अपशिष्ट एवं इसका प्रबंधन अध्याय 13 कक्षा 10 वीं , waste and its management class 10 notes in hindi

By   May 25, 2019

waste and its management class 10 notes in hindi , अपशिष्ट एवं इसका प्रबंधन अध्याय 13 कक्षा 10 वीं : वर्तमान समय में हम अपने जीवन को और अधिक सुविधाजनक बनाने की होड़ में अधिक से अधिक वस्तुओं आदि का उपयोग करते है जिसके कारण उसी अनुपात में उनसे उत्पन्न होने वाला अपशिष्ट पदार्थ भी उसी अनुपात में बढ़ता जाता है जिससे विभिन्न प्रकार की समस्या उत्पन्न हो रही है इसलिए इन अपशिष्टो का समुचित विश्लेषण आवश्यक है और साथ ही इन अपशिष्टो का निदान आवश्यक है हम इस अध्याय में इन अपशिष्ट और इनके प्रबन्धन के बारे में विस्तार से अध्ययन करेंगे।

टॉपिक

  • अपशिष्ट
  • अपशिष्ट के प्रकार
  • जैव निम्नीकरणीय अपशिष्ट
  • अजैव निम्नीकरणीय अपशिष्ट
  • अपशिष्ट के स्रोत
  • घरेलु स्रोत
  • नगरपालिका
  • उद्योग एवं खनन कार्य
  • कृषि
  • चिकित्सा क्षेत्र
  • अपशिष्ट से होने वाले नुकसान
  • अपशिष्ट प्रबन्धन
  • अपशिष्ट प्रबन्धन के तरीके
  • भूमिभराव
  • भस्मीकरण
  • पुनर्चकरण तरीके
  • रासायनिक क्रिया

बहुचयनात्मक प्रश्न और उत्तर

प्रश्न 1 : जैव चिकित्सकीय अपशिष्ट के निस्तारण हेतु कौनसी तकनीक उपयुक्त है ?

प्रश्न 2 : पुनर्चक्रण किस प्रकार के अपशिष्ट हेतु उत्तम उपचार है ?

प्रश्न 3 : निम्न में से प्रमुख ग्रीन हाउस गैस है ?

प्रश्न 4 : भारत के बड़े नगरो में प्रति व्यक्ति औसत कूड़ा निकलता है ?

प्रश्न 5 : जैविक खाद बनाई जा सकती है ?

अतिलघुरात्मक प्रश्न तथा उत्तर

प्रश्न 6 : बायोगैस कैसे बनाई जाती है ?

प्रश्न 7 : अपशिष्ट क्या है ?

प्रश्न 8 : ग्रीन हाउस गैसों के नाम लिखे।

प्रश्न 9 : वर्मी कम्पोस्ट किसे कहते है ?

प्रश्न 10 : नालियों में जल के रुकने से कौन कौनसे रोग हो सकते है ?

लघुरात्मक प्रश्न एवं उत्तर

प्रश्न 11 : अपशिष्ट प्रबन्धन समझाइये।

प्रश्न 12 : ठोस अपशिष्ट से क्या अभिप्राय है ?

प्रश्न 13 : जैव निम्नीकरणीय व अजैव निम्नीकरणीय अपशिष्ट में अंतर लिखिए।

प्रश्न 14 : भूमिभराव से आप क्या समझते है ?

प्रश्न 15 : पुनर्चक्रण से क्या तात्पर्य है ?

प्रश्न 16 : भस्मीकरण विधि किस हेतु उपयोग में ली जाती है ?

निबंधात्मक प्रश्न व उनके उत्तर

प्रश्न 17 : अपशिष्ट के प्रकारों का वर्णन कीजिये।

प्रश्न 18 : अपशिष्ट प्रबन्धन पर लेख लिखिए।

प्रश्न 19 : अपशिष्ट के स्रोतों पर निबन्ध लिखिए।

प्रश्न 20 : अपने चारो ओर के वातावरण से विभिन्न अपशिष्ट पदार्थो की सूची बनाकर उन्हें वर्गीकृत कीजिये।

प्रश्न 21 : अपने मोहल्ले या गाँव में अपशिष्ट प्रबंधन हेतु आप क्या करोगे।

महत्वपूर्ण बिंदु या अपशिष्ट एवं इसका प्रबंधन पाठ का सारांश

  • जैसे जैसे हमने अपने जीवन को सुविधाजनक बनाने के लिए वैज्ञानिक और औद्योगिक प्रगति की है वैसे वैसे अपशिष्टो की मात्रा में भी काफी भारी मात्रा में बढ़ोतरी हुई है , जिससे पर्यावरण में असंतुलन उत्पन्न हो जाता है जिससे मानव के स्वास्थ्य पर भी इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है यही कारण है कि अपशिष्ट का प्रबन्धन आवश्यक है जिससे पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य , दोनों को बचाया जा सके।
  • अपशिष्ट : जब किसी वस्तु के उपयोग के बाद या किसी प्रक्रम के अंत में जो अनुपयोगी पदार्थ प्राप्त होता है उस अनुपयोगी पदार्थ को ही अपशिष्ट कहते है। अपशिष्ट किसी भी अवस्था में हो सकते है अर्थात ये अपशिष्ट पदार्थ ठोस , द्रव और गैस किसी भी अवस्था में हो सकते है।
  • यदि हम अपशिष्ट के स्रोतों की बात करे तो ये घरेलु , नगरपालिका या उद्योग आदि से मुख्य रूप से उत्पन्न होते है अर्थात ये मुख्य स्रोत माने जा सकते है।
  • चूँकि अपशिष्ट अनुपयोगी होने के साथ साथ ये बहुत ही अधिक हानिकारक होते है , अपशिष्टो के कारण मानव में कई प्रकार के रोग उत्पन्न हो सकते है साथ ही ये पर्यावरण के लिए भी नुकसानदायक है जिससे जिव जन्तुओं के जीवन पर भी इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है अर्थात जीव जन्तुओं के स्वास्थ्य पर भी इसका गलत प्रभाव रहता है।
  • अपशिष्ट कई प्रकार के हो सकते है और यही कारण है कि इनके प्रकार के आधार पर इनका प्रबन्धन पर अलग अलग प्रकार से होता है।
  • अपशिष्ट के प्रबंधन में मुख्य रूप से भूमि भराव , भस्मीकरण और पुनर्चक्रण आदि विधियाँ या पद्धतियाँ काम में ली जाती है।