सब्सक्राइब करे youtube चैनल

galvanic isolation Decomposition क्या है विधुत अपघटन परिभाषा तथा क्रियाविधि :  जब किसी विद्युत अपघट्य के विलायक में विद्युत धारा प्रवाहित करते है तो इलेक्ट्रोड पर पदार्थ इक्कठे (निक्षेपित) हो जाते है इसे विधुत अपघटन कहते हैं।

विधुत अपघटन की क्रियाविधि (working) :

एक पात्र में संगलित (पिघला) नमक लेकर उसमे दो Pt के इलेक्ट्रोड डुबो देते है। दोनों इलेक्ट्रोडो को तारो की सहायता से बैटरी से जोड़ देते है।  बैटरी के धन सिरे से जिस छड़ को जोड़ते है वह धनावेशित होती है उसे ऐनोड कहते है , बैटरी के ऋण सिरे से जिस सिरे को जोड़ते है वह ऋणावेशित होती है उसे कैथोड कहते हैं।

NaCl ⇆    Na+  + Cl

Cathode reaction  Na+  + e → Na

Anode reaction  Cl–  → ½ Cl2 + e

प्रश्न 1 : संगलित नमक का विधुत अपघटन करने पर ऐनोड तथा कैथोड पर कौनसे पदार्थ प्राप्त होते है ?

उत्तर : ऐनोड पर क्लोरीन गैस (Cl ) तथा कैथोड पर सोडियम (Na)