सब्सक्राइब करे youtube चैनल

प्रश्न 6 : सुश्रुत द्वारा रचित ग्रन्थ का नाम बताइये।

उत्तर : प्राचीन भारत के महान चिकित्सक सुश्रुत ने ‘सुश्रुत संहिता‘ नामक ग्रन्थ की रचना की थी , सुश्रुत द्वारा रचित “सुश्रुत संहिता” नामक ग्रन्थ में सुश्रुत ने चिकित्सा से सम्बंधित विधियों आदि का विस्तार पूर्वक वर्णन किया है।
सुश्रुत द्वारा रचित यह ग्रन्थ संस्कृत भाषा में लिखा गया था , यह ग्रन्थ प्राचीन ग्रंथो में से एक माना जाता है , इस ग्रन्थ में आयुर्वेद विद्या और शल्यचिकित्सा के बारे में विस्तार से वर्णन किया गया है।
प्राचीन समय के जब लोग चिकित्सा के क्षेत्र में ज्यादा कुछ नहीं जानते थे उस समय सुश्रुत ने अपनी रचना ‘सुश्रुत संहिता’ में विभिन्न प्रकार की शल्यचिकित्सा के बारे में वर्णन कर चुके थे और उन्होंने अपनी इस विधा से कई शल्य अर्थात सर्जरी सफलतापूर्वक संपन्न किये थे।
इस धरती पर शल्यशास्त्र को लाने वाले आचार्य धन्वन्तरि माने जाते है , वे ही सुश्रुत संहिता ग्रन्थ के उपदेशक थे और सुश्रुत उनके शिष्य थे जो उनके उपदेशक को सुनते थे , आचार्य धन्वन्तरी के उपदेश को सुनकर ही धन्वन्तरि के शिष्य सुश्रुत ने इस ग्रन्थ की रचना की थी और इसलिए यह माना जाता है कि इस धरती पर शल्यशास्त्र को लाने वाले धन्वन्तरि पहले व्यक्ति थे।
इस ग्रन्थ में विभिन्न प्रकार के रोगों के लिए शल्य शास्त्र द्वारा उनके निदान की प्रक्रिया आदि शामिल किये गए है , सुश्रुत उस प्राचीन भारत में भी त्वचा रोपण (प्लास्टिक सर्जरी) तंत्र में पारंगत थे , इन्होने उस समय में भी विभिन्न प्रकार के त्वचा रोपण (प्लास्टिक सर्जरी) सफलतापूर्वक संपन्न किये थे , इसके अलावा उन्होंने उस समय मोतियाबिंद को निकालने और उससे सम्बंधित इलाज करने में भी वे सफलता प्राप्त की थी।
यही कारण है कि सुश्रुत को ‘प्लास्टिक सर्जरी’ का जनक कहा जाता है |
keyword : sushruta composed which text ?