महिलाओं की आवाज पतली क्यों होती है ? why female voice is shriller than man’s in hindi

By  

a woman’s voice is shriller than a man’s due to महिलाओं की आवाज पतली क्यों होती है ? why female voice is shriller than man’s in hindi ?

ध्वनि

 ध्वनि के किस लक्षण के कारण कोई ध्वनि मोटी (Grave) या पतली (Shrill) होती है? -तारत्व (Pitch)
 पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं की आवाज अधिक तीक्ष्ण (पतली) क्यों होती है?
-क्योंकि महिलओं की आवाज का तारत्व (आवृत्ति) अधिक होता है
 एक युवक पुरुष की आवाज की तुलना में छोटे बच्चे की आवाज अधिक प्रिय क्यों लगती है? -बच्चे की आवाज का तारत्व पुरुष
की आवाज के तारत्व की तुलना में अधिक होता है
 यदि सितार और बाँसुरी पर एक ही स्वर बजाया जाये तो उनसे उत्पन्न ध्वनि में भेद किस अन्तर के कारण किया जाता है?
-केवल ध्वनि गुणता
 ध्रुवण, विवर्तन, परावर्तन तथा अपवर्तन में से कौन-सा एक वायु में ध्वनिध् प्रकाश तरंगों द्वारा उत्पादित नहीं होता? -ध्रुवण
 ध्वनि तीव्रता की डेसीबल में वह अधिकतम सीमा जिसके ऊपर व्यक्ति सुन नहीं सकता, कितनी होती है? -95db
 किसके द्वारा सबसे अधिक ध्वनि प्रदूषण होता है?
-हवाई जहाज का उड़ान भरना
 ध्वनि तरंगों को प्रकृति कैसी होती है? -अनुदैर्घ्य
 अवश्रव्य तरंगों की आवृत्ति क्या होती है? -20 Hz से कम
 पराश्रव्य तरंगों की आवृत्ति कितनी होती है?
-20 किलो हर्ट्ज से अधिक
 पराश्रव्य तरंगें मनुष्य द्वारा सुनी जा सकती है अथवा नहीं?
-नहीं सुनी जा सकती हैं
 पराश्रव्य तरंगों को सबसे पहले किसने सीटी बजाकर उत्लन किया था? -गाल्टन ने
 शिकार, परभक्षियों या बाधाओं का पता लगाने के लिए चमगादड़ अथवा डॉल्फिन किस परिघटना का प्रयोग करते हैं?-प्रतिध्वनि का निर्धारण
 कोड़ों तथा हानि पहुँचाने वाले तत्वों को घरों से दूर भगाने के लिए कौन-सी तरंगों को प्रयोग में लाया जाता है ? -अल्ट्रासोनिक तरंग
 विमानों के आन्तरिक भागों की सफाई में किसका उपयोग किया जाता है? -पराभ्रव्य तरंगों का
 श्रव्य परिसर में ध्वनि तरंगों की आवृत्ति क्या होती है?
-20 Hz से 20,000 Hz ़
 तरंग का वेग (अ), आवृत्ति (द) तथा तरंगदैर्घ्य (λ) में क्या सम्बन्ध होता है? -v=n𝛌
चंद्रमा पर धरातल से दूर विस्फोट क्यों नहीं सुनाई पड़ता है?
-वायुमण्डल की अनुपस्थिति के कारण
 चमगादड़ अंधेरे में उड़ सकती हैं, क्योंकि
-वे अति तीव्र ध्वनि तरंगें पैदा करती हैं जो उनका नियंत्रण करती हैं

चमगादड़ तथा पॉरपॉइज मछलियों द्वारा पराध्वनि का उपयोग
चमगादड़ गहन अधकार में अपने भोजन को खोजने के लिए उड़ते समय पराध्वनि तरंगें उत्सर्जित करती है तथा परावर्तन के पश्चात इनका संसूचन करती है। चमगादड़ द्वारा उत्पन्न उच्च तारत्व के पराध्वनि स्पद अवरोधों या कीटों से परावर्तित होकर चमगादड़ के कानों तक पहुँचते हैं। इन परावर्तित स्पंदों की प्रकृति से चमगादड़ को पता चलता है कि अवरोध या कीट कहाँ पर है और यह किस प्रकार का है।

चमगादड़ द्वारा पराध्वनि का उत्सर्जन तथा अवरोध या
कीटों द्वारा उसका परावर्तन।
पॉरपॉइज मछलियाँ भी अंधेरे में संचालन व भोजन की खोज में पराध्वनि का उपयोग करती हैं।

 वायु में ध्वनि की चाल 332 मीटर प्रति सेकण्ड होती है। यदि दाब बढ़ाकर दुगुना कर दिया जाए तो ध्वनि की चाल क्या होगी?
-332 मी/सेकण्ड
 बादलों में बिजली की चमक के काफी समय बाद बादलों की गर्जन सुनाई देती है, इसका क्या कारण है?
-प्रकाश की चाल ध्वनि की चाल से बहुत अधिक है
 ध्वनि का वेग भिन्न-भिन्न माध्यमों में कितना होता है?
-भिन्न-भिन्न होता है और ठोस स्टील में सबसे अधिक होता है
 लगभग 20°C के तापक्रम पर किस माध्यम में ध्वनि की गति अधिकतम रहेगी? -लोहा (स्टील)
 वायु में ध्वनि के वेग पर क्या प्रभाव पड़ता है?
-तापमान के घटने से घटता है
 पराध्वनिक विमान की गति कितनी होती है?
-ध्वनि की गति से अधिक
 वस्तु के वेग तथा उसी माध्यम में एवं उन्हीं परिस्थितियों में ध्वनि के वेग के अनुपात को क्या कहते हैं? -मैक संख्या
 मैक अंकों का प्रयोग किसके वेग के सम्बन्ध में किया जाता है?
-वायुयान के
 ध्वनि या ध्वनि प्रदूषण किसमें मापा जाता है? -डेसीबल में
 साधारण बातचीत में ध्वनि की तीव्रता क्या होती है?-30-40 डेसीबल
 100 डेसीबल का शोर स्तर किसके संगत होगा?
-किसी मशीन की दुकान से आने वाला शोरगुल

 नजदीक आती रेलगाड़ी की सीटी की आवाज बढ़ती जाती है जबकि दूर जाने वाली रेलगाड़ी के लिए यह घटती जाती है। यह घटना किसका उदाहरण है? -डॉप्लर प्रभाव का
 चन्द्रमा के धरातल पर दो व्यक्ति एक-दूसरे की बात क्यों नहीं सुन सकते। -क्योंकि चन्द्रमा के धरातल पर वायुमण्डल नहीं है
 चिल्लाते समय व्यक्ति हमेशा हथेली को मुँह के समीप क्यों रखते हैं।
-क्योंकि उस स्थिति में ध्वनि ऊर्जा सिर्फ एक दिशा में इंगित होगी
 प्रतिध्वनि का क्या कारण है? -ध्वनि का परावर्तन
ध्वनि के परावर्तन के अनुप्रयोग
मेगाफोन या लाउडस्पीकर, हॉर्न, तूर्य तथा शहनाई जैसे वाद्य यंत्र, सभी इस प्रकार बनाए जाते हैं कि ध्वनि सभी दिशाओं में फैले बिना केवल एक विशेष दिशा में ही जाती है।

इन यंत्रों में एक नली का आगे की ओर का खुला भाग शंक्वाकार होता है। यह स्रोत से उत्पन्न होने वाली ध्वनि तरंगों को बार-बार परावर्तित करके श्रोताओं की ओर आगे की दिशा में तेज देते हैं। इससे ध्वनि तीव्र सुनाई देती है।
 स्पष्ट प्रतिध्वनि सुनने के लिए परावर्तक तल व ध्वनि स्रोत के बीच न्यूनतम दूरी कितनी होनी चाहिए? -30 मीटर
 राडार (त्ंकंत) की कार्य प्रणाली किस सिद्धान्त पर आधारित होती है? -रेडियो तरंगों का परावर्तन
 किसी प्रतिध्वनि को सुनने के लिए मूल आवाज और प्रतिध्वनि के बीच का समय अन्तराल क्या होना चाहिए? -1/10 सेकण्ड से अधिक
 अच्छे ऑडीटोरियम की दीवारें, छत व फर्श किसी रेशेदार पदार्थ, कालीन, ग्लास, फाइबर आदि से ढके रहते हैं। इसका क्या उद्देश्य होता है? -ध्वनि का अवशोषण करके प्रतिध्वनि को रोकना
 ध्वनि का प्रभाव मानव के कान में कितने समय तक रहता है?
-1/10 सेकण्ड
 एक व्यक्ति को अपनी प्रतिध्वनि सुनने के लिए परावर्तक तल से कितनी दूर खड़ा रहना चाहिए?
-56 फीट
 स्टेथोस्कोप ध्वनि के किस सिद्धान्त पर कार्य करता है? -परावर्तन
स्टेथोस्कोप
स्टेथोस्कोप एक चिकित्सा यंत्र है जो शरीर के अदर, मुख्यतः हृदय तथा फेफड़ों में, उत्पन्न होने वाली ध्वनि को सुनने में काम आता है। स्टेथोस्कोप में रोगी के हृदय की धड़कन की ध्वनि, बार-बार परावर्तन के कारण डॉक्टर के कानों तक पहुँचती है।
 सोनार (Sonar) अधिकांशतः प्रयोग में लाया जाता है -नौसंचालकों द्वारा
सोनार
सोनार (SONAR) शब्द Sound Navigation And Ranging से बना है। सोनार एक ऐसी युक्ति है जिसमें जल में स्थित पिण्डों की दूरी. दिशा तथा चाल मापने के लिए पराध्वनि तरंगों का उपयोग किया जाता है। सोनार में एक प्रेषित्र तथा एक संसूचक होता है और इसे किसी नाव या जहाज में निम्न चित्र की भाँति लगाया जाता है।

प्रेषित्र पराध्वनि तरंगें उत्पन्न तथा प्रेषित करता है। ये तरंगें जल में चलती हैं तथा समुद्र तल में पिण्ड से टकराने के पश्चात परावर्तित होकर संसूचक द्वारा ग्रहण कर ली जाती हैं। संसूचक पराध्वनि पराध्वनि तरंगों को विद्युत संकेतों में बदल देता है जिनकी उचित रूप से व्याख्या कर ली जाती है। जल में ध्वनि की चाल तथा पराध्वनि के प्रेषण तथा अभिग्रहण के समय अंतराल को ज्ञात करके उस पिण्ड की दरी की गणना की जा सकती है जिससे ध्वनि तरंग परावर्तित हुई है। यदि पराध्वनि संकेत के प्रेषक तथा अभिग्रहण का समय अंतराल श्जश् है तथा समुद्री जल में ध्वनि की चाल श्अश् है, तब सतह से पिण्ड की दूरी 2d होगी। अतः
2d = v x t
इस सूत्र की सहायता से जहाज की दूरी, चाल तथा समय ज्ञात कर लिया जाता है।
 वह उपकरण जो ध्वनि तरंगों की पहचान तथा ऋजुरेखन के लिए प्रयुक्त होता है क्या कहलाता है? -सोनार
 एकॉस्टिक (Acoustic) विज्ञान क्या है? -ध्वनि से सम्बन्धित
 मनुष्यों के लिए मानक ध्वनि स्तर क्या है? -60db
 अनुरणन (गूंज) काल तथा हॉल के आयतन के बीच सम्बन्ध का प्रतिपादन किसने किया है? -सेविन ने
 पूँजहीन हॉल (Dead Hall) का अनुरणन काल कितना होता है ?
-शून्य सेकण्ड
सम्मेलन कक्ष (कंसर्ट हॉल) की वक्राकार छतें
तथा उनमें प्रयुक्त ध्वनि पट्ट
कंसर्ट हॉल, सम्मेलन कक्षों तथा सिनेमा हॉल की छतें वक्राकार बनाई जाती हैं जिससे कि परावर्तन के पश्चात् ध्वनि हॉल के सभी भागों में पहुँच जाए।
कभी-कभी वक्राकार ध्वनि-पट्टों को मंच के पीछे रख दिया जाता है जिससे कि ध्वनि, ध्वनि-पट्ट से परावर्तन के पश्चात समान रूप से पूरे हॉल में फैल जाती है।
 जब सेना पुल को पार करती है तो सैनिकों को कदम से कदम मिलाकर न चलने का निर्देश क्यों दिया जाता है?
-पैरों से उत्पन्न ध्वनि के अनुनाद के कारण पुल टूटने का खतरा रहता है
 हम रेडियो की घुण्डी घुमाकर विभिन्न स्टेशनों के कार्यक्रम सुनते हैं। यह कैसे सम्भव है? -अनुनाद के कारण
 कहा जाता है कि जब तानसेन गाता था तो खिड़की के काँच या काँच के गिलास के टुकड़े-टुकड़े हो जाते थे। यदि ऐसा सम्भव भी हो तो वह ध्वनि के किस गुण के कारण होगा? -अनुनाद
 जब हम जल के नीचे सुराही भरने के लिए रखते हैं तो जैसे-जैसे सुराही भरती जाती है वैसे-वैसे हमें विशेष प्रकार की ध्वनि सुनाई देती है। इसका कारण क्या है? -अनुनाद
 रेडियो का समस्वरण स्टेशन किसका उदाहरण है? -अनुनाद
 जब किसी स्थान पर दो लाउडस्पीकर साथ-साथ बजते हैं, तो किसी स्थान विशेष पर बैठे श्रोता को इनकी ध्वनि नहीं सुनाई देती है। इसका कारण क्या है? -व्यतिकरण
 समुद्र में स्थान-स्थान पर ऊँचे प्रकाश घर (Light House) बनाये जाते हैं जहाँ से बड़े-बड़े साइरन बजाकर जहाजों को संकेत भेजे जाते हैं। कभी-कभी जहाज नीरव क्षेत्र (Silence zone) में पहुँच जाते हैं, जहाँ साइरन की ध्वनि सुनाई नहीं देती है। ये नीरव क्षेत्र ध्वनि तरंगों के किस गुण के कारण निर्मित होते हैं? -व्यतिकरण
 किसी ध्वनि स्रोत की आवृत्ति में होने वाले उतार-चढ़ाव को क्या कहते हैं ? -डॉप्लर प्रभाव
 पास आती हुई रेलगाड़ी की सीटी की आवृत्ति या तीक्ष्णता बढ़ती जाती है, ऐसा किस घटना के कारण होता है? -डॉप्लर प्रभाव
 मेघ गर्जना सुनने पर व्यक्ति अपना मुँह क्यों खोलता है?-दोनों कानों
के कर्णपटल पर वायु के दाब को बराबर करने के लिए
 किस एक प्रकार की तरंग का प्रयोग रात्रि दृष्टि उपकरण में किया जाता है? -अवरक्त तरंग
 एक जेट वायुयान 2 मैक के वेग से हवा में उड़ रहा है। जब ध्वनि का वेग 332 मी/से है तो वायुयान की चाल कितनी है? -664 मी/से
 किस जैव पद्धति में पराश्रव्य ध्वनि का उपयोग किया जाता है?
-सोनोग्राफी
 कौन-सी तरंगें शून्य (निर्वात्) में संचरण नहीं कर सकती? -ध्वनि
 यदि अंए अू तथा अे क्रमशः वायु, जल एवं इस्पात में ध्वनि के वेग हों तो- va, < vw < vs
 पराध्वनि विमान कौन-सी प्रघाती तरंग पैदा करते हैं? -पराश्रव्य तरंग
 इको साउण्डिंग प्रयोग कहाँ होता है? -समुद की गहराई मापने के लिए
 वे तरंगें, जो किसी पदार्थिक माध्यम में संचरित होती हैं क्या कहलाती है। -यांत्रिक तरंगें
 अनुप्रस्थ तरंगें किस रूप में संचरित होती हैं?
-शीर्ष (Crest) एवं गर्त (Trough) के रूप में
 जब किसी माध्यम में तरंग गति की दिशा माध्यम के कणों की कम्पन करने की दिशा के अनुदिश या समान्तर होती है, तो ऐसी तरंगों को क्या कहते हैं? -अनुदैर्ध्य तरंगें
 अनुदैर्ध्य तरंगें किस रूप में संचरित होती हैं? -संपीडन एवं विरलन
 भूकम्प तरंगें किस प्रकार की तरंगें हैं? -अनुदैर्घ्य तरंगें
 जिन तरंगों को संचरण के लिए माध्यम की आवश्यकता नहीं होती है, वे क्या कहलाती हैं? -विद्युत्-चुम्बकीय तरंगें
 प्रकाश तरंगें किसका उदाहरण हैं? -विद्युत्-चुम्बकीय तरंगें
 दोलन करने वाली वस्तु के अपने माध्य स्थिति से महत्तम विस्थापन को क्या कहते हैं? -दोलन का आयाम
 माध्यम के किसी कण के द्वारा एक पूरा कम्पन किये जाने पर तरंगें जितनी दूरी तय करती है उसे क्या कहते हैं? -तरंगदैर्घ्य
 माध्यम का कम्पन करता हुआ कोई एक कण एक सेकण्ड में जितने की कम्पन करता है उसे क्या कहते हैं? -आवृत्ति

कुछ प्रमुख विद्युत्-चुम्बकीय तरंगें, उनके खोजकर्ता, गुण एवं उपयोग
विद्युत्-चुम्बकीय तरंग खोजकर्ता तरंगदैर्घ्य परिसर आवृत्ति परिसर (Hz में) गुण एवं उपयोग
ऽ गामा किरणें
(γ-rays)
ऽ एक्स-किरणें
(x-rays)
ऽ पराबैंगनी किरणें
(UV-rays)
ऽ दृश्य-विकिरण न्यूटन
(Visible radiation),
ऽ अवरक्त विकिरण
(Intra-red radiation)

ऽ लघु रेडियो तरंगें
(Short radio waves)
ऽ दीर्घ रेडियो तरंगें मारकोनी
(Long radio waves) बैकुरल

रॉन्जन

रिटर

न्यूटन

हर्शेल

हेनरिक हर्ट्ज
मारकोनी 10-14 उ से 10-10 उ तक

10-10 m से 10-8 m तक

10-8m से 10-7m तक

3.9×10-7m से 7.8×10-7m तक

7.8×10-7m से 10-3m तक

10-3m से 1 m तक

1 m से 104 m तक 1020 से 1018 तक

1018 से 1016 तक

116 से 1014 तक

1014 से 1012 तक

1012 से 1010 तक

1010 से 108 तक

106 से 104 तक
इनकी वेधन क्षमता अत्यधिक होती है।
उपयोग-नाभिकीय अभिक्रिया तथा कृत्रिम रेडियोधर्मिता में।
इसका उपयोग चिकित्सा एवं औद्योगिक क्षेत्र में किया जाता है।

उपयोग-सेंकाई करने, प्रकाश-वैद्युत् प्रभाव को उत्पन्न करने, बैक्टीरिया को नष्ट करने में।

इससे हमें वस्तुएँ दिखलाई पड़ती हैं।

ये किरणें ऊष्मीय विकिरण हैं। ये जिस वस्तु पर पड़ती हैं, उसका ताप बढ़ जाता है।
उपयोग-कुहरे में फोटोग्राफी करने में, रोगियों की सेंकाई करने में, ज्ट के रिमोट कण्ट्रोल में।
इसका उपयोग रेडियो, टेलीविजन एवं टेलीफोन में होता है।
इस प्रकार की तरंगों का उपयोग रेडियो एवं टेलीविजन में होता है।

 1202 से नीचे की आवृत्ति वाली तरंगों को क्या कहते हैं?
-अवश्रव्य तरंगें
 20,000 Hz से ऊपर की तरंगों को क्या कहते हैं? -पराश्रव्य तरंगें
 समुद्र की गहराई पता लगाने के लिए किस प्रकार की तरंगों का प्रयोग किया जाता है? -पराश्रव्य तरंगों का
 पराश्रव्य तरंगों का चिकित्सा में क्या उपयोग है?
-गठिया रोग तथा मस्तिष्क के ट्यूमर का पता लगाने में
 वायु में 1°C ताप बढ़ने पर ध्वनि की चाल पर क्या प्रभाव पड़ता है?
-0.61 मी/से बढ़ जाती है
 नमीयुक्त वायु का घनत्व शुष्क वायु के घनत्व से कम होता है अथवा अधिक? -कम
 बरसात में मौसम में सीटी की आवाज बहत दूर तक क्यों सुनाई पड़ती है? -आर्द्र वायु में ध्वनि की चाल बढ़ जाती है

 

विभिन्न माध्यमों में ध्वनि की चाल
माध्यम ध्वनि की चाल मी/से
(0°C पर) माध्यम ध्वनि की चाल मी/से
(0°C पर)
ऽ CO2 260
ऽ वायु 332
ऽ भाप (100°C) 405
ऽ ऐल्कोहॉल 1213
ऽ हाइड्रोजन 1269
ऽ पारा 1450 ऽ जल 1493
ऽ समुद्री जल 1533
ऽ लोहा 5130
ऽ काँच 5640
ऽ एलुमिनियम 6420

विभिन्न ध्वनि स्रोतों की तीव्रता डेसीबल (डी.बी.) में
ध्वनि स्रोत तीव्रता (db में)
ऽ रॉकेट का छोड़ा जाना 150
ऽ बिजली की गड़गड़ाहट 110
ऽ हिलती हुई पत्तियाँ 20
ऽ श्रवण देहली 10
ऽ साधारण बातचीत 30-40
ऽ जोर से बातचीत 50-60
ऽ ट्रक, ट्रैक्टर 90-100
ऽ आरकेस्ट्रा 70-100
ऽ विद्युत् मोटर 110
ऽ मोटर साइकिल 110
ऽ साइरन 110-120
ऽ जेट विमान 140-150
ऽ मशीन गन 170
ऽ मिसाइल 180

 तीव्रता का SI मात्रक क्या है? -माइनोवॉट/मी2
 तीव्रता का प्रयोगात्मक मात्रक कौन-सा है? -बेल
 विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार कितने डेसीबल की ध्वनि मानव के लिए सर्वोत्तम है? -45 डेसीबल
 कितने डेसीबल की ध्वनि मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है?
-75 डेसीबल
 एक साधारण मानव ज्यादा से ज्यादा कितने डेसीबल की ध्वनि सुन सकता है? -130 डेसीबल
 ध्वनि के किस लक्षण के द्वारा ध्वनि को मोटा या तीक्ष्ण कहा जाता है?
-तारत्व (Pitch)
 तारत्व किस पर निर्भर करता है? -आवृत्ति पर
 बच्चों एवं स्रियों की पतली आवाज किस कारण होती है?
-तारत्व अधिक होने के कारण
 शेर की दहाड़ का तारत्व कम होता है अथवा अधिक? -बहुत कम
 किसके अनुसार स्रोत की गति के कारण किसी तरंग की आवृत्ति बदली हुई प्रतीत होती है? -क्रिश्चियन जॉन डॉप्लर
 जो ध्वनि किसी दृढ़ दीवार, पहाड़, गहरे कुएँ आदि से टकराने के बाद सुनाई पड़ती है उसे क्या कहते हैं? -प्रतिध्वनि (Echo)