त्रिगुट संधि किसे कहते हैं , triple alliance in hindi , त्रिगुट एलायन्स बनाम त्रिगुट एन्तान्ते अंतर क्या है

जाने त्रिगुट संधि किसे कहते हैं , triple alliance in hindi , त्रिगुट एलायन्स बनाम त्रिगुट एन्तान्ते अंतर क्या है ?

प्रश्न: पेरिस की सर्वोच्च शान्ति परिषद क्या थी ? .
उत्तर: पेरिस में सम्मेलन की कार्यवाही को चलाने के लिए दस व्यक्तियों की सर्वोच्च शांति परिषद बनायी गई। इसमें अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन, जापान और इटली के दो-दो प्रतिनिधि थे। इसे श्दस की परिषदश् भी कहा जाता है।
प्रश्न: पेरिस में चार बड़ों की परिषद क्या थी ?
उत्तर: पेरिस शांति सम्मेलन में निर्णय लेने के लिए इसका गठन मार्च, 1919 में किया गया। संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपात दो विल्सन इंग्लैण्ड के प्रधानमंत्री लायड जार्ज, फ्रांस के प्रधानमंत्री कलीमेंश और इटली के प्रधानमंत्री ओरलैण्डो इसम सम्मिलित थे। इटली के चले जाने से यह तीन बड़ों की परिषद रह गयी।
प्रश्न: त्रिगुट एलायन्स बनाम त्रिगुट एन्तान्ते
उत्तर: प्रथम विश्व यद्ध की पूर्व संध्या पर यूरोपीय शक्तियों का दो गुटों में विभाजन हुआ, जिन्हें क्रमशः त्रिगट एलायंस व त्रिगुट एन्तान्ते कहा गया।
त्रिगुट एलायंस में जर्मनी-आस्ट्रिया-इटली सम्मिलित थे जो एक सैनिक गटबंधी थी जबकि त्रिगुट एन्तान्ते में फ्रांस-रूस-ब्रिटेन सम्मिलित थे जो त्रिराष्ट्र मैत्री संधि थी।
प्रश्न: प्रथम विश्व युद्ध का युद्ध विराम कब व किनके मध्य हुआ तथा इस यद्ध में कल कितने देशों ने भाग लिया ?
उत्तर: 11 नवम्बर, 1918 को युद्ध विराम संधि पर जर्मनी के प्रतिनिधियों तथा मित्र राष्ट्रों की सेना के सेनापति श्मार्शल फोचश् के हस्ताक्षर हुए। युद्ध 36 राज्यों के मध्य लड़ा गया। शांति सम्मेलन में भाग लेने के लिए 32 राज्यों को आमंत्रित किया गया। रूस तथा पराजित राष्ट्रों जर्मनी, आस्ट्रिया, तुर्को, बल्गेरिया को आमंत्रित नहीं किया गया।
प्रश्न: त्रिगुट संधि (Triple Alliance)
उत्तर: 1882 में जर्मनी, ऑस्ट्रिया तथा इटली के मध्य एक संधि हुई जिसे त्रिगुट संधि कहते हैं। इसके अनुसार –
(i) यदि इटली का फ्रांस के साथ युद्ध होता है तो जर्मनी व ऑस्ट्रिया उसे सहयोग करेंगे।
(ii) जर्मनी, ऑस्ट्रिया व इटली का यदि किसी चैथी शक्ति के साथ युद्ध होता है तो तीनों एक दूसरे को मदद करेगा
(iii) इटली ने यह स्पष्ट किया कि वह इंग्लैण्ड के साथ युद्ध नहीं करेगा।
प्रश्न: निगुट (trikaiserbund-1882) संधि क्या थी।
उत्तर: मार्च, 1881 में जर्मनी, ऑस्ट्रिया तथा रूस के सम्राटों के मध्य एक समझौता हुआ। इसके अनुसार – .
(i) तीनों राष्ट्रों में से किसी अन्य देश के साथ युद्ध होने पर शेष तटस्थ रहेंगे।
(ii) रूस ने बाल्कान क्षेत्र में आस्ट्रिया के हितों को मान्यता दे दी।
प्रश्न: रीइन्श्योरेंस ट्रीटी क्या थी ?
उत्तर: 1887 में फ्रांस का विदेश मंत्री बाउलंजर (Boulanger) जर्मन विरोधी दुष्प्रचार कर रहा था और जर्मनी के खिलाफ युद्ध की तैयारियों में लग गया। इस संधि के अनुसार –
(1) तीनों में से किसी एक राष्ट्र का चैथी शक्ति के साथ युद्ध होता है तो अन्य दो राष्ट्र अलग रहेंगे।
(2) बाल्कन क्षेत्र में यथास्थिति कायम रखी जाएगी।
प्रश्न: द्विराष्ट्र संधि (Dual Alliance)
उत्तर: 1887 में द्विगुट संधि (1879) की शर्ते प्रकाशित हुई। इसके विरुद्ध 1893 में फ्रांस व रूस के बीच द्विराष्ट्र संधि हुई। इस संधि के अनुसार –
(i) यदि रूस का ऑस्ट्रिया या जर्मनी या दोनों के साथ युद्ध होता है तो फ्रांस रूस का साथ देगा।
(ii) यदि फ्रांस का जर्मनी या इटली या दोनों के साथ युद्ध होता है तो रूस फ्रांस को मदद देगा।
प्रश्न: द्विगुट एन्तान्ते (Dual Entrant)
उत्तर: 1904 में फ्रांस और इंग्लैण्ड दोनों के बीच एक समझौता हुआ जिसे द्विगुट एन्तान्ते कहते हैं। इस समझौते के अनुसार – .
(1) इंग्लैण्ड ने मोरक्को में फ्रांस के हितों को मान्यता दे दी।
(2) फ्रांस ने मिस्र में इंग्लैण्ड के हितों को मान्यता दे दी।
(3) इसी आधार पर 1907 में इंग्लैण्ड और रूस के मध्य द्वि एन्तान्ते हुआ।
प्रश्न: विल्सन के चैदह सूत्रों में से मुख्य पांच सूत्र कौनसे हैं ?
उत्तर: अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन ने प्रथम विश्वयुद्ध समाप्त करने के लिए दोनों गुटों के सामने 14 सूत्र रखे, जिनमें से प्रमुख 5 सूत्र निम्न
थे –
1. गुप्त कूटनीति का परित्याग कर संधियाँ खुले रूप में हों।
2. राष्ट्रीय आत्मनिर्णय का सिद्धान्त लागू हो।
3. विश्व शांति के लिए राष्ट्रसंघ की स्थापना की जाए।
4. पूर्ण न्याय व लोकतंत्र की स्थापना हो।
5. निःशस्त्रीकरण हो – देश को आंतरिक व्यवस्था को बनाए रखने के लिए आवश्यक हो जितने ही अस्त्र-शस्त्र रखे जाएं।
प्रश्न: पेरिस का शांति समझौते (पेरिस संधि) के बारे में बताइए।
उत्तर: प्रथम विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद पेरिस सम्मेलन में पांच पराजित देश थे, उनके साथ पांच अलग-अलग संधिया की गई। ये सभी संधिया पेरिस की शांति संधियां कही जाती हैं। जो निम्न है –
I. जर्मनी के साथ वर्साय संधि (28 जून, 1919).
II. आस्ट्रिया के साथ सेट जर्मेन संधि (10 सितम्बर, 1919)
III. बल्गेरिया के साथ न्यूइली संधि (27 नवबंर, 1919)
IV. हंगरी के साथ ट्रियानों संधि (4 जून, 1920)
V. तुर्की के साथ सेक्रे संधि (10 अगस्त, 1920) की संधि की गई।