Header File – stdlib.h in c language in hindi , हैडर फाइल : stdlib.h क्या है , कंप्यूटर भाषा हिंदी में

By  
हैडर फाइल : stdlib.h क्या है , कंप्यूटर भाषा हिंदी में , Header File – stdlib.h in c language in hindi :-
stdlib.h header file मे सभी यूटिलिटी function का store किया जाता  है |Utility function का use  कंप्यूटर के untility task मे किया जाता है |इस header file मे , निन्म functions होते हो :-
1. abs()
इस function का use किसी variable की absolute value के लिए किया जाता है |absolute value हमेशा positive होती है |इसमें हमेशा integer type variable ही pass होता है |
इसका उदाहरण है :-
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int a= abs(500)
int b=abs(-600);
int c=a-b;
printf(“absolute value of a is %d”,a);
printf(“absolute value of d is %d”,b);
printf(“a-b is %d”,abs(c));
getch();
}आउटपुट होगा :-
absolute value of a is 500
absolute value of d is 600
a-b is 100
अतः यहा पर a-b का आउटपुट -100 होगा लेकिन abs(c) function से 100 ही print होगा |

2.atof()
इस function का use string को float या double मे convert किया जाता है |इस function मे string को function parameter के तरह pass किया जाता है | और आउटपुट मे double type value मिलती है |string मे कोई भी white space नहीं आना चाहिए क्योकि अगर string मे white space आ जाता है तो वो double / floating मे convert नहीं हो सकता है |
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int r;
float arae;
char gravity[ ]= ‘9.8’;
int pi=’3.145′;
printf(“Enter radius”);
scnaf(“%d”,&r);
float g=atof(gravity);
float p=atof(pi);
printf(“value of gravity = %f”,g);
printf(“value of pi = %f”,p);
arae = p*r*r;
printf(“Area = %f “,area );
getch();
}

इस उदहारण मे , string pi की value को float मे convert करके ‘p’ मे store कर देते है |id float variable ‘p’ को area के formula मे pi की value की तरह use किया जाता है |

आउटपुट होगा :
Enter radius 3
value of gravity = 9.8
value of pi = 3.145
Area = 29.67

3.atoi()
इस function का use string को integer मे convert किया जाता है |इस function मे string को function parameter के तरह pass किया जाता है | और आउटपुट मे integer  type value मिलती है |string मे कोई भी white space नहीं आना चाहिए क्योकि अगर string मे white space आ जाता है तो वो integer मे convert नहीं हो सकता है |
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int b , area;
char gravity[ ]= ’10’;
int length=’20’;
printf(” Enter Breath “);
scnaf(“%d”,&b);
int g=atoi(gravity);
int l =atoi(length);
printf(“value of gravity = %d”,g);
printf(“value of length= %d”,l);
arae = l*b;
printf(“Area = %d “,area );
getch();
}

इस उदहारण मे , string length की value को integer मे convert करके ‘l’ मे store कर देते है |इस integer  variable ‘l’ को area के formula मे length की value की तरह use किया जाता है |

आउटपुट होगा :
Enter Breath 3
value of gravity = 10
value of length = 20
Area = 60

4.atol()
इस function का use string को long integer मे convert किया जाता है |इस function मे string को function parameter के तरह pass किया जाता है | और आउटपुट मे long integer  type value मिलती है |string मे कोई भी white space नहीं आना चाहिए क्योकि अगर string मे white space आ जाता है तो वो long integer मे convert नहीं हो सकता है |
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int b , area;
char gravity[ ]= ’10’;
int length=’20’;
printf(” Enter Breath “);
scnaf(“%d”,&b);
int g=atol(gravity);
int l =atol(length);
printf(“value of gravity = %ld”,g);
printf(“value of length= %ld”,l);
arae = l*b;
printf(“Area = %d “,area );
getch();
}इस उदहारण मे , string length की value को long  integer मे convert करके ‘l’ मे store कर देते है |इस long integer variable ‘l’ को area के formula मे length की value की तरह use किया जाता है |

आउटपुट होगा :
Enter Breath 3
value of gravity = 10
value of length = 20
Area = 60

 

5.calloc()
calloc () function का use , ,किसी array के लिए memory space को allocate करने के लिए किया जाता है |इसमें दो parameter pass होते है |
(i) Number of array element| इसका number integer होता है |
(ii) size of each element in array|इअका value byte मे होती है |
इस function से pointer address return होता है जो की allocate memory के address को hold करता है |
इस function को हम dynamic memory allocation मे अच्छी तरह पढ़ चुके है |
उदाहरण के लिए :
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int *a;
a=(int *) calloc(5,sizeof(int));
for(int i=0;i<5;i++)
{
printf(“\n Enter element i :  “);
scanf(“%d”,&a[i]);
}
for(i=0;i<5;i++)
{
printf(“\nElement = %d\n”,a[i]);
}
getch();
}

आउटपुट होगा ;

Enter element 0 :23
Enter element 1 :43
Enter element 2 :56
Enter element 3 :67
Enter element 4 :70
Element = 23
Element = 43
Element = 56
Element = 67
Element = 70


6.exit()
इस function का सभी file और buffer को क्लोज करने के लिए किया जाता है |इसके अलावा प्रोग्राम को terminate करने के लिए किया जाता है |ये c प्रोजेक्ट मे सबसे ज्यादा use आने वाला function होता है |इसका उदहारण है :-
#inlcude<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int a,b,c;
printf(“enter your inputs”);
scanf(“%d %d”,&a,&b);
printf(“variable A=%d”,a);
peinrf(“variable B=%d”,b);
exit();
c=a+b;
printf(“Sum=%d”,c);
getch();
}

आउटपुट होगा :
enter your inputs 12 22
variable A=12
variable B=22
इस उदाहरण मे , sum operation perform नहीं हो सकता है |और इसका आउटपुट print नहीं होगा |

7.melloc()
malloc () function का use , ,किसी array के लिए memory space को allocate करने के लिए किया जाता है |इसमें एक parameter pass होते है |
(i) size of each element in array|इअका value byte मे होती है |
इस function से pointer address return होता है जो की allocate memory के address को hold करता है |
इस function को हम dynamic memory allocation मे अच्छी तरह पढ़ चुके है |
उदाहरण के लिए :
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int *a;
a=(int *) malloc(sizeof(int)*5);
for(int i=0;i<5;i++)
{
printf(“\n Enter element i :  “);
scanf(“%d”,&a[i]);
}
for(i=0;i<5;i++)
{
printf(“\nElement = %d\n”,a[i]);
}
getch();
}

आउटपुट होगा ;

Enter element 0 :23
Enter element 1 :43
Enter element 2 :56
Enter element 3 :67
Enter element 4 :70
Element = 23
Element = 43
Element = 56
Element = 67
Element = 70

8.rand()
इस function का use random value generate करने के लिए किया जाता है |जब हमे किसी random number को generate करते है तब प्रत्येक बार एक ही random number के sequence को generate करता है |
उदहारण के लिए :
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int a[5];
for(int i=0;i<5;i++)
{
printf(“random number = %d\n”,rand());
}
getch();
}
आउटपुट होगा
random number = 954
random number = 2343
random number = 3435
random number = 123
random number = 6542
जब प्रोग्राम को दुसरे बाद run करते है तब आउटपुट same आयेगे |
random number = 954
random number = 2343
random number = 3435
random number = 123
random number = 6542

9.srand()
इस function का use ,random number के लिए initial value को set करने की लिए किया जाता है |अगर srand() को call नहीं करते तब random number के seed set होती और हर बार seed की value same होती है |
लेकिंग जब srand() function को call करते है तब random number की seed change हो जाती है |
#include<stdio.h>
#include<conio.h>
#include<stdlib.h>
void main()
{
int a[5];
srand(time(0));
for(int i=0;i<5;i++)
{
printf(“random number = %d\n”,rand());
}
getch();
}
आउटपुट होगा
random number = 954
random number = 2343
random number = 3435
random number = 123
random number = 6542
जब प्रोग्राम को दुसरे बाद run करते है तब आउटपुट अलग आयेगे |
random number = 1232
random number = 346
random number = 455
random number = 4563
random number = 6565