अम्ल और क्षारक ( रासायनिक अभिकिया ) acid base and salt class 10 in hindi pdf

By  
acid base and salt class 10 in hindi pdf , अम्ल और क्षारक ( रासायनिक अभिकिया ) :-
इससे पहले के article मे , अम्ल का धातु के साथ अभिकिया को discuss किया था | अब इस article मे अम्ल और क्षार का बाकि के धातु और chemical के साथ अभिकिया और रासायनिक अभिकिया को discuss करेगे |1.धातु कार्बोनेट तथा धातु हाइड्रोजनकार्बोनेट अम्ल के साथ अभिक्रिया
जब अम्ल की अभिकिया धातु कार्बोनेट तथा धातु हाइड्रोजनकार्बोनेट  के साथ करायी जाती है तब उत्पाद के रूप मे लवण, कार्बन डाइऑक्साइड एवं जल प्राप्त होता है | इसके लिए निन्म उदाहरन को discuss करेगे |
क्रियाकलाप 2-
1.दो परखनलियाँ लीजिए। उन्हें ‘A’ एवं ‘B’ से चिन्हित करगे । दोनों परखनली में लगभग  सोडियम कार्बोनेट Na2Co3 और  सोडियम हाइड्रोजनकार्बोनेट NaHCo3 लीजिए।
2.दोनों परखनलियों में लगभग थोडा सा अम्ल मिलाइए।
तो परखनली मे गैस निष्काषित होती है | इस गैस को check करने के लिए जलती हुई मोमबतीको गैस के उपर ले जाते है या इस गैस को  चूने के पानी मे प्रवाहित करते है |
ये करने के बाद जलती हुई मोमबती बुझ जाती है और  चूने के पानी  मे  श्वेत अवक्षेप आ जाता है |
उत्पाद की तरह मिले  कार्बन डाइऑक्साइड गैस को चूने के पानी से प्रवाहित करने पर,Ca(OH)2 (चूने का पानी) (श्वेत अवक्षेप) अत्यधिक मात्र में कार्बन डाइऑक्साइड प्रवाहित करने पर निम्न अभिक्रिया होती हैः
Ca(OH)2     +    CO 3  ———>    CaCo3    + H2oइस अभिक्रिया को निन्म प्रकार से व्यक्त कर सकते हैंः
धातु कार्बोनेट/धातु हाइड्रोजनकार्बोनेट + अम्ल ————-> लवण + कार्बन डाइऑक्साइड + जल

1.अगर HCL को धातु  CaCo3  को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
2HCL + CaCo3   ————-> CaCl2    + H2O + CO2

2.अगर H2SO4 को धातु  NaHCo3 को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
2H2SO4 + 2NaHCo3  ————-> Na2SO4    + 2H2O + 2Co2

3.अगर HNO3 को धातु  CaCo3 को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
2HNO3 + CaCo3  ————-> CaNo3    + H2O  + Co2

अम्ल एवं क्षारक की अभिक्रिया
जब  अम्ल एवं क्षारक की अभिक्रिया की जाती है तब उत्पाद की तरह लवण और जल प्राप्त होती है | इसके लिए निन्म प्रयोग को use किया जाता है |
एक परखनली में लगभग  HCL का घोल लीजिए एवं उसमें थोडा NaOH विलयन डालिए। तब  विलयन का रंग सफ़ेद हो जाता है  ये सफ़ेद रंग NaCl के कारन हो जाता है |
जब  अम्ल एवं क्षारक की अभिक्रिया की जाती है अम्ल द्वारा क्षारक का प्रेक्षित प्रभाव तथा क्षारक द्वारा अम्ल का प्रभाव खत्म हो जाता है। अभिक्रिया को निन्म प्रकार लिख सकते हैंः
अम्ल     +   क्षारक      —————->  लवण    +   जल
अम्ल एवं क्षारक की अभिक्रिया के परिणामस्वरूप लवण तथा जल प्राप्त होते हैं तथा इसे उदासीनीकरण अभिक्रिया कहते हैं। सामान्यतः उदासीनीकरण अभिक्रिया को इस प्रकार लिख सकते हैंः

1.अगर HCL को धातु  NaOH  को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
HCL + NaOH   ————-> NaCl    + H2O

2.अगर H2SO4 को धातु  NaOH को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
H2SO4 + 2NaOH  ————-> Na2SO4    + 2H2O

3.अगर HNO3 को धातु  NaOH  को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
HNO3 + NaOH   ————-> NaNo3    + H2O

अम्लों के साथ धात्विक ऑक्साइडों की अभिक्रियाएँ
जब अम्ल की अभिकिया धात्विक ऑक्साइडों  के साथ करायी जाती है तब उत्पाद के रूप मे लवण एवं जल प्राप्त होता है | इसके लिए निन्म उदाहरन को discuss करेगे |
क्रियाकलाप 2-
बीकर में कॉपर ऑक्साइड की अल्प मात्र लीजिए एवं हिलाते हुए उसमें धीरे-धीरे तनु हाइड्रोक्लोरिक अम्ल मिलाइए।  विलयन के रंग नीला हो जाता है जो की  कॉपर क्लोराइड के कारण होता है |
धातु ऑक्साइड एवं अम्ल के बीच होने वाली सामान्य अभिक्रिया को इस प्रकार लिख सकते हैंः
धातु ऑक्साइड + अम्ल ———————->  लवण +जल
क्षारक एवं अम्ल की अभिक्रिया के समान ही धात्विक ऑक्साइड अम्ल के साथ अभिक्रिया करके लवण एवं जल प्रदान करते हैं, अतः धात्विक ऑक्साइड को क्षारकीय ऑक्साइड भी कहते हैं। अभिक्रिया को इस प्रकार लिख सकते हैंः

1.अगर HCL को धातु  Na2O  को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
2HCL + Na2O3    ————-> 2NaCl    + H2O

2.अगर H2SO4 को धातु  CuO को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
H2SO4 + CuO  ————-> CuSO4    + H2O

3.अगर HNO3 को धातु  NaOH  को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
2HNO3 + K2O   ————-> 2KNo3    + H2O

क्षारक के साथ अधात्विक ऑक्साइड की अभिक्रियाएँ
जब क्षारक के साथ अधात्विक ऑक्साइड की अभिक्रियाएँ की जाती है तब उत्पाद की तरह लवण और जल प्राप्त होता है | इसके लिए निन्म उदहारण को consider किया जाता है |
प्रयोग  में कार्बन डाइऑक्साइड एवं कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड (चूने का पानी) के बीच हुई अभिक्रिया की जाती है । कैल्सियम हाइड्रॉक्साइड जो एक क्षारक है, कार्बन डाइऑक्साइड के साथ अभिक्रिया करके लवण एवं जल का निर्माण करता है।अधात्विक ऑक्साइड अम्लीय प्रकृति के होते हैं क्योकि चूँकि यह क्षारक एवं अम्ल के बीच होने वाली अभिक्रिया के समान है यह पर क्षारक   क्षार है और अधात्विक ऑक्साइड अम्ल है in दोनों की अभिकिया करने पर लवण प्राप्त होता है |
इसके लिए निन्म अभिकिया को consider करेगे :-
1.अगर NaOH को धातु  ClO को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
NaOH +  ClO    ————-> NaCl    + H2O

2.अगर 2KOH को धातु  IO को reaction करने पर निन्म reaction होती है :-
KOH +  IO  ————-> KI    + H2O

इस article मे , अम्ल और क्षारक की अलग अलग chemical के साथ अभिकिया को discuss किया है आगे के article अम्ल और क्षारक की और भी रासायनिक अभिकिया को discuss करेगे |