A full adder consists of input and outputs in hindi एक पूर्ण योजक में कितने इनपुट आउटपुट होते है

By  

एक पूर्ण योजक में कितने इनपुट आउटपुट होते है A full adder consists of input and outputs in hindi ?

प्रश्न :  A full adder consists of
एक पूर्ण योजक में होते है।
(अ) Two inputs and one output
दो निविष्ट और एक निर्गत
(ब) One input and two outputs
एक निविष्ट और दो निर्गत
(स) Three inputs and two outputs
तीन निविष्टि और दो निर्गत
(द) Two inputs and three outputs
दो निविष्ट और तीन निर्गत
Ans : (स) एक पूर्ण योजक में तीन इनपुट और दो आउटपुट होते है। पूर्ण योजक एक समय में 3 बिट का योग कर सकता है। इसमें तीसरा बिट निम्न क्रम के बिट के योग से प्राप्त कैरी होती है। इसे दो हाफ एडर तथा व्त् गेट को प्रयुक्त कर बनाया जाता है।
प्रश्न :  The flip flop circuit is :
फ्लिप-फ्लॉप परिपथ है:
(अ) Unstable / अस्थिर (ब) Multistable / बहुस्तरीय
(स) Monostable / एकस्तरीय (द) Bistable / द्विस्तरीय
Ans : (द) फ्लिप-फ्लॉप परिपथ बाइस्टेबल होता है। फ्लिपफ्लॉप एक डिजिटल मेमोरी परिपथ है। इसकी दो स्थायी अवस्थायें होती है। एक अवस्था 1 तथा दसूरी अवस्था 0 कहलाती है। ऐसी युक्ति अथवा परिपथ जिसकी दो स्थायी अवस्थायें होती है। बाइस्टेबल कहलाती है।

1. On multiplying (4011)2 by (1401)2 we get :
(1401)2 के द्वारा (4011)2 को गुणा करने पर, प्राप्त होगा।
(अ) 40001400 (ब) 40001111
(स) 40001140 (द) 40004011
Ans : (ब)) दिया गया नम्बर बाइनरी पद्धति में है तथा बाइनरी में केवल 0 व 1 हो सकते हैं। अतः प्रश्न में दिये 4 के स्थान पर 1 लेकर हल करने पर-
10112 = 1110
(1101)2 = (13)10
11×13 = 143
(143)10 = (10001111)2
2. Which of the following refers to NOR gate ?
निम्न में से कौन सा NOR गेज को प्रदर्शित करता है।

(अ)

(ब)

(स)

(द)

Ans : (ब) OR  गेट यह एक लॉजिक परिपथ है जिसमें किसी एक अथवा अधिक इनपुट टर्मिनल्स पर उच्च संकेत 1 देने पर आउटपुट भी उच्च अर्थात् 1 प्राप्त होता है। यदि किसी भी इनपुट टर्मिनल को इनपुट संकेत न दिया जाए तो आउटपुट 0 रहता है।
3. Consider the figure below.
The figure is an electric equivalent of :
नीचे दिये गये चित्र पर विचार करें। चित्र एक इलेक्ट्रिक समतुल्य है।

(अ) NAND gate (ब) XOR gate
(स) AND gate (द) OR gate
Ans : (स) दिया गया ।छक् हंजम के समतुल्य है।
4. What is the output of the figure given below ?
नीचे दिये गये चित्र का आउट पुट होगा?

(अ) A. B (ब) A + B
(स) (A + B).B (द) (A .B).A
Ans : (ब)

दिये गये चित्र में आउटपुट A + B होगा क्योंकि दोनों OR गेट है।
5. The following picture is a logical diagram of
निम्नलिखित चित्र का तार्किक आरेख है:

(अ) Full adder / पूर्ण योजक
(ब) Full subtractor / पूर्ण सब्सट्रेक्टर
(स) Half adder / अर्द्ध योजक
(द) Half subtractor / अर्द्ध सब्सट्रेक्टर
Ans : (स) हाफ एडर का प्रयोग डिजिटल परिपथों में गणितीय कार्य के लिए किया जाता है। दो 1 बिट संख्याओं को जोड़ने के लिए प्रयुक्त किये जाने वाला लॉजिक परिपथ हॉफ एडर कहलाता है। हाफ एडर द्वारा जोड़ने कि क्रिया भी उसी प्रकार है। दो बाइनरी संख्याओं को जोड़ने पर कैरी उत्पन्न हो सकती है।
6. According to algebra logic, (A + A’) generates :
बीजगणितीय तर्क के अनुसार (A + A’) निकलेगा।
(अ) 0 (ब) 1 (स) A (द) A+A’
Ans : (ब) बीज गणितीय तर्क के अनुसार A़A’ = 1 होगा डिमोर्गन प्रमेय के अनुसार।
7. In general, which of the following flip flops are used as shift registers ?
सामान्य रूप से निम्न फ्लिप फ्लॉप को शिफ्ट रजिस्टर के रूप में उपयोग किया जाता है।
(अ) D  (ब) JK (स) SR (द) T
Ans : (ब) समान्य रूप से JK फ्लिप-फ्लॉप को शिफ्ट रजिस्टर के रूप में उपयोग किया जाता हैं। जब J तथा K दोनों इनपुट Low होती है। तब दोनों  AND गेट्स Disable हो जाते है। अतः फ्लॉप पल्स का कोई प्रभाव नहीं होता है। तथा आउटपुट अपने अन्तिम मान पर ही रहती है।
सत्य सारणी
CLK J K Q a़1
x~ 0 0 Qa ;Last value)
a 0 1 0
a 1 0 1
a 1 1 Qa ;Toggle)

10. Octal coding involves grouping of bits in
अष्टक कोडिंग में बिट्स का समूह शामिल है।
(अ) 3’s (ब) 4’s (स) 5’s (द) 6’s
Ans : (अ) अष्टक कोडिंग में बिट्स का समूह 3’s शामिल है।
11. Which of the following is the fastest
unsaturated logic gate ?
निम्न में से कौन सा सबसे तेजी से असंतृप्त तर्क गेट है।
(अ) RTL (ब) HTL
(स) TTL (द) ECL
Ans : (द) ECL  सबसे तेजी असंतृप्त तार्किक गेट है। ECL की गति अन्य सभी लॉजिक परिवारों से अधिक होती है। ECL में उच्च गति प्राप्त होने का मुख्य कारण यह है कि इसमें ट्रांजिस्टर डिफेन्स एम्प्लीफायर प्रणाली में संयोजित किये जाते है।
12. The range of output voltage when circuit changes from 1 state to another is
आउटपुट वोल्टेज की परास होगी जब सर्किट 1 अवस्था से दूरसरे में बदल जाता है।
(अ) 0.1-0.5 ns (ब) 0.5-50 ns
(स) 50-400 ns (द) 0.5-5.0 ns
Ans : (ब) आउटपुट वोल्टेज की परास 0.5 से 50 दे होगी जब सर्किट 1 अवस्था से दूसरे में बदल जाता है।
13. As compared to parallel adder, serial adder
सीरियल योजक, समान्तर योजक की तुलना मेंः
(अ) Is less faster / कम तेज है।
(ब) Needs more components
अधिक घटको की आवश्यकता है।
(स) Uses register with parallel load
समान्तर लोड के साथ रजिस्टरों का उपयोग करता है।
(द) Is a combinational circuit
एक संयोजक परिपथ है।
Ans : (अ) सीरियल योजक, समान्तर योजक की तुलना में कम तेज होता है। सीरियल योजक आमतौर पर धीमा होता है, इसमें शिफ्ट रजिस्टर्स का प्रयोग होता है तथा इसमें एक पूर्ण योजक परिपथ की आवश्यकता होती है। समान्तर योजक, सीरियल योजक की अपेक्षा तेज होता है।
14. Look ahead carry generators have
आगे देखो ले जाने के लिए जनरेटर हैः
(अ) Low propagation delay time
कम प्रचार देरी समय
(ब) High propagation delay time
उच्च प्रचार देरी समय
(स) No additional circuitry / कोई अतिरिक्त सर्किट नहीं
(द) Speed dependent on number of bits
गति बिट्स की संख्या पर निर्भर करती है।
Ans : (अ) कम प्रचार देरी समय
15. A decoder is a:
एक डिकोडर है, एक
(अ) Synchronous circuit / तुल्लीयकाली परिपथ
(ब) Combinational circuit / संयोजक परिपथ
(स) Sequential circuit / अनुक्रमिक परिपथ
(द) Digital circuit / डिजिटल परिपथ
Ans : (ब) डिकोडर एक ऐसा लाजिक परिपथ है जो उसके इनपुट पर दिये गये संकेतों के प्रत्येक Combination की पहचान कर सकता है जैसे की आउटपुट में चार आउटपुट लाइन होगी।
16. A multiplexer is a logic circuits that gets
बहुसंकेतक एक तर्क सर्किट होता है जो प्राप्त करता है।
(अ) Single input to several outputs
कई आउटपुट के लिए एकल इनपुट
(ब) Single input to single output
एकल आउटपुट के लिए एकल इनपुट
(स) Several inputs to single output
एकल आउटपुट के लिए कई इनपुट
(द) Several inputs to no output
कई इनपुट किसी आउटपुट के लिए नहीं
Ans : (स) बहुसंकेतक एक तर्क सर्किट होता है जो कि कई इनपुट के लिए एक आउटपुट हो जाता है। परिपथ में किसी एक इनपुट लाइन को sclect किया जाता है तथा उसी selected इनपुट को आउटपुट पर ट्रांसफर किया जाता है। इनपुट selection का कार्य कन्ट्रोल सिगनल करता है।
17. Race condition always arise in Race
की स्थिति हमेशा निकलती है।
(अ) Digital circuits / डिजिटल परिपथ
(ब) Synchronous circuits / तुल्यकाली परिपथ
(स) Asynchronous circuits / अतुल्यकाली परिपथ
(द) Combinational circuits / संयोजक परिपथ
Ans : (स) Race स्थिति हमेशा निकलती है उसे Asynchronous परिपथ कहते है।
18. Which of the following instruments present signal wave forms visually ?
निम्नलिखित यन्त्र में से कौन सा संकेत तरंग रूपों में अपेनंससल दिखाई देता है।
(अ) C.R.O
(ब) Wattmeter / वाटमीटर
(स) Thermocouple / थर्मोकपल
(द) L.V.D.T.
Ans : (अ) C.R.O. यंत्र में संकेत तरंग अपने में Visually दिखाई देता है। समय पर आधारित वोल्टता की आवश्यकता C.R.O. पर्दे (स्क्रीन) पर तरंग-रूप को दर्शाने के लिए होती है। जिस तरंग रूप को पर्दो पर दर्शाते हैं उससे सम्बन्धित प्रत्यावर्ती धारा वाली वोल्टता को वर्टीकल डिफ्लेक्शन प्लेटों के एक्रोस लगाया जाता है।
19. Direct measurement of pressure can be done using
दबाव के प्रत्यक्ष माप का उपयोग करके किया जा सकता है।
(अ) Rota meter / रोटोमीटर
(ब) Borden tube / बोर्डेन ट्यूब
(स) LVDT
(द) Strain gauge / स्ट्रेन गेज
Ans : (ब) दबाव के प्रत्यक्ष मापन बर्डेन ट्यूब का उपयोग करके किया जा सकता है।
20. At the resonant frequency in LC circuit,
LC सर्किट में अनुनाद आवृत्ति पर
(अ) Current is maximum / धारा अधिकतम है।
(ब) Current is minimum / धारा कम है।
(स) Impedance is maximum / प्रतिबाधा अधिकतम है।
(द) Voltage across C is minimum
C के पार्श्व में वोल्टेज न्यूनतम है।
Ans : (अ) परिपथ मं अनुनाद आवृत्ति पर धारा अधिकतम होती है।
f1 = 1/2π√LC
f = अनुनाद आवृत्ति
L = प्रेरकत्व
C = संधारित्र