अभिक्रिया वेग रासायनिक बल गतिकी Reaction velocity in hindi chemical kinetics

रासायनिक बल गतिकी : रसायन विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत अभिक्रिया वेग , वेग को प्रभावित करने वाले कारक तथा अभिक्रिया की क्रिया विधि का अध्ययन किया जाता है उसे रासायनिक बल गतिकी कहते है।

अभिक्रिया वेग :

इकाई समय में क्रियाकारक या क्रियाफलो की सान्द्रता में हुए परिवर्तन को अभिक्रिया वेग कहते है।

अभिक्रिया वेग = क्रियाकारक या क्रियाफलो की सान्द्रता में  परिवर्तन  / परिवर्तन में लगा समय

नोट : अभिक्रिया वेग की इकाई mol L1 sहै।

समय के साथ साथ क्रिया कारको की सान्द्रता कम होती जाती है जबकि क्रियाफलो (उत्पाद) की संख्या बढ़ती जाती है।

A+B+Kinetics+The+Speed+at+Which+Reactions+Occur

द्रव्य अनुपाती क्रिया नियम से : 

अभिक्रिया का वेग क्रियाकारको की सान्द्रता के समानुपाती होता है।  प्रारम्भ में क्रियाकारको की सांद्रता अधिक होती है अतः अभिक्रिया का वेग भी अधिक होता है।  समय के साथ साथ क्रियाकारको की सान्द्रता कम होती जाती है अतः अभिक्रिया का वेग भी कम होता जाता है परन्तु अभिक्रिया का वेग कभी शून्य नहीं होता क्योंकि अभिक्रिया वेग समय अक्ष के अन्तः स्पर्शी होता है।

Image04

उपरोक्त कथन से स्पष्ट है की अभिक्रिया निश्चित वेग से घटित नहीं होती है अतः अभिक्रिया वेग दो नए पदों

औसत वेग तथा तात्क्षणिक वेग के रूप में व्यक्त करते है।

# Reaction velocity (अभिक्रिया वेग) in hindi chemical kinetics अभिक्रिया वेग रासायनिक बल गतिकी

 

One thought on “अभिक्रिया वेग रासायनिक बल गतिकी Reaction velocity in hindi chemical kinetics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!