hygroscopicity in hindi meaning definition आर्द्रताग्राहिता किसे कहते है परिभाषा क्या है अर्थ मतलब

By  

आर्द्रताग्राहिता किसे कहते है परिभाषा क्या है अर्थ मतलब hygroscopicity in hindi meaning definition ?

वायुमण्डल की नमी ग्रहण करने की क्षमता क्या कहलाती है?
-आर्द्रताग्राहिता (Hygroscopicity)

ऐसा विलयन जिसमें हाइड्रोजन आयनों (H) का सान्द्रण हाइड्रॉक्साइड आयनों (OH) से अधिक हो, क्या कहलाता है? -अम्लीय विलयन
ऐसा विलयन जिसमें हाइड्रॉक्साइड आयनों (OH) का सांदण हाइड्रोजन आयनों (H़) से अधिक होता हो क्या कहलाता है? -क्षारीय विलयन
कुछ क्रिस्टलीय पदार्थों का अपने क्रिस्टलीय जल को वायुमण्डल में निकालकर चूर्ण रूप में परिवर्तित होने का गुण क्या कहलाता है?
-प्रस्फुटन (efflorescence)
कुछ ठोस पदार्थ टूटने के स्थान पर पतली चादर के रूप में परिवर्तित हो जाते हैं, ये गुण क्या कहलाता है? -अघातवर्धनीयता
पदार्थों का वह गुण जिसके द्वारा वह अपने ऊपर लगाये गये विरूपक बल का विरोध कर पुनः अपनी स्वाभाविक अवस्था प्राप्त कर लेता है, क्या कहलाता है? -प्रत्यास्थता
पदार्थों का वह गुण जिसके कारण पदार्थ पुनरू अपनी स्वाभाविक स्थिति में नहीं आ पाते, क्या कहलाता है? -लचीलापन (Plsaticity)

विलयन
दो या दो से अधिक पदार्थों का समांग मिश्रण क्या कहलाता है ?
-विलयन
विलयन में विलेय के कणों की त्रिज्या क्या होती है?- 10-7सेमी से कम
विलयन में जो पदार्थ अपेक्षाकृत अधिक मात्रा में होता है उसे क्या कहते है? -विलायक
विलयन में जो पदार्थ कम मात्रा में उपस्थित होता है उसे क्या कहते हैं?
-विलेय (Solute)
सार्वत्रिक विलायक किसे कहते हैं? -जल को
किसी निश्चित ताप पर बना विलयन जिसमें विलेय पदार्थ की अधिकतम मात्रा घुली हो क्या कहलाता है? -संतृप्त विलयन
किसी द्रव में गैस की विलेयता पर ताप बढ़ाने से क्या प्रभाव पड़ता है?
-घट जाती है
किसी विलायक या विलयन की इकाई मात्रा में उपस्थित विलेय की मात्रा को क्या कहते हैं? -विलयन का सांद्रण
जिस विलयन में विलेय की पर्याप्त मात्रा घुली हो उसे क्या कहते हैं ?
-सान्द्र विलयन
जिस विलयन में विलेय की कम मात्रा घुली है वह क्या कहलाता है?
-तनु विलयन
जब किसी पदार्थ के कण, दूसरे पदार्थ के कणों के इर्द-गिर्द छितरा दिये जाते हैं, तो यह क्रिया क्या कहलाती है? -परिक्षेपण

समांगी एवं विषमांगी मिश्रण
मिश्रण के घटक समांगी मिश्रण विषमांगी मिश्रण
ऽ ठोस-ठोस
ऽ ठोस-द्रव
ऽ ठोस-गैस
ऽ द्रव-ठोस
ऽ द्रव-द्रव
ऽ द्रव-गैस
ऽ गैस-ठोस
ऽ गैस-द्रव
ऽ गैस-गैस काँसा, पीतल, सिक्का
सोडियम क्लोराइड का जलीय विलयन
आयोडीन वाष्प एवं वायु
अमलगम
जल-ऐल्कोहॉल, ऐल्कोहॉल बैंजीन
नम वायु
वायु में सीसा (हाइड्रोजन व लेड)
कोल्ड ड्रिंक (CO2 एवं जल)
वायुमण्डलीय वायु चीनी व नमक का घोल, गन पाउडर।
मिट्टी व पानी, रेत एवं पानी, नमक व तेल।
धुआँ।
चारकोल में अवशोषित ब्रोमीन।
अमिश्रित द्रव, तेल व जल, बैंजीन-जल।
कार्बन टेट्राक्लोराइड, जल।
तालाब, झील आदि में।
चारकोल एवं क्लोरीन।
मिट्टी व चीनी।

मिश्र धातुएँ एवं उनका उपयोग
मिश्र धातु संघटन उपयोग
ऽ ब्रास (पीतल)
ऽ कांसा
ऽ स्टील

ऽ गन धातु
ऽ कृत्रिम सोना
ऽ सोल्डर
ऽ नाइक्रोम
ऽ स्टेनलेस स्टील

ऽ काँस्टेन्टन
ऽ डेल्टा धातु

ऽ डच धातु
ऽ डूरैलूमिन
ऽ गन धातु
ऽ जर्मन सिल्वर

ऽ मैग्नेलियम
ऽ मोनल धातु

ऽ मुंट्ज धातु
ऽ प्यूटर
ऽ फॉस्फोरस ब्रोन्ज
ऽ टाँका
ऽ जंगरोधी इस्पात
ऽ मुद्रा धातु
ऽ टंगस्टन इस्पात

ऽ वुड्स धातु ताँबा (60-80 प्रतिशत) + जस्ता (40-20 प्रतिशत)
ताँबा (75-90 प्रतिशत) + टिन (25-10 प्रतिशत)
लोहा + कार्बन

ताँबा (87 प्रतिशत) + टिन (10 प्रतिशत) + जस्ता (3 प्रतिशत)
ताँबा (95 प्रतिशत) ़ एल्यूमिनियम (5 प्रतिशत)
सीसा (50-70 प्रतिशत) ़ टिन (50-30 प्रतिशत)
निकेल (60 प्रतिशत) ़ फेरस (25 प्रतिशत) + क्रोमियम (15 प्रतिशत)
फेरस (89-4 प्रतिशत) ़ क्रोमियम (10 प्रतिशत + मैंगनीज (0.35 प्रतिशत)
+ कार्बन (0.25 प्रतिशत)
60% ताँबा तथा 40% निकिल
55% ताँबा, 41% जस्ता तथा 4% लोहा

80% ताँबा तथा 20% जस्ता
95% एल्युमीनियम, 4% ताँबा, 0.5% मैग्नीशियम तथा 0.5% मैंगनीज
88% ताँबा, 10% टिन तथा 2% जस्ता
25-50% ताँबा, 24-35% जस्ता तथा 10-35% निकिल

90-98% एल्युमीनियम, 2-10% मैग्नीशियम
27% ताँबा, 70% निकिल तथा 2-3% लोहा

60% ताँबा तथा 40% जस्ता
75% टिन तथा 25% सीसा
89% ताँबा, 10% टिन तथा 1% फॉस्फोरस
67% टिन तथा 33% सीसा
73% लोहा, 18% क्रोमियम, 8% निकिल तथा 1% कार्बन
75% सीसा, 5% टिन तथा 20% एन्टीमनी
94% लोहा, 5% टंगस्टन तथा 1% कार्बन

14.5% केडमियम, 19% टिन, 33% सीसा तथा 33.5% बिस्मथ बर्तन, बिजली का सामान।
सिक्का, मूर्ति, बर्तन।
जहाज, यातायात के साधन तथा
भवन निर्माण सामग्री।
मशीन पुर्जे, बन्दूकें।
आभूषण।
जोड़ने के काम में।
विद्युत प्रतिरोधक।
बर्तन, सजावटी सामान।

प्रतिरोध बक्स, थर्मोकपल आदि
बेयरिंग, कपाट तथा जलयानों के पखे
बनाने में
सस्ते आभूषण बनाने में
वायुयानों के कुछ भाग बनाने में
तोप, गेयर तथा बेयरिंग आदि बनाने में
विद्युत प्रतिरोध, घरेलू बर्तन तथा
कलात्मक सामग्री बनाने में
तुलाएं और हल्के औजार बनाने में
चद्दरों, तारों, सामान रखने के पात्र आदि
बनाने में
नावों की तख्ता जड़ाई में
घरेलू बर्तन बनाने में
गेयर, बियरिंग, स्प्रिंग आदि बनाने में
धातुओं में टाँका लगाने के काम में
मोटर, साइकिल तथा बर्तन आदि बनाने
छापेखाने के टाइप बनाने में
मशीनी औजार बनाने में जिनमें तेज
दृढ़ काटने वाली धार होती है
धातु पैटर्न, डायाफ्राम आदि बनाने में

प्रमुख विलायक एवं विलेय
विलायक विलेय पदार्थ
ऽ जल (सर्वोत्तम विलायक) चीनी, नमक, नौसादर, अमोनिया, लवण
ऽ ईथर मोम, तेल, चर्बी
ऽ नैफ्था रबड़
ऽ ऐल्कोहॉल कपूर, चमड़ा, लाख, आयोडीन, वार्निश
पॉलिश
ऽ कार्बन टेट्राक्लोराइड वसा, घी, तेल, मोम
ऽ कार्बन डाइसल्फाइड फॉस्फोरस एवं गन्धक
ऽ तारपीन का तेल पेन्ट व रेजिन

वे विलयन जिनमें विलेय के कणों का आकार 1 नैनो मी से 100 नैनो मी के मध्य होता है क्या कहलाते हैं? -कोलॉइड
कोलॉइडी विलयन में प्रकाश के प्रकीर्णन को क्या कहते हैं?
-टिण्डल प्रभाव (Tyndall effect)
कोहरा क्या है? -गैस, द्रव व बादल का कोलॉइडी विलयन
जब कोई द्रव किसी ठोस में परिक्षेपित होकर कोलॉइडी विलयन बनाता है वह क्या कहलाता है? -जेल (gel)
अतिचालकता व संक्रमण ताप
डच भौतिक शास्त्री, एच. कामरलिग ओनेस जब निम्न ताप पर पारे का विद्युत् प्रतिरोध माप रहे थे तो उन्हें यह देखकर बहुत आश्चर्य हुआ कि 4-12 ताप पर पारे का प्रतिरोध लुप्त हो गया। इस ताप तक ठण्डे किये गये पारे के किसी वलय में कोई विद्युत् धारा प्रवाहित करने पर यह देखा गया कि धारा बिना किसी क्षय के दीर्घ अवधि तक प्रवाहित होती रही। धातुओं के विद्युत् प्रतिरोध के इस प्रकार लुप्त होने की घटना को अति चालकता कहते हैं और ऐसी धातुओं को अति चालक कहते हैं। आज तक 23 धातुओं में यह गुण पाया जा चुका है। इनमें से प्रत्येक धातु किसी विशेष ताप पर अति चालकता का गुण प्रदर्शित करती है। इस ताप को संक्रमण ताप कहते हैं। कुछ धातुओं के संक्रमण ताप इस प्रकार हैं : जिंक के लिए 0.791, सीसे के लिए 7.761, बेनेडियम के लिए 4.31, नियोबियम के लिए 9ः22।

मक्खन किस प्रकार का कोलॉइडी विलयन है? -जल
जब कोई ठोस पदार्थ द्रव में परिक्षेपित होकर कोलॉइड विलयन बनाता है वह क्या कहलाता है? -सॉल (Sol)
ऐसे विलयन जो जैविक झिल्ली से होकर गमन नहीं कर सकते क्या कहलाते है? -कोलॉइडी विलयन
जब किसी कोलॉइडी विलयन में किसी विद्युत् अपघट्य का विलयन थोड़ी मात्रा में मिलाया जाता है तो कोलॉइडी कण परस्पर संयुक्त अवक्षेप बना लेते हैं यह क्रिया क्या कहलाती है? -स्कंदन (coagulation)
जब एक द्रव दूसरे अमिश्रणीय द्रव में परिक्षेपित होकर कोलॉइडी विलयन बनाता है, क्या कहलाता है? -पायस (Emulsion)
दूध किस प्रकार का कोलॉइडी विलयन है? -पायस (Emulsion)
विभिन्न कोलॉइडी तन्त्र एवं उनके उदाहरण
परिक्षेपित
प्रावस्था परिक्षेपण
माध्यम कोलॉइडी
विलयन का
प्रकार उदाहरण
ठोस
ठोस

 

ठोस
द्रव
द्रव

गैस

गैस

द्रव ठोस
द्रव

 

गैस
द्रव
गैस

ठोस

द्रव

ठोस ठोस सॉल
सॉल

 

ऐरोसॉल
पायस
ऐरोसॉल

ठोस फॉम

फॉम

जैल रंगीन काँच, रंगीन पत्थर, आदि।
स्टार्च, प्रोटीन, ऑर्सेनिक सल्फाइड
विलयन, स्वर्ण विलयन, ग्लू.
भारतीय स्याही, गदला जल, पेन्ट
आदि।
धुआँ, धूल आदि।
दूध, क्रीम, लीवर तेल आदि।
बादल, कोहरा, ओस, कीटनाशक
दवाइयाँ आदि।
धातुओं में अधिशोषित गैसें, प्युमिस
पत्थर आदि।
झाग, फॉम, साबुन के झाग, फूली हुई क्रीम, तोड़े हुए अण्डे की सफेद जर्दी, बीयर आदि।
जैल पनीर, मक्खन, जैली आदि।

ऐसा विलयन जिसमें हाइड्रोजन आयनों (H़) और हाइड्रॉक्साइड आयनों (OH-) का सान्द्रण समान होता है, क्या कहलाता है?
-उदासीन विलयन