भोजन एवं मानव स्वास्थ्य नोट्स कक्षा 10 विज्ञान food and human health in hindi class 10 notes

By   May 17, 2019

food and human health in hindi class 10 notes , भोजन एवं मानव स्वास्थ्य नोट्स कक्षा 10 विज्ञान :

इस पाठ में निम्न टॉपिक है , पहले आप सभी टॉपिक को ध्यान से पढ़े और उसके बाद प्रश्न और उनके उत्तर दिए गए है आपको जिस प्रश्न का उत्तर पढना हो उस पर क्लिक करके पढ़ सकते है।

टॉपिक

  • संतुलित व असंतुलित भोजन
  • विटामिन कुपोषण
  • विटामिन की कमी से होने वाले रोग और उनके लक्षण
  • प्रोटीन कुपोषण
  • खनिज कुपोषण
  • प्रमुख खनिज तत्व , स्रोत और कार्य
  • मानव स्वास्थ्य
  • पीने योग्य पानी के गुण व दूषित पानी के दुष्प्रभाव
  • मोटापा
  • रक्तचाप , निम्न रक्तचाप और उच्च रक्तचाप
  • नशीले पदार्थ
  • गुटखा
  • तम्बाकू , तम्बाकू के सेवन से होने वाली हानियाँ
  • मदिरा , मदिरा सेवन से मानव स्वास्थ्य पर होने वाले कुप्रभाव
  • अफीम
  • दवाओं का दुरुपयोग
  • खाद्यो पदार्थो में मिलावट और मिलावट के दुष्प्रभाव
वस्तुनिष्ठ प्रश्न और उत्तर
प्रश्न 1 : नारू रोग का रोगजनक क्या है ?
प्रश्न 2 : स्वस्थ शरीर का सामान्य रक्तचाप कितना होता है ?
प्रश्न 3 : तम्बाकू किस कुल का पादप है ?
प्रश्न 4 : मदिरा का मुख्य घटक क्या है ?
प्रश्न 5 : आयोडीन की कमी से कौनसा रोग होता है ?
अतिलघुरात्मक प्रश्न एवं उत्तर
प्रश्न 6 : अफीम के पादप का वैज्ञानिक नाम क्या है ?
प्रश्न 7 : वसीय यकृत रोग का कारण क्या है ?
प्रश्न 8 : तम्बाकू में कौनसा हानिकारक तत्व पाया जाता है ?
प्रश्न 9 : रक्तचाप मापने वाले यन्त्र का नाम क्या है ?
प्रश्न 10 : नारू रोग के रोगजनक का नाम लिखिए।
लघुरात्मक प्रश्न एवं उत्तर
प्रश्न 11 : संतुलित भोजन व कुपोषण से क्या तात्पर्य है ?
प्रश्न 12 : प्रोटीन की कमी से होने वाले रोगों का मानव शरीर में क्या प्रभाव पड़ता है ?
प्रश्न 13 : पीने योग्य जल के क्या गुण होने चाहिए ?
प्रश्न 14 : दूषित जल के दुष्प्रभाव लिखिए।
प्रश्न 15 : अफीम के दूध में कौनसे एल्कालॉयड पाए जाते है ?
प्रश्न 16 : तम्बाकू से होने वाली हानियाँ लिखिए।
प्रश्न 17 : सबम्युकस फाइब्रोसिस रोग के लक्षण व कारण लिखिए।
निबंधात्मक प्रश्न और उनके उत्तर
प्रश्न 18 : क्वाशिओरकोर रोग क्या है ? इसके लक्षण व रोकथाम के उपाय लिखिए।
प्रश्न 19 : समाज में अफीम चलन की प्रथा को आप कैसे रोक सकते है ?
प्रश्न 20 : विटामिन कुपोषण से होने वाले रोग एवं उनके लक्षण लिखिए।
प्रश्न 21 : कोल्डड्रिंक्स से हमारे शरीर में पड़ने वाले हानिकारक प्रभावों का वर्णन कीजिये।
प्रश्न 22 : खाद्य पदार्थो में मिलावट पर लेख लिखिए।
प्रश्न 23 : खनिज कुपोषण से होने वाली हानियों का वर्णन कीजिये।

महत्वपूर्ण बिंदु या भोजन एवं मानव स्वास्थ्य पाठ का सारांश

  • पोषण : शरीर के विभिन्न प्रकार की क्रियाएं होती है और इन सभी क्रियाओं के सुचारू रूप से संचालन के लिए ऊर्जा की आवश्कयता होती है और इस आवश्यक ऊर्जा की पूर्ती के लिए संतुलित भोजन करना जरूरी होता है , संतुलित भोजन में कार्बोहाइड्रेट , प्रोटीन , खनिज लवण और विटामिन आदि की पूर्ती की जाती है जिससे इनकी कमी से होने वाले रोगों से बचा जा सकता है।
  • कुपोषण : हमारे भोजन में आवश्यक पोषक तत्व या संतुलित भोजन में सम्मिलित तत्वों में से किसी एक या एक से अधिक तत्वों की कमी को कुपोषण कहा जाता है अर्थात जब एक लम्बे समय से जब संतुलित भोजन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है तो इसे कुपोषण कहते है। जब शरीर को संतुलित भोजन नहीं मिलता है या सभी पोषक तत्वों का उपयोग नहीं किया जता है तो शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग उत्पन्न हो जाते है।
  • क्वाशिओरकोर : जब शरीर में प्रोटीन की कमी होती है तो प्रोटीन की कमी के कारण शरीर में क्वाशिओरकोर नामक रोग हो जाता है , क्वाशिओरकोर रोग में शरीर पर सुजन आने लगती है और भूख कम लगने लगती है साथ ही शरीर पर धब्बे होने लगते है और त्वचा फटने लगती है।
  • मोरस्मस रोग : जब शरीर में प्रोटीन के साथ साथ ऊर्जा की कमी होती है तो इसके कारण उत्पन्न रोग को मोरस्मस रोग कहते है , इस रोग में शरीर सूखने लगता है और कमजोर दिखने लगता है साथ ही आँखे अन्दर की तरफ धँस जाती है।
  • जल : हमारे शरीर में जल की बहुत अधिक मात्रा उपस्थित होती है , शरीर में और दैनिक जीवन में होने वाली विभिन्न क्रियाएं जल की सहायता से संपन्न होती है , यदि शरीर में जल की कमी होती है तो विभिन्न प्रकार के रोग उत्पन्न हो सकते है और साथ ही जल के अभाव में दैनिक क्रियाएं संपन्न नहीं होती है , इसके साथ ही दूषित जल के उपयोग से भी कई रोग उत्पन्न हो जाते है।
  • जंक फ़ूड : वे खाद्य पदार्थ जो स्वाद में काफी अच्छे होते है लेकिन जिनके कारण विभिन्न रोग उत्पन्न हो सकते है जैसे रक्तचाप , मोटापा आदि उन्हें जंक फूड कहा जाता है , अक्सर हम जंक फूड गली के नुक्कड़ पर देख सकते है इनकी दूकान मिल जाती है।
  • रक्तचाप : जैसा की हम जानते है कि हमारे शरीर में रक्त लगातार रक्तवाहिनियो द्वारा प्रवाहित होता रहता है , बहते हुए रक्त द्वारा रक्त वाहिनियो पर डाला गया दाब रक्तचाप कहलाता है। रक्तचाप मापने के लिए रक्तमापी या स्फाइग्नोमैनोमीटर यन्त्र का उपयोग किया जाता है , मनुष्य का सामान्य रक्तचाप 120/80 होता है।