गुब्बारे में भरी जाने वाली गैस का नाम क्या है | which gas used in balloons in hindi name गुब्बारों को उड़ाने के लिए काम में लाई जाने वाली गैस है

By  

गुब्बारों को उड़ाने के लिए काम में लाई जाने वाली गैस है ? which gas used in balloons in hindi name गुब्बारे में भरी जाने वाली गैस का नाम क्या है ? 

उत्तर : गुब्बारा उड़ाने के लिए इसमें भरी जाने वाली गैस ‘हीलियम गैस’ होती है | हीलियम गैस एक अक्रिय गैस होती है |

206. निर्जल कैल्सियम क्लोराइड निम्नलिखित की तरह काम करता है-
(अ) निर्जलीकारक (dehydrating agent)
(स) औषधि
(स) ऑक्सीकारक
(द) रंगबंधक
Ans- (अ) निर्जल कैल्सियम क्लोराइड निर्जलीकारक (dehydrating agent) की तरह कार्य करता है।
ऽ वैसे पदार्थ जो इलेक्ट्रॉन ग्रहण करते हैं ऑक्सीकारक (Oxidising agent) कहते हैं। सभी अधातुएँ ऑक्सीकारक होती है ।
207. रसो-चिकित्सा का सम्बन्ध निम्न से है
(अ) औद्योगिक इंजीनियरी
(स) युद्धों में रसायनों के उपयोग
(स) रोगों के उपचार में रसायनों का उपयोग और अध्ययन
(द) खाद्य उद्योग में रसायनों का उपयोग
Ans- (स) रसो-चिकित्सा का संबंध रोगों के उपचार में रसायनों का उपयोग और अध्ययन से है।
208. कोलेस्टेरॉल है-
(अ) क्लोरोफिल का प्रकार
(स) क्लोरोफॉम का व्युत्पन्न (derivative)
(स) जीव वसा में पाया जाने वाला वसा ऐल्कोहॉल ।
(द) क्रोमियम लवण
Ans- (स) जीव वसा में पाये जाने वाला वसा ऐल्कोहॉल कोलेस्टेरॉल कहलाता है।
209. डी.डी.टी. उस रसायन का नाम है जो निम्नलिखित की तरह उपयोग किया जाता है-
(अ) प्रतिरोधी (स) कीटनाशक
(स) प्रतिजैविक (द) उर्वरक
Ans- (स) कीटनाशक के रूप में डी० डी० टी० (Dichloro Diphenyl
Trichloro ethane) का उपयोग किया जाता है।
210. धूल और ग्रीस को सतह से साफ करने वाले पदार्थ को कहते हैं-
(अ) अपर्माजक (स) स्नेहक
(स) विरंजक (द) अपचायक
Ans- (अ) अपमार्जक धूल और ग्रीस को सतह से साफ करने वाला पदार्थ है।
ऽ अपमार्जक (Detergent) को साबुन रहित सावुन कहा जाता है । इसका निर्माण लौरिक एल्कोहल एवं सल्फोनिक अम्ल से होता है।
ऽ अपमार्जक कठोर जल में भी आसानी से झाग देता है इस कारण यह कपड़ा आसानी से साफ करता है।
211. जिस पात्र में रखा जाए उसी का आकार ग्रहण कर लेने वाला द्रव्य कहलाता है-
(अ) गोंदसा ठोस (स) तरल (fluid)
(स) गैस (द) ठोस
Ans- (स) जिस पात्र में रखा जाए उसी का आकार ग्रहण करने वाला द्रव्य तरल (Fluid) कहलाता है। द्रव्य का आयतन निश्चित एवं आकार अनिश्चित होता है। इसके अणुओं के बीच प्दजमतउवसमबनसंत वितबम कम लगता है।
ऽ गैस का आकार एवं आयतन दोनों अनिश्चित होता है क्योंकि इसके अणुओं के बीच प्दजमतउवसमबनसंत वितबम नहीं लगता है।
212. संगलन (fuion) (गलन) को बढ़ावा देने के लिए धातुओं के साथ मिलाया जाने वाला पदार्थ है-
(अ) फ्यूज (fue)
(स) गालक (flux)
(स) ईंधन
(द) निस्तापक (calcinating agent)
Ans- (स) संगलन (Fusion) गलन को बढ़ावा देने के लिए धातुओं के साथ मिलाया जाने वाला पदार्थ गालक (Flux) है।
ऽ वैसे पदार्थ जो ज्वलनशील होते हैं तथा जलने पर उष्मा प्रदान करते हैं ईंधन कहलाता है।
213. गैसोलीन का पर्याय क्या है ?
(अ) डीजल (स) पेट्रोल
(स) प्राकृतिक गैस (द) कच्चा तेल
Ans- (स) गैसोलीन का पर्याय पेट्रोल है। यह ब्5-ब्11 को पेट्रोल कहा जाता है इसका उपयोग मोटर ईंधन में होता है।
ऽ C17&C18 डीजल होता है गाड़ी के ईंधन के रूप में इसका उपयोग होता है।
ऽ प्राकृतिक गैस (Natural gsa) मिथेन इथेन प्रोपेन, ब्यूटेन तथा नाइट्रोजन का मिश्रण है। जिसमें 83% मिथेन एवं 16% इथेन होता है।
214. आसानी से झाग नहीं देने वाला जल कहलाता है-
(अ) मृदु जल (स) भारी जल
(स) कठोर जल (द) खनिज जल
Ans- (स) आसानी से झाग नहीं देने वाला जल कठोर जल कहलाता है।
ऽ जल की कठोरता दो प्रकार की होती है।
अस्थायी कठोरता- इसमें कैल्शियम या मैग्नेशियम के बाईकार्बोनेट (HCO3) घुले होते हैं। इस जल को उबालकर एवं चूना का जल मिलाकर जल की अस्थायी कठोरता दूर की जाती है।
स्थायी कठोरता-जल में कैल्शियम का मैग्नेशियम के क्लोराइड या सल्फेट के कारण स्थायी कठोरता होती है। यह कठोरता आसवन विधि द्वारा दूर की जाती है।
ऽ सोडियम कार्बोनेट (Na2CO3) जल की अस्थायी एवं स्थायी दोनों कठोरता दूर करता है।
ऽ भारी जल (D2O) का उपयोग परमाणु रिएक्टर में मंदक के रूप में होता है इसका अणुभार 20 होता है।
215. गुब्बारों को उड़ाने के लिए काम में लाई जाने वाली गैस है-
(अ) नाइट्रोजन (स) हाइड्रोजन
(स) हीलियम (द) वायु
Ans- (स) हीलियम गुब्बारों को उड़ाने के लिए काम में लाई जाने वाली गैस है।
216. अक्रिय गैसें-
(अ) जल में मिश्रणीय (miscible) होती हैं
(स) स्थायी नहीं होती हैं
(स) रासायनिक रूप से अभिक्रियाशील नहीं होती हैं
(द) रासायनिक रूप से अतिक्रियाशील होती हैं
Ans- (स) अक्रिय गैसे रासायनिक रूप से अभिक्रियाशील नहीं होती है। वायुमंडल में रेडॉन (Rn) गैस नहीं पायी जाती है।
217. नील का प्रयोग निम्नलिखित में होता है-
(अ) सुगंधशाला (perfumery) उद्योग में
(स) औषधि उद्योग में
(स) रंगाई (रंजक) उद्योग में
(द) खाद्य उद्योग में
Ans- (स) नील का प्रयोग रंगाई (रंजक) उद्योग में होता है।
218. अलसी की खल (linseed ckae) निम्नलिखित काम में आती है-
(अ) धोने के काम में
(स) पशुओं को खिलाने में
(स) नवजात को खिलाने में
(द) पटाखों को भरने में
Ans- (स) पशुओं को खिलाने में अलसी की खली (Lin Seed Ckae)।
काम में आती है।
ऽ आतिशबाजी के दौरान हरा रंग बेरियम की उपस्थिति के कारण होता है आतिशबाजी के दौरान लाल चटक रंग स्ट्रान्शियम (Sr) की उपस्थिति के कारण होता है।
219. निक्षालन (leaching) प्रक्रम में शामिल है-
(अ) गाढ़े रंगों को हटाना
(स) घुलनशील यौगिक को घोलना
(स) वाष्पीकरण
(द) फिल्टरन
Ans- (स) घुलनशील यौगिकों को घोलना निक्षालन (Leaching) प्रक्रम
में शामिल होता है।
220. मैग्नीशिया मुख्य उपयोग है-
(अ) मृदुविरेचक (mild laxative)
(स) प्रतिरोधी
(स) प्रतिजैविक
(द) पीड़ाहारी
Ans- (अ) मैग्नीशिया का मुख्य उपयोग मृदुविरेचक (Mild laxative) कहलाता है।
Milk fo Magnecia Mg (OH) का उपयोग Acidity दूर करने में होता है।
221. विकृतीकृत (denatured) ऐल्कोहॉल
(अ) ऐल्कोहॉल का एक अति-शुद्ध प्रकार है
(स) यह पीने के लिए अनुपयुक्त होता है क्योंकि इसमें जहरीले पदार्थ होते हैं
(स) इनमें रंगीन अपद्रव्य (impurities) होते है
(द) इसका स्वाद मीठा होता है
Ans- (स) विकृतीकृत (denatured) ऐल्कोहॉल यह पीने के लिए अनुपयुक्त होता है क्योंकि इसमें जहरीले पदार्थ होते हैं।
222. एथिल ऐल्कोहॉल को पीने के लिए अनुपयुक्त बनाने के लिए इसमें निम्नलिखित मिलाया जाता है
(अ) पोटैशियम सायनाइड
(स) मेथिल ऐल्कोहॉल
(स) क्लोरोफार्म
(द) पोटैशियम क्लोराइड
Ans- (स) एथिल ऐल्कोहॉल को पीने के लिए अनुपयुक्त बनाने के लिए इसमें मेथिल ऐल्कोहॉल मिलाया जाता है।
223. रंगबंधक (mordant) वह पदार्थ है जो
(अ) कपड़ों पर रंग पक्का करने के काम आता है
(स) विरंजक का काम करता है
(स) रंग को प्रगाढ़ बनाने के लिए सक्षम है
(द) अत्यन्त कठोर ठोस होते हैं
Ans- (अ) रंगबंधक (Mordant) वह पदार्थ है जो कपड़ों पर रंग पक्का करने के काम में आता है।
ऽ रंगबंधक के उदाहरण हैं- tannic acid, एलम, सोडियम क्लोराइड, क्रोनियम, तांबा, लोहा तथा आयोडिन के लवण।
224. डी.एन.ए. में निम्नलिखित इकाई होती है-
(अ) ग्लूकोज (स) सूक्रोज,
(स) फ्रक्टोज (द) डिऑक्सीराइबोज
Ans- (द) D-N-A- में डिऑक्सीराइबोज इकाई होती है।
225. मॉर्फीन दवा का वर्गीकरण निम्न शीर्षक के अंतर्गत किया जाता है-
(अ) स्वापक (narcotics) (स) प्रतिजैविक
(स) मलेरियारोधी (द) प्रतिरोधी
Ans- (अ) मॉर्फीन दवा का वर्गीकरण स्वापक (narcotics) के अन्तर्गत किया जाता है।
226. निम्नलिखित जहरीला पदार्थ तम्बाकू का मुख्य घटक है-
(अ) मॉर्फीन (स) एस्पिरिन
(स) निकोटीन (द) रिसपीन
Ans- (स) निकोटीन जहरीला पदार्थ तम्बाकू का मुख्य घटक है।
227. चाय तथा कॉफी का मुख्य क्रियाशील घटक है-
(अ) निकोटिन (स) क्लोरोफिल
(स) कैफीन (द) एस्पिरिन
Ans- (स) कैफीन चाय तथा कॉफी का मुख्य क्रियाशील घटक है।
228. प्रबल अम्लों को रखने के बर्तन निम्नलिखित के बने होते हैं-
(अ) प्लेटिनम (स) पीतल
(स) तांबा (द) काँच
।दे. (द) प्रबल अम्लों को रखने के लिए काँच के बने बर्तन का प्रयोग होता है क्योंकि काँच अम्ल से प्रतिक्रिया नहीं करता है।
229. प्रतिरोधी और विसंक्रामक के रूप में प्रयोग किया जाने वाला गहरे बैंगनी रंग का यौगिक है-
(अ) पोटैशियम नाइट्रेट (स) सोडियम थायोसल्फेट
(स) पोटैशियम परमैगनेट (द) कैल्सियम फॉस्फेट
Ans- (स) प्रतिरोधी और विसंक्रामक के रूप में प्रयोग किया जाने वाला गहरे बैंगनी रंग का यौगिक पोटैशियम परमैगनेट है। (KMNO4) इसे लाल दवा भी कहा जाता है।
230. पदार्थों की वास्तविक मात्रा का पता लगाने के लिए उपयोग में लाए जाने वाले रसायन की शाखा कहलाती है-
(अ) जीव रसायन (स) अकार्बनिक रसायन
(स) ऑर्गेनोमेटेलिक रसायन (द) विश्लेषिक रसायन
Ans- (द) पदार्थों की वास्तविक मात्रा का पता लगाने के लिए उपयोग में
लाए जाने वाले रसायन की शाखा विश्लेषिक रसायन कहलाता है।
231. मिश्र धातु इस्पात जंग को रोकने के लिए क्रोमियमयुक्त मिश्रधातु इस्पात कहलाता है-
(अ) पिटवां लोहा (wrought iron)
(स) ढलवां लोहा
(स) कठोर इस्पात
(द) जंगरोधी इस्पात
Ans- (द) मिश्र धातु इस्पात जंग को रोकने के लिए क्रोमियमयुक्त मिश्रधातु इस्पात जंगरोधी इस्पात कहलाता है।
232. जिस बिंदु पर किसी पदार्थ की ठोस, तरल तथा गैसीय रूपों का सह-अस्तित्व होता है उसे कहते हैं-
(अ) क्वथनांक
(स) गलनांक
(स) film forng (triple point)
(द) हिमांक
Ans- (स) जिस बिन्दु पर किसी पदार्थ की ठोस तरल तथा गैसी रूपों का सह-अस्तित्व होता है उसे त्रिक बिन्दु (Triple Point) कहलाते हैं।
ऽ हिमांक (Freezing Point)-निश्चित ताप पर कोई द्रव ठोस में बदलता है उसे हिमांक कहा जाता है जल का हिमांक O° होता है।
ऽ द्रवणांक या गलनांक (Melting Point)-निश्चित ताप पर कोई ठोस द्रव में परिणत होता है, गलनांक कहलाता है बर्फ का Melting Point 0°C है।

233. पेंसील ‘लेड‘ निम्नलिखित से बना होता है-
(अ) ग्रेफाइट (स) काष्ठ कोयला
(स) लेड ऑक्साइड (द) काजल (lampblack)
Ans- (अ) पेंसिल लेड ग्रेफाइट से बना होता है यह कार्बन का अपरूप है तथा विद्युत का सुचालक होता है ।
काजल (Carbon Black या Lamp Black) यह काला मुलायम पाउडर होता है । जिसमें 99ः कार्बन होता है इसे कैरोसीन तेल, एसीटिलीन, टारपेन्टाइस तेल, घी इत्यादि को ऑक्सीजन की सीमित मात्रा की उपस्थिति में जलाकर बनाया जाता है। इसका उपयोग जूते पर पॉलिश, काला पेन्ट, स्याही आदि बनाने में किया जाता है।
234. प्रतिरक्षी (एन्टीबॉडी) नाम निम्नलिखित को दिया गया है-
(अ) हानिकारक जीवाणु
(स) जहरीले पदार्थ
(स) संक्रमणकारी विषाणु
(द) रक्त में निर्मित पदार्थ जो हानिकारक जीवाणु के आक्रमण का संदमन (पदीपइपज) करते हैं या उन्हें नष्ट करते हैं
Ans- (द) प्रतिरक्षी (Anti body) रक्त में निर्मित पदार्थ होते हैं जो । हानिकारक जीवाणु के आक्रमण का संदमन (Inhibit) करते है या
उन्हें नष्ट करते है।
235. विष खा लेने पर या बिमारी के प्रभाव को रोकने के लिए दिया जाने वाला औषधीय पदार्थ कहलाता है-
(अ) प्रतिरक्षी (स) प्रतिजन (antigen)
(स) प्रतिविष (antidote) (द) प्रतिजैविक
Ans- (स) विष खा लेने पर या बिमारी के प्रभाव को रोकने के लिए दिया
जाने वाला औषधीय पदार्थ प्रतिविष (Antidote) कहलाता है।