ऐमीन के रासायनिक गुण ,कार्बिल ऐमीन , हिन्सबर्ग अभिकर्मक से क्रिया

By  

Chemical properties of amine in hindi ऐमीन के रासायनिक गुण :

1. लवण बनाना :
ऐमीन क्षारीय प्रवृति के होने के कारण ये अम्लों से क्रिया करके लवण बना लेते है।
R-NH2 + H+Cl  →  R – +NH3Cl
यदि लवण की क्रिया NaOH से कराये तो पुन: ऐमीन प्राप्त हो जाती है।
R-NH3Cl + NaOH →  NaCl + H2O + R-NH2
2 . ऐल्किलन या एल्किलीकरण :
-H के स्थान पर एल्किल समूह आना ऐल्किलन कहलाता है यह क्रिया एल्किल हैलाइड के साथ की जाती है इस क्रिया में 20 , 30 व चतुष्क ऐमीन बनते है।
3. एसिटिलन या एसिटिलीकरण :
H के स्थान पर ऐसिटिल समूह आना एसिटिलन कहलाता है।  एसिटिलन प्राय: एसिटिल क्लोराइड या एसिटिक एनहाइड्राइड से ही किया जाता है।
CH3-CO-Cl + H-NH-R →  CH3-CO-NH-R + HCl
4. कार्बिल ऐमीन अभिक्रिया या आइसो सायनाइड परिक्षण :
जब 1 ऐमीन की क्रिया  CHCl(क्लोरोफॉर्म ) CHI3 तथा KOH , NaOH से की जाती है तो दुर्गन्ध युक्त पदार्थ आइसो सायनाइड बनते है।
नोट : यह क्रिया 20 , 30प्रदर्शित नहीं करते।
प्रश्न 1 : एथिल ऐमीन तथा डाई एथिल ऐमीन में विभेद (अंतर) के लिए परिक्षण लिखिए।
उत्तर : एथिल ऐमीन कार्बिल ऐमीन अभिक्रिया द्वारा दुर्गन्ध युक्त पदार्थ आइसो सायनाइड बनाता है।
C2H5-NH2 + CHCl3 + 3KOH → C2H5-NC + 3KCl + 3H2O
डाई एथिल ऐमीन कार्बिल ऐमीन अभिक्रिया प्रदर्शित नहीं करता।
5. हिन्सबर्ग अभिकर्मक से क्रिया :
C6H5-SO2-Cl को हिन्सबर्ग अभिकर्मक कहते है इसका रासायनिक नाम बेंजीन सल्फोनिल क्लोराइड है।  यह 1,20 , 30 ऐमीन की पहचान में काम आता है।
1. 1ऐमीन की हिन्सबर्ग अभिकर्मक से क्रिया करने पर बना पदार्थ NaOH में विलेय हो जाता है।
2. 2ऐमीन की हिन्सबर्ग अभिकर्मक से क्रिया करने पर बना पदार्थ NaOH में अविलेय होता है।
3. 30 ऐमीन में सक्रीय H परमाणु नहीं होता अतः यह अभिकर्मक से क्रिया नहीं करता।
6. सोडियम नाइट्राइड व HCl से क्रिया :
एलीफैटिक ऐमीन इनसे क्रिया करके एल्कोहल बनाते है जबकि एरोमैटिक ऐमीन (ऐनिलीन) बेंजीन डाई ऐज़ोनियम क्लोराइड बनाता है।
नोट : यह क्रिया एलीफेटिक व एरोमैटिक ऐमीन में अंतर के काम आती है।