विरंजक चूर्ण और बेकिंग सोडा और धोने का सोडा , calcium hypochlorite in hindi ,उपयोग , किसे कहते है

By  
इससे पहले के article मे , NACL और NAOH को discuss किया था अब इस article मे विरंजक चूर्ण ,बेकिंग सोडा  आदि के लवण को discuss करेगे |
विरंजक चूर्ण
इसे कैल्शियम ऑक्सीक्लोराइड कहते है और इसके अलावा चुने की क्लोरिड भी कहते है | इससे बनाने के लिए बेकमान अभिकिया को use किया जाता है |
बेकमान अभिकिया मे , जलीय सोडियम क्लोराइड (लवण जल) के विद्युत अपघटन से क्लोरीन का निर्माण होता है। इस क्लोरीन गैस का उपयोग विरंजक चूर्ण के उत्पादन के लिए किया जाता है। शुष्क बुझा हुआ चूना Ca(OH)2 पर क्लोरीन की क्रिया से विरंजक चूर्ण का निर्माण होता है। मुख्यता cl 2 अनु , हाइड्रोसाइड OH- आयन को replace कर देता है | विरंजक चूर्ण का फार्मूला caocl2 होता  है इसकी रसयैक अभिकिया निन्म है |
Ca(OH)2 + Cl2 ——–> CaOCl2 + H2O
विरंचक चूर्ण का गुण :-
1.विरंचक चूर्ण का रंग हल्का पीला होता है | जिसमे से क्लोरिन गैस की तरह तीव्र गंध आती है |
2.विरंचक चूर्ण जल मे आसनी से गुल जाता है |
3.जब विरंचक चूर्ण की अभिकिया कार्बन dy ऑक्साइड के साथ किया जाट अहै तब cl2 अनु replace हो जाता है | इसकी अभिकिया निन्म है :-
CaOCl2     + CO2    ———->  CaCo3   + cl2
विरंचक चूर्ण का उपयोगः
1. CaOCl2 का use रंग को उड़ाने के लिए use किया जाता है | CaOCl2  का मुख्य use ,वस्त्र उद्योग में सूती एवं लिनेन के विरंजन के लिए  और कागज़ की फैक्ट्री में लकड़ी के मज्जा एवं लाउंड्री में साप़ फ़ कपड़ शें के विरंजन के लिए किया जाता है | विरंजन का मतलब है रंग को हटाना |
2.कई रासायनिक उद्योगों में एक उपचायक के रूप में use किया जाता है | इसका मतलब है किसी chemicals मे से हाइड्रोजन को हटाने के लिए किया जाता है |
3.CaOCl2 का use पीने वाले जल को जीवाणुओं से मुक्त करने के लिए किया जाता है |
4.CaOCl2 का use क्लोरोफार्म बनाने के लिए किया जाता है |बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडा का रासायनिक सूत्र NaHCo3 होता है | ये सफ़ेद चूर्ण होता है जिसका स्वाद नमकीन होता है | कई सारे लोग , बेकिंग सोडा  को कुकिन सोडा और बेकिंग सोडा भी कहते है |  इसका प्राकतिक source नाकोलित  नाम का खनिज होता है |
बेकिंग सोडा का निर्माण निन्म अभिकिया होती है :
NaCl + H2O + CO2 + ——–> NaHCO3बेकिंग सोडा का नुकसान
1.बेकिंग सोडा  का use ज्यादा नहीं करना चाहिए | इसके ज्यादा इस्तेमाल करने से अम्ल की मात्र बाद जाती है | जो की मानव शर्रीर के नुकसानदायक होता है |
2.अतिसेवेदन स्किन पर इसका use नहीं करना चाहिए| आखो के आस पास भी इसे use नहीं करना चाहिए  | ओए इसे कटे और चोट के निशान पर भी बेकिंग सोडा को नहीं लगाना चाहिए |
3.दवा लेने के बाद और पहले बेकिंग सोडा को कभी भी use नहीं करना चाहिए |

बेकिंग सोडा का उपयोग
1.बेकिंग सोडा सबसे ज्यादा use , कुकिग मे किया जाता है | इसका मुख्य बेकिंग मे किया जाता है |
2.बेकिंग सोडा का use सज्बी को नरम करने के लिए किया जाता है | और इसे कभी भी मास को पकाने के लिए use किया जाता है |
3.बेकिंग सोडा को खाने मे मिला ने से विटामिन c मिलता है |
4. बेकिंग सोडा  का use कीटनाशक की तरह भी होता है |
5.शरीरर पर एलजी के प्रभाव को कम करने एक लिए किया जाता है |
6.बेकिंग सोडा का use , BEAUTY PROCESS मे किया जाता है |

धोने का सोडा
धोने का सोडा का रासायनिक नाम (सोडियम कार्बोनेट) है | इसका अनुभर 286 है |  इससे बानाने के लिए nAOH मे CO2 को प्रवाहित किया जाता है | इससे (सोडियम कार्बोनेट) का विलयन मिलता है | और इस विलयन को गर्म करने पर किस्तल मिलता है जो की (सोडियम कार्बोनेट) होता है |
NAOH + CO2   ———- > Na2CO3 + H2O
इसके अलावा धोने का सोडा एक अन्य रसायन जिसे सोडियम क्लोराइड से प्राप्त किया जा सकता है।  बेकिग सोडा को गर्म करके सोडियम कार्बोनेट प्राप्त किया जा सकता है। सोडियम कार्बोनेट के पुनः क्रिस्टलीकरण से धोने का सोडा प्राप्त होता है। यह भी एक क्षारकीय लवण है।
Na2CO3 + 10H2O———-> Na2CO3.10H2O
इस अभिकिया को साल्वे अभिकिया भी कहते है |

धोने का सोडा के रासायनिक गुण :
1.धोने का सोडा को हवा मे खुला रखा जाता है तब ये पुल जाता है | और इससे मोनो लवण बनता है |
2.धोने का सोडा को गर्म किया जाता है तब मोनो बन जाता है और इसे पुन गर्म करने पर भी अपघटित नहीं होता है |

धोने के सोडे के उपयोग
सोडियम कार्बोनेट एवं सोडियम हाइड्रोजनकार्बोनेट, कई औद्योगिक प्रक्रियाओं के लिए भी उपयोगी रसायन है।
1. सोडियम कार्बोनेट का उपयोग काँच, साबुन एवं कागज़ उद्योगों में होता है।सोडियम कार्बोने को किस्तिल गुण को बनाया जाता है |
2. इसका उपयोग बोरेक्स जैसे सोडियम यौगिक के उत्पादन में होता है। जिसे न्बरे मे हम पहले ही discuss कर चुके है |
Na2CO3.10H2O ————> NA2B4O7
3. सोडियम कार्बोनेट का उपयोग घरों में साप़ फ़-सप़ फ़ाई के लिए होता है।
4.जल की स्थायी कठोरता को हटाने के लिए इसका उपयोग होता है।

tags : calcium hypochlorite in hindi ? विरंजक चूर्ण के दो उपयोग किसे कहते है ?