प्रो. सत्येन्द्रनाथ बोस ने किस पदार्थ का उपयोग कर आँखों की दवाई बनाई ? Which substance was used by professor Satyendra Nath Bose to make medicine for eyes

By  
सब्सक्राइब करे youtube चैनल

प्रश्न 17 : प्रो. सत्येन्द्रनाथ बोस ने किस पदार्थ का उपयोग कर आँखों की दवाई बनाई ?

उत्तर : आँखों के लिए दवाई बनाने के लिए प्रोफ़ेसर सत्येन्द्रनाथ बोस ने सल्फोनेमाइड अणु में परिवर्तित करके ऐसा रासायनिक पदार्थ बनाया जिसका उपयोग हम आज भी ‘ऑयड्राप’ के रूप में करते है।
अधिक ज्ञान : प्रोफेसर सत्येन्द्र नाथ बोस एक भारतीय भौतिकी वैज्ञानिक थे , ये भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में एक बहुत अच्छे सैद्धांतिक वैज्ञानिक माने जाते है।
इन्होने मुख्य रूप से ‘क्वांटम यांत्रिकी’ क्षेत्र में कार्य किया था जिसके लिए ये सबसे अधिक विख्यात हुए , सत्येन्द्र  नाथ बोस का सबसे प्रचलित काम वह था जो उन्होंने अल्बर्ट आइंस्टीन के साथ मिलकर ‘बोसॉन’ कणों पर किया था , बोसॉन कणों को ‘गॉड कण’ भी कहा जाता है।
भारत के प्रसिद्द भौतिक वैज्ञानिक प्रोफ़ेसर सत्येंद्र नाथ बोस का जन्म 1 जनवरी 1894 को कलकत्ता में हुआ था , उन्होंने अपना अध्ययन कलकत्ता विश्वविद्यालय से किया और जब वे कलकत्ता विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहे थे तो अध्ययन करते हुए भी भौतिक विज्ञान डिपार्टमेंट में व्याख्याता के रूप में पढ़ाते थे , इसके बाद उन्होंने 1921 को ढाका विश्वविद्यालय में भौतिकी डिपार्टमेंट ज्वाइन कर लिया , सत्येन्द्र नाथ बोस , मेघनाथ साहा के साथ मिलकर कई पेपर प्रकाशित कर चुके थे ये पेपर सैद्धांतिक भौतिक विज्ञान और गणित विषय पर आधारित थे।
बोस ने बिना क्लासिकल भौतिकी का उपयोग किये प्लांक का क्वांटम विकिरण नियम बना दिया इसके लिए इन्होने एक नया ही तरीका निकाला जिसके द्वारा कणों की पहचान की जा सकती थी और उनकी अवस्थाओं की भी गणना संभव थी , लेकिन बोस के इस पेपर को पहली बार में प्रकाशित नहीं किया गया तो बोस ने यह पेपर सीधे आइन्स्टाइन को जर्मनी में भेज दिया , आइन्स्टीन ने इस पेपर को पढ़ा और उन्होंने बोस के द्वारा लिखे गए इस पेपर का महत्व समझा और इस पेपर को उन्होंने जर्मन भाषा में ट्रांसलेट करके सत्येन्द्र बोस की तरफ से आगे भेज दिया ,और इसका ही परिणाम हुआ कि बोस को यूरोप की एक्स-रे और क्रिस्टलोग्राफी की प्रयोशाला में दो साल तक काम करने का मौका मिला। और इसी दो साल के अन्दर उन्होंने लुई डी ब्रोगली, मैरी क्यूरी और आइंस्टीन जैसा महान वैज्ञानिको के साथ काम किया और उनको यह मौका मिला।
english me : Which substance was used by professor Satyendra Nath Bose to make medicine for eyes ? answer in hindi