माइक्रोसॉफ्ट वर्ड क्या होता है ? microsoft word kya hai in hindi माइक्रोसॉफ्ट वर्ड बेसिक्स world

By  

microsoft word kya hai in hindi माइक्रोसॉफ्ट वर्ड (world) क्या होता है ?

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड बेसिक्स
1. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड – यह एक वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर है जो एप्लीकेशन सॉफ्टवे अपरकेस में आता है, माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी द्वारा विकसित है।
2. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड का उद्देश्य – लेटर टाइपिंग, रिपोर्टस, डाक्यूमेन्ट तैयार करनम script
3. QAT का विस्तृत नाम- क्विक एक्सेस टूलबार।
4. QAT इसमें सेव, रीडू और प्रिंट कमाण्ड होते है। इसमे अन्य कमाण्ड भी जोडल हटा है।
5. रिबन -यह टैब पर कमाण्डो को संगठित और टॉपिक के आधार पर कमाण्ड्स के बिफोर दस्तावेजों पर कार्य कराता है।
6. टैब्स – ये रिबन के शीर्ष पर होते हैं, प्रत्येक टैब एक गतिविधि को दर्शाता है।
7. डॉयलाग बाक्स लांचर- रिबन पर मौजूद आइकान जिसको क्लिक करने पर डा. बाक्स खुलता है।
8. स्टेटस बार – यह बाँई ओर पेज व लाईन नम्बर, शब्दों की संख्या एवं प्रूफ बटन का दर्शाता है तथा दाँई ओर का बटन विंडो के लुक को कण्ट्रोल करता है।
9. व्यू आप्शन- इसमें डाक्यूमेन्ट का प्रिंट ले आउट, फुल स्क्रीन पर पढ़ना,वेबले आउट, आउटलाइन तैयार करना, ड्राफ्ट डाक्यूमेन्ट को देखना आदि शामिल हैं।
10. जुम स्लाईडर – यह View area को घटाता – बढाता है।
11. वर्टीकल स्क्रोल बार – यह डॉक्यूमेन्ट को उपर व नीचे करने का कार्य करता है।
12. टाइटल बार-यह डॉक्यूमेन्ट और प्रोग्राम के नाम को दर्शाता है।
13. सेव (Save) का शार्टकट – ब्तजस़ै
14. अनडू (Undo) का शार्टकट- ब्तजसऱ्
15. रिडू (Redu) का शार्टकट – ब्जतस़ल्
16. सेव एज (Save As) – यह डाक्यूमेन्ट को अलग फार्मेट वर्ड,टेम्पलेट अथवा पी.डी.एफ में सेव करने का विकल्प देता है।
17. ओपन (Open) (Ctrl + O) – पहले से सेव डाक्यूमेंट को एक्सेस करने की सुविधा प्रदान करता है।
18. क्लोज-वर्तमान में खुले डाक्यूमेन्ट को बन्द करने की सुविधा देता है।
19. इन्फो-वर्तमान डॉक्यूमेन्ट की सूचना देता है तथा सूचना को सम्पादित करने तथा पासवर्ड बदलने का विकल्प देता है।
20. रिसेंट-हाल ही खोली गई फाइलों को दुबारा खोलने का अवसर देता है, बार-बार काम आने वाली फाइल्स को पिन (Pin) करने में मदद देता है।
21. प्रिंट (Ctrl + P) – डाक्यूमेन्ट को प्रिंट करने, प्रिंट प्रीव्यू एवं प्रिंट सेटिंग का अवसर देता है।

31. बैकस्पेस (Backspace) Key – यह कर्सर के बायी (Left) तरफ से अक्षरों को हटाता है।
32. डिलीट (Delete ) Key यह कर्सर के दांयी तरफ से अक्षरों को हटाता है।
33. क्लिपबोर्ड (Clip board)- यह अस्थाई स्टोरेज एरिया है, जिसमें कट या कॉपी किया हुआ टेक्स्ट स्टोर होता है।
34. टेक्स्ट कॉपी करने का शार्टकट – Ctrl़C
35. टेक्स्ट पेस्ट करने का शार्टकट – Ctrl़V
36. टेक्स्ट कट करने का शार्टकट – Ctrl़X
37. होमटेब में उपस्थित ग्रुप – क्लिपबोर्ड (Clip Board), फॉण्ट (Font), पैराग्राप (Paragraph), स्टाइल (Style) एवं एडिटिंग (Editing)
38. क्लिप बोर्ड के विकल्प – Paste, Cut, Copy, Format Painter
39. Format Painter (Ctrl + Shift C) – इसका उपयोग किसी खास प्रकार के टेक्स्ट प्रारूप् को डाक्यूमेन्ट के अन्य भाग में इस्तेमाल करना।
40. फॉण्ट (Font) ग्रुप के विकल्प – Font Style, Font Sçe, फॉण्ट को छोटा व बडा करना, फॉण्ट केस को बदलना, फार्मेट को क्लियर करना (Clear Formating), फॉण्ट को बोल्ड (B), इटैलिक (/) एवं अंडरलाइन (U) करना टेक्स्ट को स्ट्राइक थू करना, टैक्स्ट के साथ सबस्क्रिप्ट (XS) और सुपर स्क्रिप्ट करना (X2), चयनित टैक्स्ट पर shadow, Glow, Reflection आदि इफेक्ट्स डालना, मनचाहे रंग से टेक्स्ट को हाईलाइट करना, टेक्स्ट का रंग आदि।
41. लाईव प्रीव्यू-इस फीचर से आप फार्मेटिंग आप्शन अप्लाई करने से पहले परिणाम देख सकते है।
42. मिनी टूलबार – इसमें काम आने वाले फार्मेटिंग कमाण्ड होते हैं, तथा टेक्स्ट के चयन करने पर सेमी ट्रांसपेरेंट मोड में दिखाई देती हैं।
43. Ms word 2010 में डिफाल्ट फाण्ट -कैलिबी (Calibri)
44. Ms word 2010 में डिफाल्ट फाण्ट साइज – 11
45. Change Case (Font Case) – चुने गये टेक्स्ट के करैक्टर को अपरकेस (COMPUTER), लोअरकेस (computer) या दूसरे केस में बदलना।
46. टागल बटन – Bold, Italic, Underline, Strikethrough ,subscript, and superscript बटन आदि।
47. क्लियर फार्मेटिंग – सलेक्ट किये गये टेक्स्ट से सभी प्रकार के फार्मेट और स्टाइल हटा सकते है।
48. पैराग्राफ फार्मेटिंग – पैराग्राफ के इंडेटेंशन, एलाइनमेंट, लाइन स्पेसिंग, स्पेस बिफोर पैराग्राफ, स्पेस आफटर पैराग्राफ को बदलकर पैराग्राफ के लुक को बदल सकते हैं।
49. पैराग्राफ अलाइनमेंट – लेफ्ट और राईट मार्जिन के बीच पैराग्राफ में टैक्स्ट की प्रत्येक लाइन की पोजीशन को पैराग्राफ अलाइनमेंट कहते है।
50. पैराग्राफ ग्रुप के विकल्प – बुलेट लिस्ट, आर्डरडध् नंबर लिस्ट, मल्टी लेवल लिस्ट, इंडेट घटानाध्बढाना, सार्ट करना, पैराग्राफ मार्क्स दिखाना, टेक्स्ट को बाई ओर, दाई ओर, बीच में अलाईन करना, अलाइनमेन्ट जस्टीफाई करना, लाइन और पैराग्राफ स्पेसिंग, पैराग्राफ शेडिंग और बार्डर।
51. अलाइन टेक्स्ट लेफ्ट – पैराग्राफ की प्रत्येक लाइन को लेफ्ट मार्जिन पर अलाइन करता है।
52. सेण्टर-पैराग्राफ की प्रत्येक लाइन को लेफ्ट मार्जिन एवं राईट मार्जिन के बीच सेण्टर अलाइन करता है।
53. अलाइन टेक्स्ट राइट-पैराग्राफ की प्रत्येक लाइन को राइट मार्जिन पर अलाइन करता है।
54. जस्टिफाई – पैराग्राफ की प्रत्येक लाइन को लेफ्ट और राईट मार्जिन के मध्य अलाइन करता है। एक समरूप लेफ्ट एण्ड राईट एज दिखाता है।
55. लाइन स्पेसिंग -पैराग्राफ में टेक्स्ट की लाइन के बीच का स्पेस ।
56. पैराग्राफ स्पेसिंग – पैराग्राफ के पहले और बाद में उपलब्ध स्पेस।
57. डिफाल्ट लाइन स्पेसिंग – 1. 15.
58. डिफाल्ट पैराग्राफ स्पेसिंग – 1.0 पोईंट।
59. पैराग्राफ इंडेटिंग – इसका तात्पर्य पैराग्राफ को बाएं से दायें या दोनों मार्जिन से दूर ले जाना है।
60. फर्स्ट लाइन इंडेट -जब पैराग्राफ की पहली लाईन को इंडेट किया जाता है।
61. हैंगिंग डंटेट – जब पैराग्राफ की पहली लाइन को छोड़कर बाकी सभी लाइनों को इंडेंट करते है।
62. टाइटल बार – ms word document के शीर्ष पर लम्बवत् होता है, जिसमें डाक्यूमेंट का शीर्षक होता है।
63. स्टेटस बार – डाक्यूमेन्ट के सबसे नीचे होरिजोंटल बार को स्टेटस बार कहते है।
64. स्टेटस बार पर उपलब्ध विकल्प – पेज. नम्बर, वर्ड काउंट, स्पेलिंग एवं ग्रामर चेक, लैंग्वेज इत्यादि।
65. पेज ले आउट में ग्रुप – थीम, पेज सेटअप, पेज बैकग्राउंड पैराग्राफ आदि।
66. थीम ग्रुप में उपलब्ध विकल्प-डाक्यूमेन्ट के डिजाईन, थीम के कलर, थीम के फाण्ट , थीम के इफेक्ट की बदलना।
67. पेजसेटअप में उपलब्ध विकल्प – मार्जिन, ओरिएन्टेशन, साइज, कॉलम, ब्रेक्स, लाइन का हायफेनेशन, आदि।
68. मार्जिन – पूरे डाक्यूमेंट या करंट सेशन का मार्जिन।
69. ओरिएन्टेशन – पोट्रेट एवं लैंडस्केप ले आउट में पेज ले आउट बदलना।
70. साइज – पेज की साईज चुनना।
71. कॉलम – टेक्स्ट को 2 या अधिक कॉलम में विभाजित करें।
72. ब्रेक्स – पेज सेक्शन या कॉलम ब्रेक जोड़ता है।
73. लाइन नम्बर – डाक्यूमेंट की प्रत्येक लाइन के बगल में मार्जिन में लाइन नम्बर जोड़ता है।
74. Hyphenation – इसे टर्न ऑन करने पर वर्ड सिलेबल के बीच लाइन ब्रेक करने की सुविधा देता है।
75. पेज बैक ग्राउण्ट में उपलब्ध ऑप्शन – वाटरमार्क, पेज कलर, पेज बार्डर।
76. Watermark – पेज के कंटेट के पीछे घोस्टेड टेक्स्ट इन्सर्ट करता है।
77. पेजकलर – पेज के बैक ग्राउण्ड के लिए कलर का चयन कर सकते है।
78. पेज बार्डर – पेज पर बार्डर जोड या हटा सकते है।
79. पैराग्राफ ग्रूप मे उपलब्ध ऑप्शन –& Indent, Spacing.
80. Indent – एक निश्चित संख्या तक पैराग्राफ की बायी ओर दांयी साइड में मूव करने के ङ्केलिए।
81. Spacing – चयनित पैराग्राफ के नीचे, पैराग्राफ के बीच स्पेसिंग बदल सकते हैं।
82. पेज पर चयनित आब्जेक्ट को पोजीशन करना – पोजीशन।
83. Word Text – इमेज या चयनित ऑब्जेक्ट के चारों ओर टेक्स्ट Wrap के तरीके को बदलना।
84. Bring Forward – चयनित ऑब्जेक्ट को सामने (Forward) लाना।
85. Send Backward – चयनित ऑब्जेक्ट को बैकग्राउंड में ले जाना।
86. Selection Pane – चयनित ऑब्जेक्ट की visibility एवं Order का बदला जा सकता है।
87. Align – मल्टीपल चयनित ऑब्जेक्ट के एज को अलाइन करना।
88. Group – अनेक ऑब्जेक्टस को एक साथ ग्रुप करना।
89. Rotate – चयनित ऑब्जेक्ट को रोटेट या फ्लिप कर सकते है।

महत्वपूर्ण प्रश्न
1. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड हैं –
(अ) एक प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर (स) एक एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर
(ब) एक ऑपरेटिंग सॉफ्टवेर (द) (अ) और (स)
2. QAT का विस्तारित रूप हैं –
(अ) क्विक एक्सैस टूलबार (ब) क्विक एप्लिकेशन टूल
(स) क्विक एक्सैस टेक्नोलोजी (द) उपरोक्त मे से कोई नहीं
3. ………..यह व्यू एरिया को घटाता – बढ़ाता हैं-
(अ) व्यू ऑप्शन (ब) जूम स्लाइडर (स) टाइटल बार (द) उपरोक्त मे से कोई नहीं
4. क्लिपबोर्ड,फॉन्ट, पैराग्राफ, स्टाइल और एडिटिंग विकल्प होते हैं –
(अ) होम टैब (ब) इन्सर्ट टैब (स) पेज लेआउट टैब (द) व्यू टैब
5. फारमैट पेंटर का शॉर्ट कट हैं-
(अ) Ctrl़AltC (ब). Shift C (स) Ctrl ़ C (द) Ctrl ़ ShiftC
6. एमएस वर्ड 2010 मे डिफाल्ट फॉन्ट होता हैं –
(अ) Arial (ब) टाइम्स न्यू रोमन (स) Calibri (द) Verdana
7. टोगल बटन होते हैं –
(अ) Strikethrough (ब) Subscript (स) Superscript (द) उपरोक्त सभी ।
8. पैराग्राफ की प्रत्येक लाइन को लेफ्ट और राइट मार्जिन के मध्य अलाइन करना –
(अ) अलाइन टेक्स्ट राइट (ब) अलाइन टेक्स्ट लेफ्ट
(स) अलाइन टेक्स्ट सेंटर (द) जस्टिफाई
9. एमएस वर्ड डोक्यूमेंट मे थीम, मार्जिन, ओरिएंटशन, eff~ects आदि विकल्प उपलब्ध होते हैं –
(अ) होम टैब (ब) इन्सर्ट टैब (स) पेज लेआउट टैब (द) व्यू टैब (स)
10. हैंगिंग इंडेंट से तात्पर्य हैं-
(अ) जब पैराग्राफ की पहली लाइन को इंडेंट किया जाता हैं।
(ब) जब पैराग्राफ की पहली लाइन को छोड़कर बाकी लाइनों को इंडेंट किया जाता हैं।
(स) जब पूरे पैराग्राफ को इंडेंट किया जाता हैं।
(द) उपरोक्त सभी
11. HYPHENATION से तात्पर्य हैं –
(अ) यह टेक्स्ट को 2 या अधिक कॉलम मे विभाजित करता है।
(ब) यह पेज सेक्शन या कॉलम को ब्रेक करता हैं।
(स) यह वर्ड सिलेबल के बीच लाइन ब्रेक करने की सुविधा देता हैं।
(द) उपरोक्त मे से कोई नहीं
12. SELECTION PANE से तात्पर्य हैं –
(अ) चयनित ऑब्जेक्ट को फॉरवर्ड लाना ।
(ब) चयनित ऑब्जेक्ट को बैकग्राउंड मे ले जाना
(स) चयनित ऑब्जेक्ट की विसिबिलिटी एवं ऑर्डर को बदलना ।
(द) उपरोक्त मे से कोई नहीं
13. निम्न में से कौन सा एम.एस.वर्ड का फॉण्ट स्टाइल नहीं है –
(अ) सुपरस्क्रिप्ट (ब) बोल्ड (स) रेगुलर (द) इटैलिक
14. निम्न में से किस की (Key) की मदद से आप कर्सर के दायें ओर के अक्षरों को डिलीट कर सकते हैं –
(अ) एंड (End) (ब) बैकस्पेस (Backspace) (स) डिलीट (Delete) (द) होम (Home)
15. पेज ओरिएंटेशन (Page orientation) आप्शन किस टैब में उपलब्ध है –
(अ) पेज ले आउट (ब) रिफरेन्स (स) व्यू (द) मॅलिग
16. टाइम्स न्यू रोमन क्या है –
(अ) फॉण्ट (ब) पेज लेआउट (स) प्रिंटिंग (द) इनमें से कोई नहीं
17. डॉक्यूमेंट में एक नया पैराग्राफ इंटर करने के लिए कौन सी की प्रेस की जाती है –
(अ) CTRL (ब)  ALT (स) ENTER (द) ESC
18. आप एक पैराग्राफ को …….Key (s) की मदद से सेलेक्ट कर सकते है-
(अ) CTRL़END (ब) CTRL़END SHIFt~HOME
(स) CTRL़SHIFt~DOWNAÙOW (द) CTRL़SHIFt~END
19. किस व्यू की मदद से आप टेक्स्ट या गाफिक्स का प्रिंट से पहले पूर्वालोकन कर सकते हैं –
(अ) नार्मल (ब) प्रिंट लेआउट (स) आउटलाइन (द) वेब लेआउट
20. पोट्रेट एवं लैंडस्केप क्या है –
(अ) पेज ओरिएटेशन (ब) पेपर साइज (स) पेज लेआउट (द) इनमें से सभी
21. इनमें से कौनसा फीचर सिलेक्टड एरिया के फोर्मेटिंग को हटाता है ?
(अ) क्लियर फोर्मेटिंग (ब) फॉर्मेट पेंटर (स) पेज सेटअप (द) स्टाइल्स
22. इनमें से क्या इस्तेमाल कर आप डॉक्यूमेंट के मोड को पोट्रेट से लैंडस्कोप में बदल सकते हैं-
(अ) हैडर और फूटर टूलबार (ब) प्रिंट लेआउट व्यू
(स) पेज सेट अप डायलॉग बॉक्स (द) इनमें से कोई नहीं
23. एम. एस. वर्ड 2010 में बनी हुई फाइल का एक्सटेन्शन होता हैं –
(अ) .docx (ब) .wrd (स) .rtf (द) .bmp
24. निम्न में से किस कमाण्ड का प्रयोग Font की साइज को छोटा करने के लिए किया जाता हैं ?
(अ) Superscript (ब) Subscript (स) Shrink Font (द) Strike through
25. वर्ड 2010 में टेक्स्ट एलाईनमेन्ट कितने प्रकार के होते हैं ?
(अ) एक (ब) दो (स) तीन (द) चार
26. ……. एक Superscript का उदाहरण हैं:
(अ) X2 (ब) X2 (स) X2 (द) उपरोक्त सभी