एक रुपये के नोट पर किसके हस्ताक्षर होते हैं ? whose signature is found on one rupee currency note in hindi

By   August 2, 2021

whose signature is found on one rupee currency note in hindi एक रुपये के नोट पर किसके हस्ताक्षर होते हैं ?

23. भारत में सिक्के जारी करने के लिए कौन प्राधिकृत है?
(अ) भारतीय रिजर्व बैंक (ब) वित्त मंत्रालय
(स) भारतीय स्टेट बैंक (द) इंडियन ओवरसीज बैंक
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2011
उत्तर-(ब)
भारत में सिक्के जारी करने के लिए भारत सरकार प्राधिकृत है। विकल्प (ब) वित्त मंत्रालय भी भारत सरकार में समाहित है, क्योंकि यह भारत सरकार का ही एक भाग है। अतः विकल्प (ब) ही सर्वोत्तम उत्तर होगा।
24. एक रुपये के नोट पर किसके हस्ताक्षर होते हैं?
(अ) वित्त मंत्रालय के सचिव के
(ब) रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर
(स) वित्त मंत्री
(द) इनमें से कोई नहीं
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
एक रुपये के नोट पर वित्त मंत्रालय के सचिव (वित्त सचिव) के हस्ताक्षर होते हैं जबकि अन्य करेंसी नोटों पर रिजर्व बैंक के गवर्नर के हस्ताक्षर होते हैं।
25. सकल मौद्रिक संसाधन क्या है?
(अ) MI (ब) M2
(स) M4 (द) M3
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
M3 = करेंसी तथा छोटे सिक्के + बैंकों की मांग जमाएं + RBI के पास अन्य जमाएं  + सावधि जमाएं
अर्थात M3 = C + DD + OD + TD
[C = Currencey  + Demand äaft + Other Deposit of RBI + Time Deposit,
M3 को व्यापक मुद्रा कहा जाता है सामान्यतया यह मुद्रा पूर्ति को प्रदर्शित करती है। इसमें पोस्ट ऑफिस की जमाएं सम्मिलित नहीं होती हैं।
26. भारत ने दाशमिक मुद्रा प्रणाली किस वर्ष शुरू की थी?
(अ) 1955 (ब) 1956
(स) 1957 (द) 1958
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
भारत ने दाशमिक मुद्रा प्रणाली वर्ष 1957 में अपनाई और एक रुपये को 100 समान पैसों में बांटा गया क्योंकि वर्ष 1957 से पहले भारतीय रुपया 16 आनों में विभाजित था। ैण्ैण्ब्ण् ने इस प्रश्न का उत्तर विकल्प (द) दिया है जो कि गलत है।
27. 10वें वित्त आयोग के अध्यक्ष कौन थे?
(अ) मनमोहन सिंह (ब) वसंत साठे
(स) शिव शंकर (द) के.सी. पंत
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
10वें वित्त आयोग का गठन वर्ष 1992 में हुआ था। इसके अध्यक्ष के सी. पंत थे। इस आयोग की सिफारिशों की समयावधि वर्ष 1995-2000 थी। 11वें वित्त आयोग के अध्यक्ष ए.एम.खुसरो, 12वें वित्त आयोग के अध्यक्ष सी.रंगराजन तथा 13वें वित्त आयोग के अध्यक्ष डॉ. विजय एल. केलकर थे। जनवरी, 2013 में 14वें वित्त आयोग का अध्यक्ष डॉ.वाई.वी.रेड्डी (रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर) को नियुक्त किया गया है। इसकी सिफारिशें वर्ष 2015-2020 के लिए हैं।
28. तेरहवें वित्त आयोग के अध्यक्ष कौन थे?
(अ) डॉ. विजय एल. केलकर (ब) डॉ. सी. रंगराजन
(स) प्रो. ए.एम. खुसरो (द) डॉ. डी. सुब्बाराव
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011, 2014
उत्तर-(अ)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
29. ब्याज दर निर्धारित की जाती है-
(अ) निविष्ट पूंजी पर प्रतिफल की दर द्वारा
(ब) केंद्र सरकार द्वारा
(स) तरलता अधिमान द्वारा
(द) वाणिज्यिक बैंकों द्वारा
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
ब्याज के तरलता अधिमान सिद्धांत के अनुसार, ब्याज दर का निर्धारण तरलता अधिमान (Liquidity Preference) तथा मुद्रा की पूर्ति पर निर्भर करता है।
30. अल्प ब्याज नीति को और क्या कहते हैं?
(अ) सस्ती मुद्रा नीति (ब) आय सृजन नीति
(स) महंगी मुद्रा नीति (द) निवेश नीति
S.S.C.C.P.O. परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
अल्प ब्याज नीति को सस्ती मुद्रा नीति भी कहते हैं। अल्प व्याज नीति के अंतर्गत त्ठप् बैंक दर, रिपो दर आदि में कमी ला देता है जिससे बैंकों के पास फंड की उपलब्धता (तरलता) बढ़ जाती है। तरलता बढ़ने से ब्याज दर कम हो जाती है। ऐसी स्थिति में उद्योगों, व्यवसायों और उपभोक्ताओं को कम ब्याज दर व आसान शर्तों पर ऋण उपलब्ध होते हैं।
31. बैंक दर किसकी ब्याज दर मानी जाती है?
(अ) जिस पर जनता वाणिज्यिक बैंक से धन उधार लेती है
(ब) जिस पर जनता रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से धन उधार लेती है
(स) जिस पर वाणिज्यिक बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से धन उधार
लेते हैं
(द) जिस पर वाणिज्यिक बैंक जनता से धन उधार लेते हैं
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
बैंक दर से अभिप्राय उस दर से है, जिस पर केंद्रीय बैंक सदस्य बैंकों के प्रथम श्रेणी के बिलों की पुनर्कटौती करता है अथवा स्वीकार्य प्रतिभूतियों पर ऋण देता है। कुछ देशों में इसे कटौती दर भी कहा जाता है। बैंक दर में परिवर्तन करके केंद्रीय बैंक देश में साख की मात्रा को प्रभावित कर सकता है।
32. जिस बाजार से ऋण के रूप में धन प्राप्त किया जा सकता है उसे क्या कहते हैं?
(अ) आरक्षित बाजार (ब) संस्थागत बाजार
(स) मुद्रा बाजार (द) विनिमय बाजार
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
मुद्रा बाजार भारतीय वित्तीय प्रणाली का एक महत्त्वपूर्ण अंग है। यह सामान्यता 1 वर्ष से कम अवधि के फंड तथा ऐसी वित्तीय संपत्तियों जो मुद्रा की नजदीकी स्थानापन्न हैं, के क्रय तथा विक्रय के लिए बाजार है।
33. वाणिज्यिक बैंकों द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक के पास रखे गए सांविधिक न्यूनतम से अधिक रिजर्व कहलाते हैं –
(अ) नकदी रिजर्व (ब) जमा रिजर्व
(स) बेशी रिजर्व (द) क्षणिक रिजर्व
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
वाणिज्यिक बैंकों द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक के पास रखे गए सांविधिक न्यूनतम से अधिक रिजर्व बेशी रिजर्व (Excess Re serve) कहलाते हैं।
34. निम्नलिखित में से क्या देश के सेंट्रल बैंक द्वारा दिए जाने वाले उधार के लिए गुणता नियंत्रण नहीं है?
(अ) उधार राशि नियतन
(ब) उपभोक्ता उधार का विनियमन
(स) रिजर्व अनुपात में परिवर्तन
(द) मार्जिन की आवश्यकताओं का विनियमन
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
देश के केंद्रीय बैंक (R.B.I.) द्वारा मौद्रिक नीति के अंतर्गत साख नियंत्रण के लिए निम्न दो तरीके अपनाए जाते हैं-
(1) परिमाणात्मक या मात्रात्मक तरीका-इसके अंतर्गत बैंक दर, सेंट्रल बैंक के परिमाणात्मक उधार नियंत्रण उपाय निम्नवत हैं-
बैंक दर नीति (Bank Rate Policy), मुक्त बाजार प्रचालन (Open Market Operation), CÙ (नकद आरक्षित अनुपात) तथा SLR (वैधानिक तरलता अनुपात) के साथ समायोजन, उधार पर (Lending Rate),रेपो दर तथा रिवर्स रेपो दर।
(2) चयनात्मक या गुणात्मक तरीका-इसके अंतर्गत मार्जिन निर्धारण, नैतिक दबाव, साख मापदंड का निर्धारण तथा साख स्वीकृतिकरण योजना आदि आते हैं।
35. निम्नलिखित में से कौन-सी मात्रात्मक उधार नियंत्रण तकनीक नहीं है?
(अ) बैंक दर
(ब) नकद आरक्षण अनुपात
(स) सांविधिक तरलता अनुपात
(द) बचत जमा खाते पर ब्याज दर में वृद्धि
S.S.C.CPO परीक्षा, 2008
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
36. निम्नलिखित में से क्या गुणात्मक ऋण नियंत्रण पद्धति है?
(अ) बैंक दर नीति (ब) खुला बाजार प्रचालन
(स) परिवर्ती आरक्षित अनुपात (द) नैतिक प्रत्यायन
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
37. सेंट्रल बैंक के परिमाणात्मक उधार नियंत्रण उपाय में निम्नलिखित में से क्या शामिल नहीं है-
(अ) बैंक दर नीति (ब) खुला बाजार प्रचालन
(स) नकदी रिजर्व अनुपात (द) नैतिक दबाव
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2011
उत्तर-(द)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
38. निम्न में से कौन-सा आरबीआई का गुणात्मक उधार नियंत्रण उपाय नहीं है?
(अ) सीमांत अपेक्षाएं निर्धारित करना
(ब) परिवर्ती ब्याज दरें
(स) खुला बाजार कार्रवाई
(द) उधार पात्रता निर्धारणं
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(स)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
39. अंतिम उपाय का ऋणदाता कौन है?
(अ) भारतीय औद्योगिक विकास बैंक
(ब) नाबार्ड
(स) भारतीय स्टेट बैंक
(द) भारतीय रिजर्व बैंक
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(द)
अंतिम उपाय का ऋणदाता भारतीय रिजर्व बैंक है क्योंकि यह बैंकों का बैंक है। यह बैंकों को उस समय ऋण देता है या तरलता की आपूर्ति करता है जब उन्हें अन्य स्रोतों से वित्त आसानी से नहीं मिल पाता है। इसलिए यह अंतिम ऋणदाता कहलाता है।
40. किसी अर्थव्यवस्था में निम्न में से कौन-सा ऐसा कार्य है, जो केंद्रीय बैंक के कार्यों में शामिल नहीं है?
(अ) विदेशी मुद्रा विनिमय का कार्य
(ब) मौद्रिक नीति पर नियंत्रण
(स) सरकारी खर्च पर नियंत्रण
(द) बैंकर के बैंक के रूप में कार्य
S.S.C. CPO परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
किसी अर्थव्यवस्था में सरकारी खर्च पर नियंत्रण केंद्रीय बैंक का कार्य नहीं है जबकि शेष उपर्युक्त कार्य केंद्रीय बैंक के ही हैं। सरकारी खर्च पर नियंत्रण का कार्य राजकोषीय नीति का हिस्सा है।
41. हाल के वर्षों में भारत में केंद्रीय सरकार के व्यय की सबसे बड़ी एकल मद रही है-
(अ) रक्षा (ब) सब्सिडी
(स) ब्याज का भुगतान (द) सामान्य सेवाएं
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(स)
हाल के वर्षों में भारत में केंद्रीय सरकार के व्यय की सबसे बड़ी एकल मद केंद्रीय आयोजना पर रही है। तत्पश्चात ब्याज की अदायगी पर सर्वाधिक व्यय किए गए। रक्षा तथा सब्सिडी (आर्थिक सहायता) का इसके बाद स्थान है। बजट 2017-18 के अनुसार, करों और शुल्कों में राज्यों का भाग 24% है, इसके बाद व्यय की सबसे बड़ी मद है- ब्याज भुगतान (18%)।
42. व्यापार नीति में शामिल है-
(अ) निर्यात-आयात नीति (ब) लाइसेंसिंग नीति
(स) विदेशी मुद्रा नीति (द) भुगतान-संतुलन नीति
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2008
उत्तर-(अ)
व्यापार नीति में निर्यात आयात नीति शामिल है। भारत सरकार ने व्यापार की एक एकीकृत नीति अपनाई है अर्थात् ऐसे कदम उठाए हैं जिनका आयात व निर्यात दोनों पर प्रभाव पड़ता है। नई व्यापार नीति (2009-14) में देश के निर्यात को दोगुना करना तथा विश्व व्यापार में भारत के हिस्से को वर्ष 2020 तक दोगुना करने का लक्ष्य है।
43. निम्न में किसे श्उत्प्रवाही द्रव्यश् माना जाता है?
(अ) FII (ब) FDI
(स) AA (द) GA
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2012
उत्तर-(अ)
FII (Foreign Institutional Investor) को ‘उत्प्रवाही द्रव्य‘ (Hot Money) माना जाता है।
44. अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में गृह उद्योगों की संरक्षण पद्धतियों में निम्नलिखित में से किसे छोड़कर सभी शामिल हैं?
(अ) आयात कर (ब) टैरिफ
(स) कोटा (द) लाइसेंस हटाना
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
संरक्षणवाद वह आर्थिक नीति है जिसका अर्थ है विभिन्न देशों के बीच व्यापार निरोधक लगाना। जैसे आयातित वस्तुओं पर शुल्क लगाना, प्रतिबंधक आरक्षण और अन्य बहुत से सरकारी प्रतिबंधन नियम जिनका उद्देश्य आयात को हतोत्साहित करना और विदेशी समवायों (कंपनियों) द्वारा स्थानीय बाजारों और समवायों के अधिग्रहण को रोकना है।
45. वस्तु-विनिमय संव्यवहार का क्या अर्थ है ?
(अ) वस्तुओं के बदले सिक्कों का विनिमय किया जाता है।
(ब) वस्तुओं का विनिमय वस्तुओं के साथ किया जाता है।
(स) मुद्रा विनिमय के माध्यम के रूप में कार्य करती है।
(द) वस्तुओं का विनिमय सोने के साथ किया जाता है।
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
वस्तु-विनिमय संव्यवहार का अर्थ है-वस्तुओं का विनिमय वस्तुओं के साथ। इस व्यवस्था में वस्तुओं एवं सेवाओं का लेन-देन, दूसरी वस्तुओं एवं सेवाओं के साथ किया जाता है। इस संव्यवहार में किसी भी प्रकार का मौद्रिक भुगतान नहीं किया जाता है।