ओजोन में ऑक्सीजन की परमाणुकता कितनी है ? atomicity of ozone

By  
प्रश्न 2 : ओजोन में ऑक्सीजन की परमाणुकता (atomicity of ozone) कितनी है ?

(a) 1
(b) 2
(c) 3
(d) 4
उत्तर : (c) 3
ओजोन में ऑक्सीजन की परमाणुकता 3 होती है।
किसी भी अणु में उपस्थित परमाणुओं की संख्या उस अणु की परमाणुकता कहलाती है और क्यूंकि ओजोन अणु तीन ऑक्सीजन परमाणुओं से बना हुआ होता है इसलिए इसकी परमाणुकता तीन होती है , इसकी संरचना निम्न है –

 

ओजोन का रासायनिक सूत्र O3 होता है तथा ओजोन भी ऑक्सीजन का ही एक रूप होता है , O3 एक त्रिपरमाणुक अणु होता है जो तीन ऑक्सीजन के परमाणुओं से मिलकर बना हुआ होता है , O3 हमारे वातावरण में ऊपर एक परत के रूप में विद्यमान रहती है और ओजोन (O3) हमारी धरती पर रहने वाले जीवो की सूर्य से आने वाली खतरनाक पराबैंगनी किरणों से रक्षा करता है।
अर्थात हमारे वातावरण में ऊपर रहने वाली ओजोन गैस एक परत का निर्माण करती है और यह परत सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणों को धरती की सतह पर आने से रोकती है जिससे धरती पर रहने वाले जीव सुरक्षित रह पाते है क्यूंकि सूर्य से आने वाली पराबैंगनी किरणें जीवो के लिए बहुत ही अधिक खतरनाक होती है।
ओजोन शुद्ध रूप में नील रंग की गैस होती है और इस गैस में तीव्र गंध आती है जो कि चिड़चिडी होती है अर्थात इसमें बहुत गन्दी गंध उत्पन्न होती है। इस गैस की गंध के कारण सर दर्द और स्वभाव चिडचिडा हो सकता है इसलिए कहा जाता है कि इसकी गंध बहुत ही अधिक तीव्र और गंदी होती है।
लेकिन यदि यही ही गैस बहुत ही कम मात्रा में हो तो यह काफी अच्छी महसूस होती है।
ओजोन गैस , सामान्य गैस से लगभग डेढ़ गुना अधिक भारी होती है , यह गैस पानी में ऑक्सीजन गैस से भी अधिक घुलने का गुण रखती है।
अब बात करते है इसके निर्माण की –
जब सूर्य का प्रकाश नाइट्रोजन डाइ ऑक्साइड पर गिरती है तो यह नाइट्रोजन डाइ ऑक्साइड दो भागो में टूट जाता है पहला नाइट्रोजन ऑक्साइड और दूसरा मुक्त ऑक्सीजन गैस का परमाणु।
हमारे वातावरण में पायी जाने वाली ऑक्सीजन गैस के साथ यह मुक्त ऑक्सीजन का परमाणु जुड़ जाता है और ओजोन (O3) का निर्माण हो जाता है और इस प्रकार हमारे वातावरण में ओजोन का निर्माण होता है।
जल और हवा के शुद्धिकरण में ओजोन का उपयोग किया जाता है।