द्रव्य की वह कौनसी अवस्था है जिसका आकार व आयतन निश्चित होता है ? state of matter in which the volume and shape are fixed

By  
प्रश्न 13 : द्रव्य की वह कौनसी अवस्था है जिसका आकार व आयतन निश्चित होता है ?

उत्तर : द्रव्य या पदार्थ की “ठोस अवस्था” है जिसमें आकार और आयतन दोनों निश्चित होते है।
जैसा कि हम जानते है कि किसी भी द्रव्य या पदार्थ की तीन अवस्थाएं हो सकती है जो निम्न है –
द्रव अवस्था
गैस अवस्था
वैसे पदार्थ की कुल पांच अवस्था बताई जाती है , ये दो अन्य अवस्थाएं निम्न है –
प्लाज्मा
अब हम पदार्थ इन सभी अवस्थाओं को अध्ययन करते है –
ठोस अवस्था : इस अवस्था में पदार्थ के कण इतने पास पास स्थित रहते है कि वे आपस में गति नहीं कर पाते है , पदार्थ की ठोस अवस्था में कणों की गतिज ऊर्जा का मान बहुत कम होती है , जैसा कि हम जानते है कि प्रत्येक परमाणु में इलेक्ट्रॉन गति करते रहते है लेकिन इन परमाणुओं की स्थिति निश्चित बनी रहती है यही कारण है कि ठोस अवस्था में पदार्थ का आकार निश्चित बना रहता है। जब इन्हें विभिन्न प्रकार के पात्रो में डाला जाता है तो ठोस पदार्थ अपना आयतन नहीं बदलते है इसलिए ठोस अवस्था में आकार और आयतन दोनों निश्चित होते है।
द्रव अवस्था : इस अवस्था में पदार्थ का आयतन तो निश्चित होता है लेकिन पदार्थ जब द्रव अवस्था में रहता है तो इन्हें जिस पात्र में डाला जाता है उस पात्र के हिसाब से ये अपना आकार बदल लेते है इसलिए द्रव अवस्था में पदार्थ का आकार निश्चित नहीं होता है।
गैस अवस्था : किसी भी पदार्थ या द्रव्य का गैस अवस्था में आयतन और आकार दोनों ही निश्चित नहीं होते है अर्थात इनका आयतन और अकार दोनों ही बदल जाते है।
प्लाज्मा : धरती पर पायी जाने वाली सामान्य अवस्थाओं में से यह कोई सामान्य अवस्था नहीं है अर्थात सामान्यता यह धरती पर नहीं पायी जाती है लेकिन अन्तरिक्ष में यह सामान्य रूप से पायी जाती है।
इस अवस्था में उच्च गतिज ऊर्जा के कण और आवेशित अवस्था में कण पाए जाते है।
बोस-आइंस्टीन कंडेनस्टेट : लगभग 1995 में वैज्ञानिको ने पदार्थ की एक नयी अवस्था के बारे में बताया जिसे बोस-आइंस्टीन कंडेनस्टेट जाता है।
english tag : state of matter in which the volume and shape are fixed ?