Monthly Archives: June 2018

परिसंचरण सम्बन्धित रोग , विद्युत हृदय लेख , ECG के उपयोग , द्विपरिसंचरण diseases of circulatory system

(diseases of circulatory system in hindi) परिसंचरण सम्बन्धित रोग : संधिवातीय रोग : इसे संधिवातिय ज्वर भी कहते है , इस रोग के दौरान ह्रदय कपाट शतिग्रस्त हो जाते है , जिससे ह्रदय में रुधिर का आवागमन अनियमित हो जाता है | इस रोग का उपचार शल्यक्रिया द्वारा कपाटों का प्रतिस्थापन कर किया जा सकता… Continue reading »

परिसंचरण तंत्र पथ , मनुष्य (मानव) में परिसंचरण तंत्र , human circulatory system in hindi , रुधिर वाहिकाएँ

मानव में परिसंचरण तंत्र , human circulatory system in hindi , परिसंचरण तंत्र पथ किसे कहते है ? परिभाषा क्या है ? रुधिर वाहिकाएँ | विभिन्न परिसंचरण पथ : एकल परिसंचरण पथ : मछलियों में दो कोष्ठीय ह्रदय एक आलिन्द व एक निलय युक्त होता है | इसमें अशुद्ध रुधिर (co2 युक्त) को बाहर पम्प… Continue reading »

रुधिर क्या है , अर्थ , परिभाषा , कार्य , रुधिर कोशिकाएँ , लाल , श्वेत रुधिर कोशिका , Rh-समूह , स्कन्दन या थक्का

परिसंचरण : उच्च अकशेरुकी , कशेरुकी एवं मानव में पोषक पदार्थो , गैसों , हार्मोन , अपशिष्ट पदार्थों एवं अन्य उत्पादों के परिवहन के लिए रुधिर पाया जाता है जिसे एक पेशीय ह्रदय द्वारा पम्प किया जाता है , इस सम्पूर्ण तंत्र को परिसंचरण तन्त्र कहते है , परिसंचरण तंत्र के निम्न भाग होते है… Continue reading »

फेफडो के आयतन एवं क्षमता , फेफडो की क्षमताएँ , श्वसन का नियमन , श्वसन में विकार

(Lung Volumes and Capacities in hindi ) फेफडो के आयतन एवं क्षमता : फेफड़ो के आयतन एवं क्षमताएँ मापने के लिए स्पाईरोमीटर उपकरण का उपयोग किया जाता है | फेफड़ो के निम्न आयतन होते है – ज्वारीय आयतन (TV) : निश्वसन में ली जाने वाली वायु या उच्छ श्वसन में निकाली जाने वायु के आयतन… Continue reading »

श्वसन की क्रियाविधि , कार्यविधि , Mechanism of Respiration in hindi रुधिर व CO2 का परिवहन

(Mechanism of Respiration in hindi ) श्वसन की क्रियाविधि : फुफ्फुसीय श्वसन : फेफडो में वायु भरने एवं बाहर निकालने को संवातन कहते है , यह दो क्रियाओं द्वारा होता है – निश्वसन (inspiration) : यह सक्रीय प्रावस्था है , इसमें डायफ्राम चपटा व संकुचित हो जाता है जिससे वक्ष गुहा का आयतन बढ़ जाता… Continue reading »

श्वसन की परिभाषा क्या है , respiration meaning in hindi प्रकार , उदाहरण , श्वसन किसे कहते है ?

(respiration meaning in hindi) श्वसन की परिभाषा क्या है , प्रकार , उदाहरण , श्वसन किसे कहते है ? respiration definition in hindi , प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष श्वसन , वायवीय और अवायवीय ? श्वसन : वे सभी क्रियाएँ जो ऑक्सीकरण द्वारा खाद्य पदार्थों से रासायनिक ऊर्जा मुक्त करने से सम्बन्धित होती है , श्वसन कहलाती… Continue reading »

पाचक एंजाइम एवं पाचन क्या है , परिभाषा , पचित भोजन का अवशोषण , स्वांगीकरण , विकार

(digestive enzyme in hindi) पाचक एंजाइम एवं पाचन : मानव में पाचन की क्रिया दो चरणों में पूर्ण होती है – यांत्रिक क्रिया : मुखगुहिका एवं आमाशय में यान्त्रिक क्रिया द्वारा भोजन को छोटे छोटे टुकड़ो में तोडा जाता है | रासायनिक क्रिया : भोजन के जटिल अणुओं को सरल अणुओं में बदला जाता है… Continue reading »

पाचन क्या है , मानव का पाचन तंत्र (human digestive system in hindi) , ग्रसनी , आमाशय , पाचक ग्रंथियाँ

(human digestive system in hindi) मानव का पाचन तंत्र ,  पाचन क्या है , की परिभाषा किसे कहते है ? ग्रसनी , आमाशय , पाचक ग्रंथियाँ , मनुष्य के पाचन अंग कौन कौन से होते है , चित्र , नाम लिस्ट ? पाचन (Digestion) : पाचन वह क्रिया है जिसमें भोजन के बड़े एवं जटिल… Continue reading »

पादप परिवर्धन , परिवर्धन को प्रभावित करने वाले कारक , क्या है , दीप्तिकालिता , बसंतीकरण

(plant development in hindi) पादप परिवर्धन परिवर्धन (development) :  बीजा अंकुरण से जरावस्था के मध्य होने वाले परिवर्तन सामूहिक रूप से परिवर्धन कहलाता है | एक पादप कोशिका के विकासात्मक प्रक्रम का अनुक्रम पौधे पर्यावरण के प्रभाव के कारण जीवन के विभिन्न चरणों में चित्र आरेख के अनुसार भिन्न पथो का अनुसरण करते है ,… Continue reading »

पादप वृद्धि एवं परिवर्धन , गुण , वृद्धि दर क्या है , परिभाषा , विभेदन , निर्वीभेदन तथा पुनर्विभेदन

(plant growth and development in hindi) पादप वृद्धि एवं परिवर्धन वृद्धि : सजीवो के परिमाण में स्थायी व अनुत्क्रमणीय परिवर्तन को वृद्धि कहते है | वृद्धि सभी सजीवो का लाक्षणिक गुण है , वृद्धि के दौरान आयतन तथा शुष्क भार दोनों में बढ़ोतरी (वृद्धि) होती है |वृद्धि उपापचयी प्रक्रियाओं से सम्बंधित है जो ऊर्जा के… Continue reading »