विज्ञान मेले के क्या लाभ हैं importance of Science Fair in hindi विज्ञान मेले का महत्व , उद्देश्य आयोजन प्रयोग

By  

importance of Science Fair in hindi विज्ञान मेले के क्या लाभ हैं विज्ञान मेले का महत्व , उद्देश्य आयोजन प्रयोग  ?

प्रश्न  विज्ञान मेले के क्या लाभ हैं ?
What is the importance of Science Fair ?
उत्तर- विज्ञान मेले के लाभ
1. विज्ञान मल का सबसे मुख्य लाभ इसका जन कल्याण का पक्ष हैं। इसकी सहायता स मानव कल्याण के उपयोगी पक्ष के प्रति जन कल्याण में जागति पैदा करने व रुचि जाग्रत करने का कार्य हो सकता है जिससे विज्ञान में शोधों की गति बढ़ सके।
2. छात्रों में वैज्ञानिक-रुचि प्रेरित करने और विकसित करने के लिए विज्ञान मेले उपयुक्त तौर पर सहायक हो सकते हैं। इनके माध्यम से विभिन्न प्रकार के प्रोजेक्ट तैयार करने, उपकरण बनाने अथवा लेख तैयार करने के क्रम में छात्र जिज्ञासा को तुष्टि मिलती है, उसकी छानबीन की प्रकृति को पोषण मिलता है। वह बहुत-सा पाठ्यवस्तुगत और पाठ्य-सहगामी-ज्ञान अर्जित करता है और जितना अर्जित करता है. उतनी ही अधिक अर्जित करने की जिज्ञासा प्राप्त करता है। इस प्रकार छात्र अपने रुचि क्षेत्र में अन्तः प्रेरणा से लगातार आगे बढ़ता चला जाता है। उसमें आत्म-स्वावलम्बन ओर आत्म-निर्भरता का विकास होता है।
3. विज्ञान-मेले छात्रों में वैज्ञानिक प्रतिभा की खोज में भी महत्त्वपूर्ण योगदान देते है। जो छात्र-वैज्ञानिक-रुचियां विकसित करता जा रहा है, उसे अभिव्यक्ति के उप और प्रदर्शन के अवसर मिल रहे हैं।
इस प्रकार ये मेले एक ओर प्रतिभा के विकास में सहयोगी हैं. दसरी और को शिक्षक-वर्ग के सम्पर्क में आने का अवसर मिल जाता है, जिससे वास्तव में छात्रों का चयन शिक्षक वर्ग के लिए सम्भव हो पाता है।
4. विज्ञान-मेले के माध्यम से शिक्षकों को भी अपने कार्य में एक नयेपन का अनुभव होता है और उनकी रुचि बढ़ती है। लम्बे समय तक कार्य करते-करते शिक्षक का उसके प्रति उदासीन हो जाना स्वाभाविक ही है। पर विज्ञान मेला हर शिक्षक को कुछ न कुछ रचनात्मक कार्य कराके मूलभूत समस्याओं को हल करने और प्रायोगिक-कौशल विकसित करने का अवसर देता है। इस अवसर का विशेष पक्ष यह है कि इसमें शिक्षक केवल कशाग्र और जिज्ञासु छात्रों के सम्पर्क में ही आता है।
विज्ञान मेले की सफलता के सुझाव-विज्ञान मेले के आयोजन में किसी प्रकार की अव्यवस्था से बचने के लिए निम्न बिन्दुओं पर ध्यान देना चाहिए-
1. विज्ञान मेले के आयोजन से पूर्व प्रशासन के अधिकारियों एवं संस्था प्रधान की अनुमति ले लेनी चाहिए।
2. विज्ञान मेले के लिए धन की व्यवस्था का अनुमान लगाकर उसकी व्यवस्था कर लेनी चाहिए।
3. विज्ञान मेले में भाग लेने वाली टीमों की ठहरने की उचित व्यवस्था होनी चाहिए।
4. विज्ञान मेले में रखी जाने वाली प्रतियोगिताओं एवं समय की जानकारी समी सहभागियों को छपवाकर दे देनी चाहिए।
5. विज्ञान मेले में निर्णायकों का चनाव सावधानी से करना चाहिए जिससे भेद-भाव की संभावना न रहे।
6. विज्ञान मेले में विजयी छात्रों को शिक्षा अधिकारियों द्वारा छात्रवृत्ति/शुल्क व का प्रयास करना चाहिए एवं पुरस्कार भी तत्काल देने चाहिए।
प्रश्न – संक्षिप्त टिप्पणी लिखिये-क्षेत्र पर्यटन की शैक्षिक उपयोगिता ।
Write short note on Educational value of Field Trips.
उत्तर-विद्यालय एक सीमित स्थान है यहाँ छात्रों के लिए सीखने की सम्भावनाएँ भी सीमित रहती हैं। यदि रसायन विज्ञान शिक्षण को व्यवहारिक जीवन के लिए उपयोगी और महत्त्वपूर्ण बनाना चाहते हैं तो इन प्रत्यक्ष अनुभवों और इनको प्रदान करने वाले अवसरों की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। विज्ञान पर्यटन से तात्पर्य उन स्थानों पर घूमना और अध्ययन करना है जहाँ वैज्ञानिक तथ्यों, घटनाओं और प्रक्रियाओं का प्रत्यक्ष निरीक्षण और अध्ययन सम्भव है विज्ञान में इस प्रकार के स्थानों में लि, औद्योगिक केन्द्र अस्पताल आदि आते हैं। रसायन विज्ञान में हम छात्रों को किसी अम्लोत्पादन फैक्ट्री. साबुन बनाने की फैक्ट्री प्लास्टिक फैक्ट्री, औषधि निर्माण स्थल आदि स्थलों का भ्रमण करवा सकते हैं। ऐसे स्थानों पर जाकर छात्र इन स्थलों का प्रत्यक्ष एव व्यवहारिक अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।
पर्यटन के उद्देश्य-पर्यटन के उद्देश्य छात्रों के आयु व मानसिक स्तर के अनसार भिन्न-भिन्न होते हैं
प्राथमिक स्तर पर पर्यटन के उद्देश्य-
1. प्रकृति में रुचि विकसित करना ।
2. अस्पष्ट वैज्ञानिक धारणाओं को स्पष्ट करना ।
3. अपने आस-पास के वातावरण में दिखाई देने वाली रसायन की वस्तुओं का ज्ञान कराना।
माध्यमिक स्तर पर छात्रों के लिए भ्रमण के निम्न उद्देश्य होते हैं-
1. विभिन्न प्रकार की रसायन विज्ञान एवं इससे सम्बन्धित वस्तुओं के वैज्ञानिक अध्ययन के अवसर प्रदान करना।
2. छात्रों में वैज्ञानिक अभिरुचि विकसित करना।
3. छात्रों में वैज्ञानिक अभिवृत्तियों का विकास करना ।
4. छात्रों को प्रयोगशालाओं के सम्पर्क में लाकर वैज्ञानिक विधि से कार्य करने का प्रशिक्षण देना।
5. छात्रों को रसायन विज्ञान के व्यवहारिक महत्त्व की जानकारी देना।
पर्यटन से लाभ
1. वैज्ञानिक स्थानों के पर्यटन से छात्रों को उन उद्देश्यों को प्राप्त करने में सहायता मिलती है जो कक्षा शिक्षण द्वारा सम्भव नहीं है।
2. पर्यटन छात्र-अध्यापक और छात्र-छात्रा के बीच औपचारिकतापूर्ण सम्बन्धों को समाप्त कर देते हैं। इसमें सभी परस्पर एक दूसरे को गहराई से समझते हैं।
3. पर्यटन से छात्रों में वैज्ञानिक अभिवृत्ति का विकास वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास होता है।
4. पर्यटन अध्यापकों के लिए क्रियाशील व प्रतिभाशाली बालकों की पहचान करने का उत्तम साधन है।
5. पर्यटन पर जाने के बाद छात्र अपना दैनिक पाठ्यक्रम पूरा करने में पुनः रुचि लेने लगते हैं उनको पढ़ाई नीरस नहीं लगती।