Windows XP का परिचय | Window XP की परिभाषा क्या है , किसे कहते है विंडोज एक्स पी windows xp in hindi

By  

windows xp in hindi Windows XP का परिचय की परिभाषा क्या है , किसे कहते है विंडोज एक्स पी ? किसे कहते है ? के बारे में जानकारी |

Window XP का परिचय
विंडोज एक ग्राफिकल यूजर इंटरफेस है अर्थात् विंडोज द्वारा कमांड्स को इमेज या मेन्यू के रूप में दिखाया जाता है, जिसे माउस द्वारा सिलेक्ट करके प्रयोग किया जाता है। इस तरह काम करने के लिए कमांड याद रखने की जरूरत नहीं होती। आरंभ में विंडोज का वर्जन 3.1 लाया गया, जो अभी तक कहीं-कहीं प्रयुक्त होता है। इसके बाद कंप्यूटर सॉफ्टवेयर में आए बदलाव को देखकर Window 95 बनाया गया।
25 जून, 1998 को माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने Window 98 का नया वर्जन रिलीज किया। Window 98 अधिक शक्तिशाली होने के कारण कुछ ही महीनों में बहुत लोकप्रिय हो गया।
आजकल Window का नया वर्जन Window XP सबसे अधिक प्रचलित है। यह बहुत ही यूजर फ्रैंडली ऑपरेटिंग सिस्टम है। यद्यपि विंडोज के नवीनतम वर्जन विंडोज विस्टा एवं विंडोज 7 भी बाजार में आ चुके हैं, परंतु लोगों को Window XP पर अधिक भरोसा है।

Window XP के लिए आवश्यक हार्डवेयर
Window XP एक ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ-साथ अनेक ड्राइवर प्रोग्राम्स, यूटिलिटी प्रोग्राम्स एवं एप्लीकेशन प्रोग्राम का समूह है। इसे Install और प्रयोग करने के लिए आवश्यक हार्डवेयर इस प्रकार हैं
486, पेंटिअम या पेंटिअम प्रो सिस्टम। CD-ROM ड्राइव।
32 MB या अधिक RAMi~ – PCIVGA ;k AGP डिसप्ले कार्ड व मॉनीटर।
हार्ड डिस्क में 600 MB खाली स्थान। – माउस

Window XP की विशेषताएँ
Window XP में कुछ ऐसे साधनों को जोड़ा गया है, जो Window 98 में उपलब्ध नहीं थे। इस प्रकार कंप्यूटर पर कार्य करने में सुगमता के साथ-साथ स्पीड भी बढ़ गई है। इसका लाभ उन लोगों को मिल रहा है, जो ग्राफिक्स के कार्य करते हैं। इसके अतिरिक्त ड्राइवर प्रोग्राम्स होने के कारण किसी भी हार्डवेयर को कंप्यूटर से जोड़कर सीधे प्रयोग करना आसान हो गया है। Window XP में मिलने वाली सुविधाएँ इस प्रकार हैं
इंस्टॉलेशन के दौरान मशीन को तीन बार से अधिक रीबूट नहीं करना पड़ता है।
ऐपलेटों में की-बोर्ड शॉर्टकट है।
Ctrl AltDel वास्तव में काम करते हैं।
टास्क मैनेजर है।
माई डॉक्यूमेंट है।
स्टार्ट मेन्यू का निजीकरण कर सकते हैं।
बिना छितरा हुआ सिस्टम व्यू आता है।
इसके अतिरिक्त भी अनेक अन्य सुविधाएँ हैं जिनके द्वारा मल्टीमीडिया और इंटरनेट यूजर को कार्य करने में आसानी होती है। ऑपरेटिंग सिस्टम की तीव्र गति के कारण कंप्यूटर ऑन करने के बाद शीघ्रातिशीघ्र काम शुरू किया जा सकता है। इंस्टॉलेशन के बाद एक बार बूट करने पर ही मशीन एकदम ठीक चलती है।

Destop में कार्य कैसे करें?
Window XP के डेस्कटॉप में Folderए Tsabar और Sortcuts सबसे विशेष गुण हैं, जो इसे पहलेवाले वर्जन की अपेक्षा अधिक गतिशील और सुविधाजनक बनाते हैं। यदि आप Window XP के डेस्कटॉप को देखेंगे तो उसमें My Computer , My Briefcae और Network Neighbourhood जैसे कुछ Folder दिखाई देंगे। यदि आप किसी Folder को खोलना चाहते हैं तो उस पर माउस का पॉइंटर ले जाकर डबल क्लिक कर दीजिए, वह Folder खुल जाएगा। उदाहरण के लिए, यदि आप My Computer पर डबल क्लिक करेंगे तो My Computer का फोल्डर इस प्रकार स्क्रीन पर दिखाई देगा

Folders का प्रयोग कैसे करें?
My Computer फोल्डर खोलने पर जब आप किसी एक ड्राइव को माउस द्वारा क्लिक करते हैं तो उसकी मुख्य डायरेक्टरी में उपलब्ध डायरेक्टरीज Folder के रूप में इस प्रकार स्क्रीन पर दिखाई देती हैं
आप जिस Folder पर क्लिक करते हैं, उसके अंदरवाली डायरेक्टरीज या प्रोग्राम अब Folder या थ्पसम के रूप में दिखाई देते हैं। इसी तरह आप एक के अंदर एक Folder खोलते जाइए और जिस प्रोग्राम का प्रयोग करना चाहें, उस पर पहुँचकर डबल क्लिक कर दीजिए, वह प्रोग्राम खुलकर स्क्रीन पर आ जाएगा।

My Computer फोल्डर का प्रयोग
My Computer एक ऐसा फोल्डर है, जिसके द्वारा आप Window XP के बहुत से महत्त्वपूर्ण काम कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप Control Panel पर जाकर Fonts , Color या अन्य किसी प्रकार की सेटिंग बदलना चाहते हैं तो My Computer फोल्डर का प्रयोग करते हैं। यदि प्रिंटर या मॉनीटर जैसे किसी हार्डवेयर की सेटिंग बदलना चाहते हैं तो भी My Computer फोल्डर का प्रयोग करना होगा। My Computer फोल्डर का डायलॉग बॉक्स इस प्रकार दिखाई देता है।
मान लीजिए कि आप अपनी हार्ड डिस्क (क्रू) ड्राइव के Contents देखना चाहते हैं तो My Computer फोल्डर पर क्लिक करके खोलने के बाद आप (क्रू) वाले फोल्डर पर डबल क्लिक कर दीजिए। अब स्क्रीन पर क्रू ड्राइव के Contents प्रदर्शित हो जाएँगे।

Control Panel
इस फोल्डर में बहुत सारे Application प्रोग्राम्स और Accesories मिलते हैं, जिनके माध्यम से आप कंप्यूटर में हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर को जोड़ने, निकालने या बदलने की सेटिंग (Configuration) देने का काम करते हैं। My Computer फोल्डर में Control Panel के आइकन पर डबल क्लिक करने पर Control Panel का डायलॉग बॉक्स इस प्रकार से स्क्रीन पर दिखाया जाता है।

Printers
प्रिंटर की सेटिंग बदलने के लिए इस फोल्डर का प्रयोग करते हैं। यदि आपने कोई नया प्रिंटर कंप्यूटर के साथ जोड़ा है तो इस फोल्डर के द्वारा आप उसके लिए सेटिंग दे सकते हैं। My Computer फोल्डर में Printers के आइकन पर डबल क्लिक करने पर Printers का डायलॉग बॉक्स स्क्रीन पर आ जाता है।

My Network Places
यहाँ से आपको अपने कंप्यूटर को नेटवर्क के साथ जोड़ने की सुविधा मिलती है। इस फोल्डर का डायलॉग बॉक्स इस प्रकार स्क्रीन पर आ जाता है।

Tsabar का प्रयोग
Window XP के destop पर start बटन के पास एक लंबे बटन की आकृति की Bar होती है, जिसे Tsabar कहते हैं। जब आप कोई प्रोग्राम खोलकर प्रयोग करते हैं तो वह प्रोग्राम एक बटन के रूप में टास्कबार में दिखाई देता है। यदि एक से अधिक प्रोग्राम खोले गए हैं तो दूसरे प्रोग्राम में जाने के लिए इच्छित प्रोग्राम के बटन पर क्लिक करना होता है। इस तरह Tsabar आपको एक से दूसरे सॉफ्टवेयर में जाने या स्विचिंग करने की सुविधा प्रदान करती है।

Tsabar को सेट करना
सामान्यतः Window XP में Tsabar डेस्कटॉप स्क्रीन के नीचेवाले किनारे पर प्रदर्शित होती है, परंतु यदि आप चाहें तो उसे स्क्रीन के चारों किनारों में से किसी भी एक किनारे पर सेट कर सकते हैं। Tsabar को मनचाहे किनारे पर सेट करने के लिए निम्न स्टेप लें
1. Tsabar पर क्लिक करें।
2. माउस का क्लिक बटन दबाते हुए उस किनारे की तरफ äag करें, जिस किनारे पर सेट करना चाहते हैं।
यदि आप Tsabar को Hide करना चाहते हैं या अन्य किसी तरह का बदलाव करना चाहते हैं तो निम्न स्टेप करें
1. Tsabar पर माउस का पॉइंटर रखिए।
2. माउस के दाहिने बटन पर क्लिक करें। अब स्क्रीन पर मेन्यू दिखाई देता है।
अब यदि आप स्क्रीन पर Properties विकल्प पर क्लिक करते हैं तो स्क्रीन पर and start Menu Properties का पैनल बॉक्स आ जाता है।
3. आप जिस तरह की सेटिंग चाहते हैं, उस विकल्प पर क्लिक करें।
4. अब अपनी आवश्यकतानुसार बदलाव करके OK बटन पर क्लिक कर दीजिए।

Destop की Background कैसे बदलें?
डेस्कटॉप की बैकग्राउंड स्क्रीन को बदलने के लिए निम्न स्टेप करते हैं
1. start बटन क्लिक करें।
2. माउस पॉइंटर को Settings पर ले जाएँ
3. जब माउस पॉइंटर को Control Panel पर ले जाते हैं तो स्क्रीन पर Control Panel के अंतर्गत मिलनेवाले विकल्पों की लिस्ट दिखाई देती है।
4. उपर्युक्त स्क्रीन में Display विकल्प पर डबल क्लिक करते हैं।
5. अब आप Destop बटन पर क्लिक करें या इसके बाद बैकग्राउंड की लिस्ट में दिखाई गई फाइलों में से उस फाइल को चुनें, जिसे Destop की स्क्रीन पर लाना चाहते
6. अब OK बटन पर क्लिक करने पर चुनी गई फाइल की इमेज Destop की बैकग्राउंड बन जाती है।

टास्कबार द्वारा एक से दूसरी application में स्विचिंग
एक से दूसरी एप्लीकेशन में जाने के लिए टास्कबार का प्रयोग करते हैं। मान लीजिए कि आप अभी Notepad में काम कर रहे हैं और अब Paint में जाकर काम करना चाहते हैं, तो Taskbar में Paint के बटन को माउस द्वारा क्लिक कर दीजिए। आप Paint में पहुँच जाएँगे।
पुनः Calculator में वापस आने के लिए Tsabar में Calculator के बटन पर क्लिक करें।

टास्कबार द्वारा एप्लीकेशन को व्यवस्थित करना
आप टास्कबार द्वारा अपने एप्लीकेशन को Destop में arrange कर सकते हैं। डेस्कटॉप के आइटमों को आप Window के पुराने वर्जन की तरह या तो csacade कर सकते हैं या tile कर सकते हैं। अपने Application को arrange करने के लिए Tsabar पर माउस द्वारा Right Click करें।
निम्न प्रकार का एक मेन्यू स्क्रीन पर आ जाता है
मान लीजिए कि आप अपने Applications को tile करना चाहते हैं तो Tile Horçontally या Tile Vertically में से जो चाहें, उस पर क्लिक करिए।
यदि Vertically Tile चुना गया है तो स्क्रीन निम्न प्रकार दिखाई देगी

run कमांड का प्रयोग
run कमांड द्वारा आपको स्क्रीन पर एक प्रॉम्प्ट (Prompt) मिलता है, जिसमें अपने प्रोग्राम की डिस्क एवं डायरेक्टरी का विवरण देकर और प्रोग्राम का नाम टाइप करके तथा बाद में Enter दबाकर उसे run कर सकते हैं। इसके लिए निम्न स्टेप लेने होंगे ङ्त
1. start बटन पर क्लिक करें।
2. run पर क्लिक करने पर नीचे दिखाया गया डायलॉग बॉक्स स्क्रीन पर आ जाता है
3. run डायलॉग बॉक्स में open विकल्प के सामने उस प्रोग्राम का नाम टाइप करें, जिसे खोलना चाहते हैं। यदि आप चाहें तो Browe बटन दबाकर भी उस प्रोग्राम का नाम प्रॉम्प्ट में ला सकते हैं।
4. OK बटन पर क्लिक करें या Enter दबाएँ तो वह फाइल या प्रोग्राम, जो आप खोलना चाहते हैं, स्क्रीन पर आ जाएगा।
5.
Help कैसे देखें?
Window XP में Help की सुविधा उपलब्ध रहती है, जिसके द्वारा आप किसी भी कमांड आदि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। Help के लिए निम्न स्टेप लेते हैं
1. start बटन दबाइए।
2. Help and Support मेन्यू पर क्लिक करिए। निम्न प्रकार की स्क्रीन दिखाई देगी
3. अब आप जिस topic की Help देखना चाहते हैं, उसे क्लिक करके खोल लीजिए और उपलब्ध information को पढ़िए।

Settings मेन्यू का प्रयोग
सेटिंग की स्क्रीन सामने पृष्ठ की स्क्रीन जैसी दिखाई देती है, जिसमें Control Panel और Network and Dial-up Connections, Printers and Faxes vkSj Tsabar – start Menu… विकल्प मिलते हैं। साथ ही Window XP में एक नई facility मिलती है, जिसके अंतर्गत आप माउस पॉइंटर को जब Control Panel विकल्प पर ले जाकर उसे चनसस-कवूद करते हैं तो उसके अंतर्गत मिलनेवाले विकल्पों की लिस्ट स्क्रीन पर आ जाती है, जैसे- Date and Time, Font, Display, Keyboard] System आदि। इन विकल्पों में से आप जिस विकल्प को चुनना चाहते हैं, उसे माउस द्वारा चुन सकते हैं। Settings मेन्यू का प्रयोग करने के निम्न स्टेप हैं
1. start मेन्यू पर क्लिक करें।
2. माउस पॉइंटर को Settings मेन्यू पर ले जाने पर Settings मेन्यू pulldown हो जाता है।
3. माउस पॉइंटर को Control Panel पर ले जाने पर उसके अंतर्गत मिलनेवाले विकल्पों की निम्न लिस्ट स्क्रीन पर दिखाई देती है
4. आप जिस तरह की सेटिंग बदलना चाहते हैं, उस विकल्प पर क्लिक करके आगे के स्टेप जान सकते हैं। मान लीजिए, आप माउस की सेटिंग बदलना चाहते हैं तो माउस विकल्प पर क्लिक करें। आपको स्क्रीन पर Mouse Properties का डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा।
5. आप माउस की जिस प्रकार की सेटिंग करना चाहें, उस विकल्प को चुनकर OK बटन पर क्लिक करें। माउस आपके द्वारा चुने गए विकल्प के अनुसार कार्य करने

Documents मेन्यू का प्रयोग
माना कि आप पहले Paint में किसी फाइल में कार्य कर रहे थे और अब आप उसी फाइल में फिर से कार्य करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको Paint को दोबारा खोलने की आवश्यकता नहीं है। इसके लिए Documents मेन्यू में जाकर उस फाइल पर क्लिक कर देने मात्र से ही Paint में वह फाइल open हो जाती है। इसके लिए निम्न स्टेप लेते हैं
1. start Menu पर क्लिक करके माउस पॉइंटर को Documents पर ले जाएँ तो Documents के अंतर्गत फाइलों के नाम इस प्रकार स्क्रीन पर दिखाई देते हैं
2. उपर्युक्त स्क्रीन पर दिखाई गई फाइलों में से आप जिस फाइल पर क्लिक करते हैं, उसका Application सॉफ्टवेयर और फाइल कंप्यूटर पर लोड होकर स्क्रीन पर आ जाता है।
3.
Programs मेन्यू द्वारा प्रोग्राम खोलना
Window XP के Programs मेन्यू का प्रदर्शन ग्राफिक्स द्वारा बने हुए जतमम के रूप में होता है, जो निम्न प्रकार से दिखाई देता है
जिस फोल्डर में आपका प्रोग्राम है, उस पर माउस का पॉइंटर ले जाइए और फिर इसी तरह एक के अंदर एक फोल्डर में जाते हुए अपने प्रोग्राम तक पहुँचकर क्लिक कर दीजिए। इस तरह आपका प्रोग्राम लोड होकर कंप्यूटर की स्क्रीन पर आ जाएगा।
मान लीजिए, आप Coreläwa 12 खोलना चाहते हैं तो start बटन पर क्लिक करके माउस पॉइंटर को Programs पर ले जाकर Coreläwa 12 के फोल्डर पर ले जाते हैं और अंत में Coreläwa 12 पर क्लिक करते हैं तो Coreläwa 12 रन होने लगता है और open होकर इस प्रकार स्क्रीन पर आ जाता है

Window XP में सामान्य कार्य
Window XP में सामान्य कार्य जैसेङ्तपता लगाना कि कंप्यूटर में कौन कौन से सॉफ्टवेयर हैं, कोई नई फाइल या फोल्डर कैसे बनाएँ, शॉर्टकट कैसे बनाएँ, शॉर्टकट या आइकन का नाम कैसे बदलें, फ्लॉपी डिस्क कैसे फॉरमेट करें, Window को Minimçe और Maximçe कैसे करें इत्यादि जानने के लिए इस अध्याय में जानकारी दी गई है।
Window XP को लोड करने के बाद जो प्रमुख स्क्रीन सामने आती है उसे Destop कहते हैं।

नया सॉफ्टवेयर कैसे इंस्टॉल करें?
मान लीजिए कि Window XP तो इंस्टॉल हो चुका है, परंतु आप जिस सॉफ्टवेयर में काम करना चाहते हैं वह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर अभी इंस्टॉल नहीं हुआ है तो पहले वह सॉफ्टवेयर हार्डडिस्क में इंस्टॉल करना होगा। इसके लिए विधि निम्न प्रकार है
1. कंप्यूटर ऑन करके Window के डेस्कटॉप पर जाएँ।
2. अब start बटन पर क्लिक करें।
3. run कमांड पर क्लिक
4. Browe बटन पर क्लिक करें।
5. बटन पर माउस द्वारा क्लिक करते हैं तो स्ववा पद विकल्प खुल जाता है तथा स्क्रीन पर निम्न विकल्प दिखाई देते हैं
6. अब आपकी फाइल जिस डायरेक्टरी में है, उस पर क्लिक करके उसे सिलेक्ट करते हैं।
7. अब आप जिस प्रोग्राम को इंस्टॉल करना चाहते हैं, उस पर डबल क्लिक करते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप Corel äwa इंस्टॉल करना चाहते हैं तो Coreläwa पर डबल क्लिक करें।
8. Corel äwa की Setup फाइल पर डबल क्लिक करते हैं तो वह फाइल select होकर स्क्रीन पर run डायलॉग बॉक्स आता है।
9. अब OK बटन पर क्लिक करें या Enter दबाएँ। परिणामस्वरूप प्रोग्राम पदेजंसस होने लगता है। अब जो भी निर्देश या मैसेज स्क्रीन पर दिखाए जाते हैं, उनमें से आवश्यकतानुसार विकल्प चुनकर संचालन करें। अंत में जब सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाता है तो उसका आइकन बन जाता है, जो Window XP के Destop में Programs के अंतर्गत सॉफ्टवेयर फोल्डर में व्यवस्थित होकर स्क्रीन पर दिखाई देता है।
10. यदि आप Corel äwa को लोड करना चाहते हैं तो उस आइकन पर डबल क्लिक कर देने मात्र से ही वह Program लोड हो जाता है और स्क्रीन पर आ जाता है।
11.
Window Explorer कैसे खोलें?
1. start बटन पर क्लिक करें।
2. माउस पॉइंटर को Programs पर रखें।
3. माउस पॉइंटर को Accesories पर ले जाएँ।
4. अब Window Explorer पर क्लिक करने से निम्न प्रकार की स्क्रीन आ जाती है
यहाँ से आप अपने डेस्कटॉप का मैनेजमेंट कर सकते हैं। Explorer स्क्रीन के बाईं ओर वाले बॉक्स में जतमम के सबसे ऊपर डेस्कटॉप दिखाई देता है। डेस्कटॉप में My Computer] Network Places, Recycle Bin और My Briefcae नाम के कंपोनेंट्स होते हैं। इनमें से जिस Component के साथ ़ चिह्न दिखाई देता है, वह संकेत करता है कि इसके एक लेवल नीचे अभी और फोल्डर हैं। यदि आप ऐसे किसी कंपोनेंट पर माउस का पॉइंटर रखेंगे तो उसके एक लेवल नीचेवाले फोल्डर भी प्रदर्शित हो जाएंगे।