निस्यंदन (Filtration in hindi) , फ़िल्टरेसन

By  

(Filtration in hindi) निस्यंदन : जब किसी द्रव में अविलेय ठोस अशुद्धि उपस्थित होती है तो उसे फ़िल्टर पेपर की सहायता से पृथक करने की प्रक्रिया को निस्यंदन कहते है।

उदाहरण : जैसे मान लीजिये कि किसी जल में मिट्टी घुली हुई है तो हम जानते है कि मिट्टी ठोस अवस्था में है और जल , द्रव अवस्था में है और जैसा हमने ऊपर पढ़ा कि ठोस अशुद्धियो को द्रव में से फ़िल्टर पेपर की सहायता से दूर कर सकते है , इसलिए इसे चित्रानुसार फ़िल्टर पेपर से होकर गुजारते है जिससे ठोस अशुद्धियाँ फ़िल्टर पेपर पर एकत्रित हो जाती है और दूसरी तरफ शुद्ध द्रव पदार्थ प्राप्त हो जाता है , इस पूरी प्रक्रिया को निस्यंदन कहते है।
फ़िल्टर पेपर क्या है ?

फ़िल्टर पेपर एक विशेष प्रकार का पेपर होता है जिसमें बहुत छोटे छोटे छिद्र होते है , इस पेपर में स्थित ये छिद्र इतने छोटे होते है कि इनसे होकर द्रव के कण तो गुजर जाते है लेकिन इनसे होकर ठोस अशुद्धियो के कण नहीं गुजर पाते है जिससे ठोस अशुद्धियो के कण इसके एक तरफ रह जाते है और द्रव दूसरी तरफ चला जाता है जिससे अशुद्धियाँ और द्रव अलग अलग हो जाते है और इस प्रकार ठोस अशुद्धियो को द्रव से पृथक कर लिया जाता है , इस सम्पूर्ण प्रक्रिया को निस्यंदन (Filtration) कहते है।

अत: निस्यंदन को निम्न प्रकार परिभाषित कर सकते है –
निस्यंदन परिभाषा : वह प्रक्रिया जिसमें ठोस कणो को किसी द्रव या गैसीय पदार्थ में से फ़िल्टर पेपर की सहायता से पृथक किया जाता है उसे निस्यंदन कहा जाता है। इस प्रक्रिया में जिस फ़िल्टर पेपर का उपयोग होता है वह ठोस कणों को तो पार नहीं होने देता है और द्रव या गैसीय कणो को आसानी से पार होने देता है जिससे ठोस कण और द्रव के कण अलग अलग हो जाते है और इस प्रकार द्रव शुद्ध हो जाता है अर्थात इसमें उपस्थित ठोस कण या अशुद्धियाँ दूर हो जाती है।

tags : निस्यंदन की परिभाषा लिखिए की किसे कहते है , निस्यंदन क्या है निस्यंदन mean in english निस्यंदन विधि को समझाओ , निस्यंदन meaning in hindi निस्यन्दन क्या होता है निस्पंदन का अर्थ समझा सकते है ? निस्यंदन किसे कहते हैं