कंप्यूटर : कम्प्यूटर क्या है , परिभाषा , कंप्यूटर के भाग कौन कौन से होते है computer in hindi

By  
computer in hindi कंप्यूटर : कम्प्यूटर क्या है , परिभाषा , कंप्यूटर के भाग कौन कौन से होते है
कंप्यूटर : कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसके माध्यम से हम अंकगणितीय और लॉजिकल कैलकुलेशन करते है |
जैसे जोड़ना ,घटना, गुणा करना और भाग देना एवं 22 और 35  मे  से बड़ा कौनसा  है |
कंप्यूटर का अविष्कार आज से 3000 वर्षो पहले चीन मे हुआ था | जिसे आप अभी अबेकस  जानते है | उसके बाद आया था Antikythera | Antikythera का अविष्कार  2000 वर्षों  पहले यूनान  मे हुआ था | असल मे ये एक खगोलीय कैलकुलेटर है जो तारो और ग्रहों के गति और चाल की गणना करता था | वर्ष 1642 मे  ब्लेज़ पास्कल ने यूरोप मे एक मैकेनिकल कैलकुलेटर का अविष्कार किया जिसे पास्‍कलाइन से पहंचना गया | यह  पहला कैलकुलेटर था जो जोड़ना और घटना अपने आप कर लेता था | यूरोप  के राजा ने तो इसके उपयोगिता को  अपने राजकोष के गणना  के लिए आधिकारिक  घोषणा कर दी थी | उसके बाद डिफरेंस इंजन (1822),जुसे जॉर्ड-3 (1942),ENIAC (1946),SSEM (1948 ) आये |
 
कंप्यूटर के दो  मुख्य भाग होते है -:
1. हार्डवेयर : हार्डवेयर कंप्यूटर के वे भाग होते है जिन्हे हम छू सके ,महसूस कर सके | 
     
    उदहारण :- मॉनिटर , माउस ,क़ी-बोर्ड आदि | 
2. सॉफ्टवेयर : सॉफ्टवेयर निर्देशो का समूह होता है जिससे यूजर कोई काम कर सकता है | 
 
     उदहारण :- ऑपरेटिंग सिस्टम , एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर आदि | 

हार्डवेयर :

कंप्यूटर मे  मुख्यत पांच हार्डवेयर होते है | 

1. सेंट्रल प्रोसेडिंग यूनिट :

    सेंट्रल प्रोसेडिंग यूनिट ( ) कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है जो सभी अंकगणितीय और लॉजिकल गतिविदियो को करता है | इसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहते है | इसके तीन इकाई होती है | 

ALU ( ऐर्थ्मटिक और लॉजिकल यूनिट ) :-

      ALU एक डिजिटल डिवाइस है जो की AIRTHMATIC OR LOGICAL गतिविदयो को करता है |

MEMORY  :-

    मैमोरी एक डिवाइस होती है जिसमे डाटा को संगह किया जता है |

CONTROL UNIT :-

    कण्ट्रोल यूनिट ( CU ) एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो डाटा  को मैमोरी से बाहर निकाल कर उन्हें ALU को देता है,जहां पर अंकगणितीय और लॉजिकल गतिविदियो होती है | 

2 . मॉनिटर :

 
  मॉनिटर एक इलेट्रॉनिक डिवाइस है जिस पर यूजर अपने दिए गए निर्देशो  देख सकता है | इसका आकार टेलीविज़न  जैसा होता है | 

3. की-बोर्ड : 

   की- बोर्ड एक इनपुट डिवाइस है जिसके द्वारा यूजर अपने निर्देशो को देता है :

4. माउस :

   माउस भी एक इनपुट डिवाइस है जिसका उपयोग यूजर अपने निर्देशो  को देने के लिए देता है |  

सॉफ्टवेयर :

कप्यूटर मे मुख्यत तीन प्रकार के सॉफ्टवेयर होते है | 
 
1 . ऑपरेटिंग  सॉफ्टवेयर :
  
    ओपेरटिंग सॉफ्टवेयर निर्देशो का ऐसा समूह होता है जो कंप्यूटर के सामान्य कार्यो के लिए जिम्मेदार होता है | 
उदहारण के लिए कंप्यूटर को चालू करना , हार्डवेयर यूनिट को आपस मे कनेक्ट करना आदि | विण्डोज़ -97 ,विण्डोज़ -10 ,विण्डोज़ -2003  ,विण्डोज़ -7  ,विण्डोज़ -8  आदि सब ओपेरटिंग सॉफ्टवेयर है | 
 
2.  एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर :
       एप्लीकेशन  सॉफ्टवेयर निर्देशो का ऐसा समूह होता है जो किसी कार्य-विशेष के लिए बनाया जाता  है | उदहारण के लिए माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस  एक एप्लीकेशन  सॉफ्टवेयर है जो ऑफिस कार्यो ( रिपोर्ट बनाना , डाटा मेन्टेन  करना  आदि ) को सरल करता है | 
 
3. यूटिलिटी सॉफ्टवेयर :
 
           यूटिलिटी सॉफ्टवेयर निर्देशो का ऐसा समूह होता है जो कंप्यूटर मे आने वाली प्रॉब्लम को  रिपेयर करता है और कंप्यूटर की कार्यक्षमता को बढ़ता है | उदहारण  के लिए एंटीवायरस एक यूटिलिटी सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर को वायरस से बचाता है | 
ये सब सॉफ्टवेर कैसे बनते है ,यह जानने के लिए हमारी पोस्ट को जरुर पढ़े