b ed paper 2021 pdf download in hindi b.ed question paper बी एड प्रश्न और उत्तर हिंदी में

By  

बी एड प्रश्न और उत्तर हिंदी में b ed paper 2021 pdf download in hindi b.ed question paper ?

Unit – II
लघूत्तरात्मक प्रश्नोत्तर
1. पाठ्यक्रम का अर्थ, परिभाषायें एवं पाठ्यक्रम व पाठ्यचर्या में अन्तर-
अर्थ।
परिभाषायें-मुनरो, फिलिप एच. टेलर, कनिंघम, माध्यमिक शिक्षा आयोग के अनुसार।
पाठ्यक्रम एवं पाठ्यचर्या में अन्तर।
2. इकाई योजना का अर्थ एवं परिभाषायें
अर्थ।
परिभाषायें एन. एल. बोसिंग, सी. वी. गुड, प्रेस्ट, हेरप, हैनरो सी मोरिसन के अनुसार।
3. इकाई योजना और पाठयोजना में अन्तर-
4. पाठ योजना का अर्थ, परिभाषायें एवं आवश्यकता-
अर्थ । परिभाषायें-बिनिंग और बिनिंग, स्टैण्ड्स, बोसिंग के अनुसार।
आवश्यकता (1) पाठ के उद्देश्य के निर्धारण के लिए (2) पूर्व ज्ञान से सम्बन्ध स्थापित करने के लिए (3) शिक्षण विधि का चयन करने के लिए (4) सफल शिक्षण के लिए (5) सहायक सामग्री के चयन के लिए (6) आत्मविश्वास के लिए (7) स्थाई ज्ञान की प्राप्ति (8) रुचिकर शिक्षण के लिए (9) छात्र-अध्यापक क्रियाओं के नियमबद्ध निरूपण के लिए (10) श्रम व समय की बचत के लिए (11) मनोवैज्ञानिक शिक्षण के लिए (12) पूछे गए प्रश्नों का पूर्व निर्धारण (13) छात्रों के ज्ञान में वृद्धि ।
5. वार्षिक योजना का अर्थ, महत्त्व एवं विशेषतायें-
अर्थ ।
महत्त्व (1) शिक्षण कार्य को दिशा (2) आत्म मूल्यांकन में सहायक (3) उपचारात्मक शिक्षण में सहायक (4) सुनियोजित गतिविधियाँ (5) शिक्षक विषय की समुचित तैयारी (6) अन्य।
विशेषतायें-(1) लचीली (2) साधनों के अनुसार (3) शारीरिक व मानसिक योग्यता के अनुसार (4) सभी योजनाओं में समन्वय
6. वैज्ञानिक अभिवृत्ति का अर्थ एवं विकास-
वैज्ञानिक अभिवृत्ति- (1) तर्कपूर्ण व क्रमबद्ध विचार (2) वातावरण एवं प्र्यावरण के प्रति जिज्ञासा (3) वैज्ञानिक जिज्ञासा (4) सत्य, निष्पक्षता, न्यायप्रियता व धैर्य के गुणों का विकास (5) अन्य ।
छात्रों में वैज्ञानिक अभिवृत्ति की पहचान ।
वैज्ञानिक अभिवृत्ति का विकास-(1) समस्या का उचित समाधान खोजकर छात्रों को बताये (2) उपयुक्त शिक्षण विधियों का प्रयोग (3) वैज्ञानिक अनुसंधान अभिवृत्ति उत्पन्न करना (4) अन्य।
7. वैज्ञानिक अभिरुचि का अर्थ, पहचान एवं विकास-
वैज्ञानिक अभिरुचि।
वैज्ञानिक अभिरुचि की पहचान-(1) प्रेक्षण रुचि के आधार पर (2) प्रश्नावली बार (3) वस्तुओं के चुनाव की विधि (4) स्वैच्छिक प्रश्नों का रिकार्ड।
वैज्ञानिक अभिरुचि का विकास-(1) प्रोत्साहन एवं प्रशंसा (2) व्यक्तिगत मार्गदर्शन (3) रसायन विज्ञान की आवश्यकता एवं महत्व बताकर (4) मुख्य आविष्कार बताकर (5) दैनिक जीवन में रसायन विज्ञान का उपयोग (6) अन्य।
8. वैज्ञानिक अभिवृत्ति व अभिरुचि में अन्तर-
9. वैज्ञानिक साक्षरता का अर्थ एवं विकास-
निबन्धात्मक प्रश्नोत्तर
1. रसायन विज्ञान के पाठ्यक्रम के चयन एवं संगठन के सिद्धान्त तथा पाठ्यक्रम के संगठन एवं चयन को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारण-
रसायन विज्ञान के पाठ्यक्रम के चयन एवं संगठन के सिद्धान्त-

(1) बाल केन्द्रीयता का सिद्धान्त (2) क्रियात्मकता का सिद्धान्त (3) दूरदर्शिता का सिद्धान्त (4) संरक्षिता का सिद्धान्त (5) सद्भावना का सिद्धान्त (6) लचीलेपन का सिद्धान्त (7) जीवनोपयोगी होने का सिद्धान्त (8) सहसम्बन्ध व समन्वय का सिद्धान्त (9) अवकाश के सदुपयोग का सिद्धान्त।
पाठ्यक्रम के संगठन एवं चयन को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारण- (1) शिक्षण के उद्देश्य (2) छात्रों का आयु स्तर (3) छात्रों का मानसिक स्तर (4) पाठ्यवस्तु को प्रकृति (5) विषय का अन्य विषय से सहसम्बन्ध (6) ज्ञान का सदुपयोग (7) क्रियाशीलता (8) अग्रदर्शिता (9) वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास (10) विशेषज्ञों के विचार एवं सुझाव। वर्तमान पाठ्यक्रम के प्रमुख दोष एवं पाठ्यक्रम में सुधार हेतु सुझाववर्तमान पाठ्यक्रम के प्रमुख दोष (1) विषय-केन्द्रित (2) सैद्धान्तिक पक्ष पर अधिक बल (3) उद्देश्यों व लक्ष्यों की प्राप्ति में असफल (4) परीक्षा का बोझ (5) लचीलेपन का अभाव (6) उथला एवं सतही ज्ञान (7) विज्ञान के विविध क्रिया-कलापों का समावेश नहीं (8) अन्य।
पाठ्यक्रम में सुधार हेतु सुझाव- (1) दैनिक जीवन व समाज से सम्बन्धित (2) शिक्षण में चिन्तन को बढ़ावा (3) विषय-वस्तु रुचिकर, ज्ञानवर्धक आदि (4) प्रत्यक्ष अनुभव (5) लचीला (6) शारीरिक तथा मानसिक क्रियाकलाप (7) महान वैज्ञानिकों के कार्य (8) वैज्ञानिक दृष्टि (9) अन्य।
3. कैम स्टडी की प्रमुख विशेषतायें-
4. सी.बी.ए. पाठ्यक्रम का अर्थ, भाग एवं विशेषतायें-
रासायनिक बोण्ड उपागम का अर्थ ।
रासायनिक बोण्ड उपागम के भाग-(1) रासायनिक परिवर्तन और पदार्थों की परस्पर क्रिया (2) परमाणुओं की क्रिया से यौगिकों व अणुओं का बनना (3) अभ्रप्रतिदर्श कक्षीय व प्रतिदर्श (4) चैथे भाग के तीन उपभाग-(प) सहसंयोजक बंध की व्याख्या (प) घात्विक बंध की व्याख्या (पपप) आयनिक बंध की व्याख्या (5) पांचवें भाग में दो बिन्दु (प) रासायनिक संतुलन (पप) रासायनिक क्रिया।
रासायनिक बंध उपागम के उद्देश्य।
रासायनिक बंध उपागम में प्रोजेक्ट व्यवस्था।
रासायनिक बंध उपागम की विशेषताएँ।
सी.बी.ए. सम्बन्धी सूचनाएँ।
5. रसायन विज्ञान में नफील्ड “अ” स्तर का पाठ्यक्रम-
1. अर्थ। 2. विशेषताएँ। 3. सामान्य सूचनाएँ। 4. उद्देश्य। 5. कार्यक्षेत्र- (1) सलाहकार समिति (2) अध्यापक साधक समिति (3) शिक्षा मंत्रालयी समिति (4) शिक्षकों की समिति।
6. रसायन विज्ञान में नफील्ड कैमिस्ट्री परियोजना ‘‘ओ‘‘ लेवल स्तर के पाठ्यक्रम की विशेषतायें-
7. पाठ योजना के सोपान-(1) तैयारी (2) प्रस्तुतीकरणं (3) तुलना (4) सामान्यीकरण (5) अनुप्रयोग (6) संक्षिप्त पूर्व विवरण देना।
8. रसायन विज्ञान शिक्षक के सामान्य व विशेष गुण-
रसायन विज्ञान अध्यापक के सामान्य गुण-(1) प्रभावशील व्यक्तित्व (2) आत्मविश्वासी (3) नेतृत्व की क्षमता (4) कार्य के प्रति लगाव (5) सहनशीलता (6) विनोदप्रिय।
रसायन विज्ञान अध्यापक के विशेष गुण (1) मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण (2) अपने विषय का पंडित (3) प्रयोग करने की योग्यता (4) अध्यापन कार्य में रुचि (5) शिक्षण कला का ज्ञाता (6) निष्पक्ष दृष्टिकोण (7) प्रयोगशाला संचालन की योग्यता (8) स्पष्टवादिता (9) परिश्रमी व उत्साही (10) अन्य विषयों का ज्ञान।
9. वैज्ञानिक दृष्टिकोण की उपेक्षा के कारण एवं विकसित करने के उपाय-
वैज्ञानिक दृष्टिकोण की उपेक्षा के कारण- (1) अध्यापकों की अध्यापन के प्रति अरुचि (2) शिक्षण प्रशिक्षण संस्थानों का गिरता स्तर (3) विद्यालयों में सुविधाओं का अभाव (4) दोषपूर्ण पाठ्यक्रम (5) दोषपूर्ण परीक्षा प्रणाली (6) शिक्षा के प्रति सरकार की उपेक्षा।
वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने के उपाय- (1) नवीन शिक्षण विधियों (2) छात्रों द्वारा पुस्तकालय का उपयोग (3) छात्रों को जिज्ञासाओं को (4) अध्यापक का व्यक्तित्व (5) पुस्तकों में दिए गए अध्यायों का प्रयोग सहगामी क्रियाएँ (7) प्रशिक्षण प्रणालियों में सुधार (8) शिक्षक प्रशिक्षक संस्थाओं में उचित प्रशिक्षण (9) शिक्षकों व शिक्षाधिकारियों का कर्तव्य ।
10. वैज्ञानिक विधि के भाग
(1) समस्याओं का अनुभव (2) समस्या का परिभाषीकरण (3) उपकल्पनाओं की निर्माण (4) सूचनाओं का एकत्रीकरण (5) सबसे अधिक सम्भावित उपकल्पना की चयन एवं मूल्यांकन (6) उपकल्पनाओं का मूल्यांकन एवं निष्कर्षों का निर्माण (7) प्रयोग।
11. वैज्ञानिक दृष्टिकोण की पहचान एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण को विकसित करने के उपाय-
वैज्ञानिक दृष्टिकोण की पहचान अथवा वैज्ञानिक दृष्टिकोण वाले व्यक्तियों के गुण-(1) व्यापक दृष्टिकोण (2) अन्धविश्वासों से विमुखता (3) सुस्पष्टता (4) जिज्ञासा (5) सत्य के प्रति निष्ठा (6) विनम्रता (7) उदारमति (8) समस्याओं का क्रमबद्ध निदान (9) ईमानदारी।
वैज्ञानिक दृष्टिकोण को विकसित करने के उपाय- (1) नवीन शिक्षण विधियों का प्रयोग (2) छात्रों द्वारा पुस्तकालय का उपयोग (3) छात्रों की जिज्ञासाओं को शान्त करना (4) अध्यापक का व्यक्तित्व (5) पुस्तकों में दिए गए अभ्यासों का प्रयोग (6) पाठ्य सहगामी क्रियाएँ (7) प्रशिक्षण प्रणालियों में सुधार (8) शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं में उचित प्रशिक्षण (9) शिक्षकों व शिक्षाधिकारियों का कर्तव्य।
12. किसी प्रकरण पर एक पाठ योजना-
13. किसी प्रकरण पर एक पाठ योजना

Unit – III
लघूत्तरात्मक प्रश्नोत्तर
1. आगमन और निगमन विधियों में अन्तर-
2. अभिक्रमित अनुदेशन का अर्थ एवं परिभाषायें-
अर्थ। परिभाषायें-रिचमण्ड, कोरे, स्टाफेल, सुसन एवं मार्कल. एविल के अनुसार।
3. अच्छे प्रदर्शन की विशेषताएँ
(1) नियोजित प्रदर्शन (2) स्पष्ट उद्देश्य व लक्ष्य (3) समस्यात्मक (4ं) सभी का दिखाई दे (5) सुव्यवस्थित (6) सरलता व सहजता (7) रुचिपर्ण (8) छात्रों द्वारा सम्पन्न (9) उद्देश्यपूर्ण (10) उपकरणों का संयोजन (11) सहायक सामग्री का उपयोग (12) पारस्परिक सहयोग।
4. प्रायोजना विधि व समस्या समाधान विधि में अन्तर-
5. कम्प्यूटर आधारित अधिगम-
निबन्धात्मक प्रश्नोत्तर
1. रसायन विज्ञान शिक्षण की ह्यूरिस्टिक विधि अर्थ-
अर्थ। परिभाषायें- हर्बट स्पेन्सर, वेस्टावे, प्रोफेसर आर्मस्ट्रांग के अनुसार।
गण- (1) मनोवैज्ञानिक (2) वैज्ञानिक लालसा (3) प्रोत्साहित (4) वैज्ञानिक तथा व्यवहारिक (5) गृहकार्य में कमी (6) स्वाध्याय पर बल (7) तार्किक दृष्टिकोण का विकास (8) अन्य।
दोष- (1) पाठयक्रम को समाप्त करने में कठिनाई (2) समय का अभाव (२) अध्यापक से अधिक आशा करना (4) छात्रों से आवश्यकता से अधिक आशा करना (5) खर्चीली विधि (6) त्रुटिपूर्ण निर्णय की संभावना (7) उन्नति में बाधक (8) अन्य।
सुझाव- (1) केवल चुने हुए पाठों पर (2) परिश्रमी व ज्ञानी शिक्षक (3) अन्य।
2. रयासन विज्ञान में आगमन-निगमन विधि-
आगमन विधि का अर्थ।
परिभाषायें-थंग, लैण्डन के अनुसार ।
आगमन विधि के शिक्षण सूत्र-(1) विशिष्ट से सामान्य की ओर (2) ज्ञात से अज्ञात की ओर (3) प्रत्यक्ष से प्रमाण की ओर (4) उदाहरण से नियम की ओर (5) स्थूल से सूक्ष्म की ओर।
निगमन विधि का अर्थ ।
परिभाषायें-लैण्डल के अनुसार।
निगमन विधि के शिक्षण सूत्र-(1) अज्ञात से ज्ञात की ओर (2) प्रमाण से प्रत्यक्ष की ओर (3) नियम से उदाहरण की ओर (4) सूक्ष्म से स्थूल की ओर (5) सामान्य से विशिष्ट की ओर।
3. रसायन विज्ञान पढ़ाने की प्रयोजना विधि-
प्रायोजना विधि का अर्थ।
परिभाषायें-किलपैट्रिक, बेलार्ड, प्रो. स्टीवेन्सन, पारकर के अनुसार।
कार्य प्रणाली- (1) परिस्थिति प्रदान करना (2) योजना के उद्देश्य एवं चयन (3) कायक्रम बनाना (4) क्रियान्वयन (5) मूल्यांकन (6) कार्य लेखन।
गुण- (1) अधिगम का स्थाईकरण (2) मानसिक विकास के लिए उपयुक्त (3) आत्म विकास (4) सामाजिकता की भावना (5) विकास के समान अवसर (6) गृह और समाज से संबंधित (7) मनोवैज्ञानिक विधि।। दोष-(1) अव्यवस्थित पाठय विधि (2) उचित मूल्यांकन संभव नहीं (3) अधिक महंगी (4) विषयों के क्रमबद्ध अध्ययन का अभाव (5) प्रत्येक विद्यालय में संभव नहीं।
4. रसायन विज्ञान में समस्या समाधान विधि-
समस्या समाधान विधि का अर्थ ।
परिभाषायें- वुडवर्थ, जार्ज जॉनसन, गेट्स तथा अन्य, स्किनर के अनुसार।
सोपान या चरण-(1) समस्या का चयन करना (2) समस्या से सम्बन्धित तयों एकत्रीकरण एवं व्यवस्था (3) समस्या का महत्व स्पष्ट करना (4) तथ्यों की जाँच न संभावित हलों का निर्णय (5) सामान्यीकरण एवं निष्कर्ष निकालना (6) निष्कर्षों का मूल्यांकन एवं समस्या का लेखा-जोखा बनाना।
विशेषताएँ-(1) सूझबूझ या अन्तर्दृष्टिपूर्ण (2) सृजनात्मक (3) चयनात्मक (4) आलोचनात्मक (5) लक्ष्य-केन्द्रित विधि ।
गुण- (1) वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास (2) जीवन की समस्याओं को सुलझाने में सहायक (3) तथ्यों का संग्रह और व्यवस्थित करना (4) अनुशासन को बढ़ावा (5) स्वाध्याय की आदत का निर्माण (6) स्थायी ज्ञान (7) पथ-प्रदर्शन (8) विभिन्न गुणों का विकास।
दोष – (1) संदर्भ सामग्री का अभाव (2) चयनित अंशों का अध्ययन (3) नीरस शैक्षणिक वातावरण (4) निर्मित समस्याओं का वास्तविक जीवन की समस्याओं से तालमेल का अभाव (5) प्राथमिक कक्षाओं के लिए अनुपयुक्त (6) समस्या का चुनाव एक कठिन कार्य (7) संतोषजनक परिणामों का अभाव (8) अधिक समय खर्च होना (9) अनुभवी शिक्षकों की आवश्यकता।
सुझाव- (1) समस्या मानसिक स्तर की हो (2) रुचि के अनुसार हो (3) पहले सरल, फिर कठिन समस्या देनी चाहिए (4) अन्य।
5. रसायन विज्ञान शिक्षण में प्रयोगशाला विधि का अर्थ, गुण एवं दोष-
प्रयोगशाला विधि का अर्थ।
प्रयोगशाला विधि के गुण- (1) सत्यापन स्वयं प्रयोगशाला में (2) दृष्टिकोण वैज्ञानिक (3) वैज्ञानिक क्षमता (4) वैज्ञानिक परिणामों की जाँच (5) बालक सक्रिय ।
प्रयोगशाला विधि के दोष-(1) छोटी कक्षाओं के लिए उपयुक्त नहीं (2) काफी खर्चीली (3) मन्द बुद्धि बालकों के लिये अनुपयोगी (4) अधिक समय।
6. दल शिक्षण का अर्थ, परिभाषायें एवं लाभ-
अर्थ । परिभाषायें-कार्लो आलसन, शेफलिन तथा ओल्डस, देसाई के अनुसार।
लाभ-(1) शिक्षकों का अभाव (2) छात्र संख्या में वृद्धि (3) विज्ञान की प्रगति (4) पाठ्यक्रमों में परिवर्तन (5) ज्ञान में वृद्धि (6) नवीन शिक्षण योजनाओं का विकास।
7. सूक्ष्म शिक्षण का अर्थ एवं गुण-दोष
अर्थ।
परिभाषायें-पैक व टूकर, बुश, मैक्नाइट, एलन, मैक कालम के अनुसार।
गुण- (1) छात्रों की संख्या कम (2) विधि सरल व भय रहित (3) तुरन्त पृष्ठ पोषण (4) लघु पाठ्यवस्तु (5) अन्य।
दोष-(1) अव्यवहारिक विधि (2) प्राशाक्षत अध्यापकों का अभाव (3) व्यय साध्य विधि (4) अन्य।