार
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(ब)
जीवन का अधिकार अनु. 21 (प्राण और दैहिक स्वतंत्रता का संरक्षण) के तहत मौलिक अधिकार है। विकल्पों में दिए गए अन्य अधिकार राजनीतिक अधिकारों में सम्मिलित हैं।
18. निम्नलिखित में से किस ई. सन् में भारतीय नागरिकों के मौलिक कर्तव्य संविधान में शामिल किए गए थे?
(अ) 1952 (ब) 1976
(स) 1979 (द) 1981
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(ब)
सरदार स्वर्ण सिंह समिति की सिफारिश पर 42वें संविधान संशोधन, 1976 द्वारा (3-1-1977 से लागू) भारतीय संविधान में भाग 4-। तथा अनु. 51-। जोड़कर भारतीय नागरिकों के दस मौलिक कर्त्तव्य शामिल किए गए थे जिनकी संख्या 86वें संविधान संशोधन, 2002 के बाद से 11 हो गई है।