सब्सक्राइब करे youtube चैनल

genetics class 10 notes in hindi chapter 3 , आनुवंशिकी पाठ 3 कक्षा 10 विज्ञान नोट्स : यह अध्याय कक्षा 10 वीं का तीसरा है इसमें आनुवंशिकी के बारे में विस्तार से अध्ययन किया गया है।

टॉपिक

  • मेण्डलवाद
  • मटर के पादप का चयन
  • मेण्डलवाद की पुनर्खोज
  • आनुवांशिकी शब्दावली
  • मेण्डल के वंशागति के नियम
  • प्रभाविता का नियम
  • पृथक्करण का नियम या युग्मको की शुद्धता का नियम
  • स्वतंत्र अपव्यूहन का नियम
  • मेण्डल के वंशागति के नियमों का महत्व
बहुचयनात्मक प्रश्न और उत्तर
प्रश्न 1 : जेनेटिक्स शब्द किसने दिया ?
प्रश्न 2 : मेण्डल ने अपने प्रयोग किस पर किये ?
प्रश्न 3 : आनुवांशिकता एवं विभिन्नताओं के अध्ययन की शाखा को क्या कहते है ?
प्रश्न 4 : मटर की फली का हरा रंग कैसा लक्षण है ?
प्रश्न 5 : सामान्यतया किसी जीन के कितने युग्मविकल्पी होते है ?
प्रश्न 6 : मेण्डल ने कितने विपर्यासी लक्षणों के युग्म अपने प्रयोगों के लिए चुने ?
प्रश्न 7 : जब F1 पीढ़ी का संकरण किसी भी एक जनक से कराया जाता है तो उसे कहते है ?
प्रश्न 8 : संकरण Tt x tt से प्राप्त सन्तति का अनुपात होगा ?
प्रश्न 9 : मेण्डल ने अपने प्रयोग के लिए किस विपर्यासी लक्षण को नहीं चुना ?
प्रश्न 10 : एक संकर संकरण की F2 पीढ़ी में कितने प्रकार के जीनोटाइप बनते है ?

अतिलघुरात्मक प्रश्न तथा उत्तर

प्रश्न 11 : आनुवांशिकी का जनक किसे कहते है ?
प्रश्न 12 : मेण्डल ने अपने प्रयोग किस पौधे कर किये ?
प्रश्न 13 : प्रभावी लक्षण किसे कहते है ?
प्रश्न 14 : आनुवांशिक लक्षणों का एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में संचरण क्या कहलाता है ?
प्रश्न 15 : मेण्डल के नियमों की पुनर्खोज किसने की ?
प्रश्न 16 : मेण्डल का पूरा नाम क्या है ?
प्रश्न 17 : मेण्डल द्वारा प्रतिपादित नियमों के नाम लिखिए।
प्रश्न 18 : परिक्षण संकरण किसे कहते है ?
प्रश्न 19 : बाह्य संकरण से क्या समझते है ?
प्रश्न 20 : मेण्डल के किस नियम को एक संकर संकरण से नहीं समझाया जा सकता है ?

लघुरात्मक प्रश्न तथा उत्तर

प्रश्न 21 : लक्षण प्रारूप व जीनप्रारूप में अंतर लिखिए।
प्रश्न 22 : द्विसंकर संकरण को समझाइये।
प्रश्न 23 : मेण्डल की सफलता के कारण लिखिए।
प्रश्न 24 : मेण्डल ने अपने प्रयोग के लिए मटर के पौधे को ही क्यों चुना ?
प्रश्न 25 : मेण्डल का संक्षिप्त जीवन परिचय लिखिए।
प्रश्न 26 : मेण्डल के प्रभाविता नियम को समझाइये।
प्रश्न 27 : मेण्डल के आनुवांशिकता के नियमों के महत्व को लिखिए।

निबंधात्मक प्रश्न और उनके उत्तर

प्रश्न 28 : मेण्डल के पृथक्करण के नियम को उदाहरण सहिय समझाइये।
प्रश्न 29 : मेण्डलवाद क्या है ? स्वतंत्र अपव्युहन के नियम का विस्तार से वर्णन कीजिये।
प्रश्न 30 : मेण्डल के आनुवांशिकता के नियमो को समझाइए।

महत्वपूर्ण बिंदु या आनुवंशिकी पाठ का सारांश

  • आनुवांशिकी : इसे अंग्रेजी में जेनेटिक्स कहा जाता है , जेनेटिक्स शब्द का प्रयोग सबसे पहले बेटसन ने 1906 में किया था।  आनुवांशिकी जीव विज्ञान की वह शाखा होती है जिसमें सजीवो के लक्षणों की वंशागति का अध्ययन किया जाता है और साथ ही सजीवो के लक्षणों में भिन्नता का भी इस शाखा में विस्तार से अध्ययन किया जाता है।
  • आनुवांशिक लक्षण : सजीवो में लैंगिक जनन क्रिया संपन्न होती है और इस लैंगिक जनन क्रिया के फलस्वरूप सजीवो के गुण या लक्षण एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में संचरित होते है इन गुणों या लक्षणों को ही आनुवांशिक लक्षण कहा जाता है।
  • मेण्डल : इनका पूरा नाम ग्रेगर जॉन मेण्डल था , इनको आनुवांशिकी का जनक भी कहा जाता है क्योंकि इन्होने ही सबसे पहले पादपो पर विभिन्न प्रयोग करके पादपो में वंशागति के नियमो का प्रतिपादन किया था।
  • मेण्डलवाद : मेण्डल ने पादपो पर विभिन्न प्रकार के प्रयोग किये और अपने प्रयोगों के निष्कर्ष के आधार पर उन्होंने आनुवांशिकता के कई नियमो का प्रतिपादन किया जिन्हें सम्मिलित रूप से मेण्डलवाद कहते है।