परमाणु क्रमांक क्या है , परिभाषा , उदाहरण what is atomic number in hindi

(what is atomic number in hindi ) परमाणु क्रमांक क्या है , परिभाषा , उदाहरण : किसी परमाणु के नाभिक में प्रोटॉन की संख्या को ही परमाणु क्रमांक कहते है।
इसे Z से प्रदर्शित किया जाता है।
किसी भी परमाणु को पहचानने के लिए परमाणु क्रमांक एक अद्वितीय पहचान प्रदान करता है , अर्थात परमाणु क्रमांक हर परमाणु का अलग अलग होता है अत: इसके आधार पर हर परमाणु को पहचान मिलती है।
परमाणु क्रमांक (Z) और न्यूट्रॉन की संख्या के योग को उस परमाणु का परमाणु भार कहते है।
चूँकि सामान्य अवस्था में अर्थात परमाणु पर कोई आवेश न हो तो इस स्थिति में इलेक्ट्रॉन और प्रोटोन की संख्या बराबर होती है इस स्थिति में परमाणु क्रमांक का मान इलेक्ट्रान की संख्या के बराबर होता है।
किसी भी परमाणु में न्यूट्रॉन की संख्या अलग अलग हो सकती है , जब एक ही प्रकार के परमाणुओं में अलग अलह न्यूट्रॉन की संख्या पायी जाती है तो इन परमाणुओं को आइसोटोप कहते है।
किसी भी परमाणु के लिए परमाणु भार की गणना निम्न प्रकार करते है –
परमाणु भार = प्रोटोन + न्यूट्रॉन
आइसोटोप परमाणुओं में परमाणु क्रमांक तो समान होता है अर्थात उनमे प्रोटोन की संख्या तो समान होती है लेकिन न्यूट्रॉन की संख्या अलग अलग होती है , इसलिए इन्हें आइसोटोप परमाणु कहते है।
कोई भी रासायनिक तत्व जब आवर्त सारणी में रखा जाता है तो यह परमाणु क्रमांक के आधार पर ही रखा जाता है , आवर्त सारणी में तत्वों को उनके बढ़ते परमाणु क्रमांक के रूप में रखा जाता है।
आवर्त नियम के अनुसार किसी परमाणु को आवर्त सारणी में रखने के लिए उस तत्व के भौतिक और रासायनिक गुणों को ध्यान में रखा जाता है लेकिन सामान्यत: देखे तो आवर्त सारणी में तत्वों को उनके बढ़ते परमाणु क्रमांक के रूप में लिखते है।
परमाणु क्रमांक की परिभाषा : “किसी परमाणु के नाभिक में उपस्थित प्रोटोन की संख्या को ही परमाणु क्रमांक कहते है। “

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *