दूषित पेयजल से कौन सा रोग फैलता है ? खराब पानी से बीमारियां गन्दा अशुद्ध पानी से होने वाली बीमारी

By  

diseases caused due to impure water in hindi दूषित पेयजल से कौन सा रोग फैलता है ? खराब पानी से बीमारियां गन्दा अशुद्ध पानी से होने वाली बीमारी which is not a water-borne disease ?

61. निम्नलिखित में से किसे कीट कहते हैं।
(अ) चींटी (ब) तिलचट्टा
(स) खटमल (द) सभी
R.R.B. भोपाल (T.C.) परीक्षा, 2005
उत्तर-(द)
व्याख्या-चींटी, तिलचट्टा, खटमल तीनों ही कीट हैं। कीट वर्ग आर्थोपोडा संघ के अन्तर्गत आता है। इन सभी में तीन जोड़ी टांगें पायी जाती हैं।
62. सामान्यतः वायरस निम्नलिखित को छोड़कर समस्त पौधे को सवंमित करता है-
(अ) फ्लोएम (ब) मज्जा
(स) कॉर्टेक्स (द) तनाग्र
R.R.B. भोपाल (T-C-) परीक्षा, 2005
उत्तर-(द)
व्याख्या-सामान्यतः विषाणु, तनाग्र (Soot apex) को छोड़कर समस्त पौधों को नष्ट कर सकता है।
63. ‘‘डायलेक्सिया‘‘ संबंधित हैः
(अ) बेमेल अक्षरों को पढ़ने में कठिनाई से कर
(ब) हार्ट से
(स) बच्चों की एक प्रकार की बीमारी से
(द) वृद्ध की बीमारी से
R.R.B. अहमदाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2004
उत्तर-(अ)
व्याख्या-डायलेक्सिया बेमेल अक्षरों को पढ़ने में कठिनाई से संबन्धित बीमारी है।
64. जीवाणुओं की रोम जैसी संरचना को कहा जाता है।
(अ) फ्लैजिला (ब) एट्रिक्स
(स) क्लॉस्ट (द) सिलिंडरी
R.R.B. इलाहाबाद (असि. लोको पाय.) परीक्षा, 2007
उत्तर-(अ)
व्याख्या-जीवाणुओं के ऊपरी भाग पर रोम जैसी संरचना पायी जाती हैं जिसे फ्लैजिला (कशाभिका) कहते हैं जो कि गति में सहायक होते हैं।
65. दूषित पानी के कारण कौन-सा रोग नहीं होता है?
(अ) हैजा (ब) टायफॉइड
(स) पीलिया (द) मीसल
RRB ण्मालदा (T.A./C.A.) परीक्षा, 2007
उत्तर-(द)
व्याख्या-दूषित पानी के कारण हैजा, टायफॉइड, पीलिया होता है।
दूषित पानी से मीसल (खसरा) नहीं होता, यह विषाणु द्वारा होता है।
66. निम्नलिखित में से कौन-सी बीमारी विषाणु जनित है-
(अ) टाइफाइड (ब) टीवी
(स) हैजा (द) हेपेटाइटिस
R.R.B. इलाहाबाद (असि. लोको पाय.) परीक्षा, 2007
उत्तर-(द)
व्याख्या-हेपेटाइटिस (Hepatitis) एक विषाणु जनित यकृत रोग है। यह यकृत को प्रभावित करता है। यह जल रक्ताधान अथवा संक्रमित सूई से फैलता है।
67. इनमें से कौन-सा रोग मच्छरों से होने वाला रोग नहीं है?
(अ) डेंगू बुखार (ब) मलेरिया
(स) फाइलेरिएसिस (द) घेघा
R.R.B. मालदा (T.C./C.C.) परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
व्याख्या-घेघा रोग आयोडीन की कमी से होता है। यह मच्छरों से फैलने वाला रोग नहीं है। डेंगू बुखार, मलेरिया और फाइलेरिएसिस मच्छरों से फैलने वाले रोग हैं।
68. नाइट्रोजन फिक्सिंग जीवाणु सामान्तया पाए जाते हैं-
(अ) परजीवी पौधों में (ब) अधिपादपीय पौधों में
(स) लेग्युमिनस पौधों में (द) जलीय पौधों में
R.R.B.  गोरखपुर (Ast.k~ äiv.) परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
व्याख्या-लेग्युमिनस पौधों की जड़ों में सामान्यतया नाइट्रोजन फिक्सिंग जीवाणु पाये जाते हैं जो कि नाइट्रोजन का यौगिकीकरण (Nitrogen Fixation) करते हैं।
69. बैक्टीरियम प्रत्येक मिनट में विकसित होता है तथा 1 घंटे में वह एक कप को भर देता है आधे कप को भरने में कितना समय लगेगा?
(अ) 15 मिनट (ब) 30 मिनट
(स) 59 मिनट (द) 60 मिनट
R.R.B.  इलाहाबाद (C-C-) परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
व्याख्या-प्रत्येक जीवाणु कोशा (Binnary fision) विभाजन द्वारा तेजी से विभाजित होकर विकसित होती है। प्रत्येक विभाजन में अपनी संख्या दोगुनी कर लेती है।
70. एक वॉयरस किसी मनुष्य के अंग में प्रति सेकण्ड अपनी संख्या का तीन गुणा हो सकता है। तब 28 तथा 30 सेकण्ड पश्चात वॉयरस के संख्या का अनुपात क्या है?
(अ) 9 : 1 (ब) 1 : 3
(स) 1 : 9 (द) 14 : 15
R-R-B-  इलाहाबाद (T.C/Tr.k~ Clerk.) परीक्षा, 2013
उत्तर-(स)
व्याख्या- एक वॉयरस किसी मनुष्य के अंग में प्रति सेकंड अपनी संख्या का तीन गुना हो जाता है।
माना 28 सेकंड में संख्या = x
29 सेकंड में संख्या = 3 x
30 सेकंड में संख्या = 9 x
28 तथा 30 सेकंड पश्चात वायरस की संख्या का अनुपात =
ग : 9 ग
1 : 9
71. पादप विषाणु में किस प्रकार के आनुवंशिक पदार्थ पाए जाते हैं?
(अ) RNA (ब) DNA
(स) RNA तथा DNA दोनों (द) इनमें से कोई नहीं
R.R.B. गोरखपुर (T-C-) परीक्षा, 2008
उत्तर-(अ)
व्याख्या-पादप विषाणु जो सर्वप्रथम खोजा गया ज्डट था। पादप विषाणु का संवहन च्सेंउवकमेउमजं के द्वारा एक कोशिका से दूसरी कोशिका में होता है। अधिकांश पादप विषाणुओं में सिंगल अथवा डबल स्ट्रांडेड त्छ। ही पाया जाता है जबकि कुछ पादप विषाणुओं में सिंगल अथवा डबल स्ट्रांडेट क्छ। भी पाया जाता है?
72. नाइट्रोजन चक्र में निम्नलिखित में से कौन भाग नहीं लेता है।
(अ) बैक्टीरिया (ब) CO2
(स) HNO3 (द) NH3
R.R.B. गोरखपुर (E.S.M.) परीक्षा, 2009
उत्तर-(ब)
व्याख्या-प्रकृति में नाइट्रोजन सर्वाधिक मात्रा में पायी जाती है। वायुमण्डल में नाइट्रोजन मुख्यतः कार्बनिक नाइट्रोजन, अमोनियम आयन (NH4़), नाइट्रेट आयन (NO3- ) तथा नाइट्रोजन गैस के रूप में पायी जाती है। लेकिन कुछ जीवों (जीवाणु एवं शैवाल) को छोड़कर इसका सीधे प्रयोग करना संभव नहीं है। गैसीय नाइट्रोजन का जीवधारियों द्वारा प्रयोज्य रूपों में परिवर्तन करने के लिए प्राकृतिक स्थिरीकरण आवश्यक है। नाइट्रोजन स्थिरीकरण में राइजोबियम बैक्टीरिया की भूमिका अहम है।
73. इनमें से कौन कीटभक्षी पौधा नहीं है?
(अ) पिचर प्लान्ट (ब) ब्लैडरवर्ट
(स) बटरवर्ट (द) हार्नवर्ट
R.R.B. इलाहाबाद (A.S.M.) परीक्षा, 2010
उत्तर-(द)
व्याख्या-हार्नवर्ट कीटभक्षी पौधा नहीं है। यह एक गैर-संवहनी वायोफाइट पौधा है जो विशेषतः आर्द्र एवं नम स्थानों में ही पाया जाता है।