बोसॉन किसे कहते है ? what is boson particle in hindi

By  

प्रश्न 18 : बोसॉन किसे कहते है ?

उत्तर : भारतीय वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस ने यह पाया कि फोटोन , पाइमीजोन , एल्फा कण , ग्रेविटोन आदि कणों की चक्रण क्वांटम संख्या पूर्णांको में होता है अर्थात इन कणों की चक्रण क्वांटम संख्या शून्य , एक , दो इस प्रकार पूर्णांक के रूप में होते है , चूँकि इसका अध्ययन सबसे पहले बोस ने ही किया था इसलिए इनके सम्मान में इन कणों को बोसॉन कहते है।

बोसॉन एक प्रकार का कण होता है अर्थात क्वांटम यांत्रिकी में बोसोन एक कण होता है जो सत्येन्द्र नाथ बोस और आइन्स्टीन द्वारा दिए गए बोस-आइंस्टीन सांख्यिकी का अनुसरण करता है , बोसॉन एक या दो प्रकार के कणों से मिलकर बना हुआ होता है।

बोसोन शब्द पॉल डिराक द्वारा दिया गया था यह नाम उन्होंने भारतीय वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस के इस क्षेत्र में किये गए योगदान के कारण दिया गया था जिन्होंने आइन्स्टीन के साथ मिलकर बोस-आइन्स्टीन सांख्यिकी को बताया जिससे मूल कणों के बारे में जानकारी प्राप्त हुई और मूल कणों के गुणों के बारे में सिद्धांत प्राप्त हुआ।

बोसॉन के उदाहरण में मूल कणों को शामिल किया जाता है जैसे फोटोन , ग्लुओन और W और Z बोसॉन आदि।

बोसॉन के प्रकार की बात करे तो या तो ये मोल कणों के रूप में होते है जैसे फोटोन या फिर बोसॉन कम्पोजिट के रूप में हो सकते है जैसे मेसोन कण।

जब बोस कणों की गैस को ठंडा किया जाता है परम शुन्य ताप के पास इनकी गतीज ऊर्जा में बहुत कम कमी होती है और ये कण न्यूनतम ऊर्जा स्तर अवस्था में कंडेंस हो जाते है जिसे बोस आइन्स्टीन कंडनसेट कहते है।

tag : what is boson particle in hindi ? know all about boson