यौगिक (what is compound in hindi)

By  

यौगिक (what is compound in hindi) : वह पदार्थ जिसमें दो या दो से अधिक तत्व आपस में रासायनिक बन्धो द्वारा जुड़ते है और यौगिक का निर्माण करते है।

यौगिक बनाने के लिए तत्वों के मध्य रासायनिक बंध पाए जाते है ये बन्ध कई प्रकार के हो सकते है इनमे सामान्यतया ये दो मुख्य बंध पाए जाते है –

प्रत्येक यौगिक में उपस्थित तत्व हमेशा एक निश्चित अनुपात में मिलते है।

अत: यौगिक को निम्न प्रकार भी परिभाषित किया जा सकता है –
“दो या दो से अधिक तत्वों के परमाणु जब एक निश्चित अनुपात में रासायनिक संयोग करके किसी पदार्थ का निर्माण करते है तो इस प्रकार बने पदार्थ को यौगिक कहते है। “
यौगिक के उदाहरण निम्न है –
1. जल (H2O) एक यौगिक होता है जो दो तत्वों से मिलकर बना हुआ है पहला हाइड्रोजन तत्व और दूसरा ऑक्सीजन तत्व
जल के यौगिक में हाइड्रोजन और ऑक्सीजन का अनुपात हमेशा 2:1 रहता है अर्थात दो तत्व हाइड्रोजन के होते है तो एक तत्व ऑक्सीजन का होता है। ये तत्व रासायनिक बंध द्वारा जुड़े रहते है।
प्रत्येक जल के अणु में दो हाइड्रोजन के परमाणु , एक ऑक्सीजन के परमाणु के साथ रासायनिक बन्धो के द्वारा जुड़े रहते है।
2. शुद्ध नमक (NaCl) दो तत्वों से मिलकर बनता है , सोडियम और क्लोरिन।
शुद्ध नमक में सोडियम आयन और क्लोरिन आयन का अनुपात 1:1 रहता है अर्थात एक अणु शुद्ध नमक में एक परमाणु सोडियम का विद्यमान रहता है और एक ही परमाणु क्लोरिन का उपस्थित रहता है।
यौगिक अणु : किसी यौगिक का वह सूक्ष्मतम कण जो स्वतंत्र अवस्था मे रह सकता है और जिसमें यौगिक के गुण पाए जाते है उसे यौगिक का अणु कहते है।
याद रखिये कि किसी भी यौगिक को रासायनिक विधियों आदि द्वारा इसके तत्वों के रूप में विघटित (तोडा) किया जा सकता है अर्थात तोडा जा सकता है।
याद रखिये कि यौगिक और मिश्रण में यह अंतर होता है कि यौगिक में तत्व आपस में रसायनिक बन्धो द्वारा जुड़े रहते है जबकि मिश्रण में तत्व आपस में रासायनिक बन्धो द्वारा जुड़े हुए नहीं रहते है।