टिंक्चर आयोडीन क्या होता है , आयोडीन का टिंक्चर क्या होता हैं ? इसके क्या उपयोग हैं किसे कहते है परिभाषा

By  

Tincture of iodine in hindi टिंक्चर आयोडीन क्या होता है , आयोडीन का टिंक्चर क्या होता हैं ? इसके क्या उपयोग हैं किसे कहते है परिभाषा uses tincture of iodine is made by dissolving tincture of iodine solution is made by dissolving

प्रश्न : टिंक्चर आयोडीन किसमें आयोडीन का घोल है?
(अ) पोटैशियम आयोडाइड (ब) एथिल एल्कोहल
(स) जल (द) सोडियम क्लोराइड
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2006
उत्तर-(अ)
टिंक्चर आयोडीन बनाने के लिए आयोडीन और पोटैशियम आयोडाइड के समान अनुपात को जल के उसी अनुपात में घोलकर बनाते हैं। इसका उपयोग पूर्तिरोधी के रूप में करते हैं।

सोडियम बाइकार्बोनेट से कार्बन डाइऑक्साइड निकालने में विफल अम्ल (एसिड) कौन-सा होता है?
(अ) कार्बोनिक ऐसिड (ब) ऐसीटिक ऐसिड
(स) फॉर्मिक ऐसिड (द) सल्फ्यूरिक एसिड
S.S.C. कांस्टेबल (G.D.) परीक्षा, 2015
उत्तर-(अ)
कार्बोनिक एसिड कार्बन डाइऑक्साइड निर्मुक्त नहीं करता है। एसिटिक एसिड-
NaHCO3 + CH3 COOH → CH3COONa + CO2 + H2O
फॉर्मिक एसिड NaHCO3  + HCOOH → HCOONa + CO2 + H2O
सल्फ्यूरिक एसिड 2NaHCO3 + H2SO4 → Na2SO4  + 2H2O + 2CO2

मसाला (मॉर्टर) एक मिश्रण होता है, जल, बालू और-
(अ) बुझे हुए चूने का (ब) बिना बुझे चूने का
(स) चूना-पत्थर का (द) जिप्सम का
S.S.C.Tax Asst. परीक्षा, 2009
उत्तर-(अ)
सीमेंट और रेत को 1: 3 अनुपात में मिलाकर उसे जल से मिश्रित करने पर मॉर्टर बनाया जाता है। मॉर्टर जमकर पत्थर ईंट आदि को जकड़ लेता है और कठोर हो जाता है।
सर्वाधिक इस्तेमाल में आने वाला विरंजन अभिकर्मक क्या है?
(अ) कार्बन डाइऑक्साइड (ब) एल्कोहल
(स) क्लोरीन (द) सोडियम क्लोराइड
S.S.C.  संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
क्लोरीन (Cl2) का प्रयोग विरंजक के रूप में किया जाता है। यह गैसीय तथा जलीय दोनों माध्यमों में विरंजक के रूप में कार्य करता है। इसकी खोज कार्ल विल्हेम शीले ने की थी।
यदि आप स्थिर वायु में धूल कणों को देखने के लिए एक सूक्ष्मदर्शी का प्रयोग करें तो वे आपको हर समय इधर-उधर चलते हुए दिखाई देंगे। इस परिघटना को क्या कहते हैं?
(अ) टिंडल प्रभाव (ब) ब्राउनी प्रभाव
(स) वितरण (द) परासरण
S.S.C.  मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006
उत्तर-(ब)
सूक्ष्मदर्शी से देखने पर स्थिर वायु में धूल के कण ब्राउनी प्रभाव के कारण हर समय इधर-उधर चलते हुए दिखाई पड़ते हैं।
गैस के गुब्बारों में हाइड्रोजन गैस की जगह हीलियम गैस का प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह-
(अ) हाइड्रोजन से हल्की होती है
(ब) हाइड्रोजन से अधिक प्रचुरता में पाई जाती है
(स) अदाह्य
(द) अधिक स्थायी है
S.S.C.  स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008
उत्तर-(स)
गैस के गुब्बारों में हाइड्रोजन गैस की जगह हीलियम गैस का प्रयोग किया जाता है क्योंकि हीलियम गैस अदाह्य होती है। हाइड्रोजन गैस ज्वलनशील होने के कारण प्रायः प्रयोग में नहीं लायी जाती है।
हीलियम से भरा गुब्बारा वायु में उड़ने लगता है क्योंकि-
(अ) वायु से गुब्बारे को ऊपर उठने का बल मिलता है
(ब) गुब्बारा भारहीन हो जाता है
(स) हीलियम का घनत्व वायु से कम होता है
(द) हीलियम गुब्बारे के नीचे से वायु को हटा देता है।
S.S.C.CPO  परीक्षा, 2011
उत्तर-(स)
हीलियम गैस वायु से हल्की और अज्वलनशील होती है इसीलिए इसे गुब्बारों में भरा जाता है।
गुब्बारों में कौन-सी गैस प्रयोग की जाती है?
(अ) हाइड्रोजन (ब) ऑक्सीजन
(स) कार्बन डाइऑक्साइड (द) हीलियम
S.S.C.  स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
गुब्बारों में हीलियम गैस प्रयोग की जाती है क्योंकि यह वायु से हल्की होती है। हीलियम का प्रयोग वायुयान के टायरों में भी किया जाता था लेकिन वर्तमान में वायुयान के टायरों में नाइट्रोजन गैस (N2) का प्रयोग किया जाता है।
S.S.C.  ने अपनी पूर्व परीक्षाओं में यह सुनिश्चित माना है कि गैस के गुब्बारों में हाइड्रोजन गैस की जगह हीलियम गैस का प्रयोग किया जाता है। परंतु इस परीक्षा के उत्तर पत्रक में आयोग ने अपना उत्तर (अ) दिया है जो गलत है।
किसी सामग्री (पदार्थ) का सांद्रण जो 50% पशुओं के लिए घातक है, क्या कहलाता है?
(अ) LD50  (ब) LC50
(स) NOAEL  (द) ADI
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2014
उत्तर-(ब)
किसी सामग्री (पदार्थ) का सांद्रण जो 50% पशुओं के लिए घातक है, LC50 कहलाता है। LC का पूर्ण रूप ‘Lethal Concentration’ है। LC मान मुख्यतः वायु में रासायनिक पदार्थों की मात्रा के लिए प्रयोग किया जाता है लेकिन पर्यावरणीय अध्ययन में इसका प्रयाग जल में रासायनिक पदार्थों की सांद्रता के लिए करते हैं।
बडे नगरों में वायु प्रदूषण का मुख्य कारण है-
(अ)मलजल (ब) निलंबित कण
(स) जीवाश्मी ईंधन का दहन (द) तापीय विद्युत संयंत्र
S.S.C. स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी‘ एवं ‘डी‘) परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड तथा सीसा व भारी धातुओं के निलंबित कणों के उत्सर्जन के कारण नगरीय वातावरण, ग्रामीण वातावरण की अपेक्षा अधिक प्रदूषित होता है।
ब्राउन एयर शब्द का प्रयोग किसके लिए किया जाता है?
(अ) अम्लीय धुआं (ब) औद्योगिक धुआं
(स) प्रकाश रासायनिक धुआं (द) सल्फर धुआं
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
ब्राउन एयर शब्द का प्रयोग प्रकाश रासायनिक धुएं के लिए किया जाता है। प्रकाश रासायनिक धुआं वायु प्रदूषकों और सूर्य के प्रकाश की क्रिया से उत्पन्न होता है। इसके प्रमुख संघट्य गैसों के हाइड्रोकार्बन, नाइट्रोजन ऑक्साइड तथा पेराक्सीऐसीटिल नाइट्रेट है।
HC + NO + O2 Uv (Sunlight) ⟶ NO2 + PAN
(Hydrocarban) (Peroxyacetyl nitrate)
ताजमहल किससे प्रभावित हो रहा है?
(अ) SO2  (ब) CO
(स) NO  (द) CO2
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(अ)
ताजमहल अम्लीय वर्षा से प्रभावित हो रहा है जिसमें SO2 (सल्फर डाइऑक्साइड) की अधिकता है।
ऑटोमोबाइल निर्वात में हानिकारक यौगिक कौन-सा है?
(अ) कार्बन डाइऑक्साइड (ब) कार्बन मोनोऑक्साइड
(स) धुआं (द) उपर्युक्त सभी
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(द)
आॅटोमोबाइल निर्वात में हानिकारक यौगिक जैसे- कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, धुआं, नाइट्रोजन ऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड निष्कासित करते हैं।
वातावरण में सल्फर डाइऑक्साइड की मात्रा को किसके प्रयोग से कम किया जा सकता है?
(अ) अधिक कार्यदक्ष कार इंजन
(ब) उद्योग में उत्प्रेरक परिवर्तक
(स) फैक्टरी की चिमनियों में इसे आकर्षित करने वाली स्थैतिक विद्युत (द) कम सल्फर वाले ईंधन
S.S.C.  मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013
उत्तर-(द)
कम सल्फर वाले ईंधन का प्रयोग करके वातावरण में सल्फर डाइऑक्साइड की मात्रा को कम किया जा सकता है।
हाइड्रोजन सल्फाइड क्या होता है?
(अ) रंगहीन, गंधहीन गैस
(ब) पीत गैस जिसमें जुलाब जैसी गंध होती है
(स) रंगहीन गैस जिसमें सड़े अंडे जैसी गंध होती है
(द) रक्ताभ भूरी गैस जिसमें मछली जैसी गंध होती है
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2014
उत्तर-(स)
हाइड्रोजन सल्फाइड (H2S) एक रंगहीन गैस है, जिसमें सड़े अंडे जैसी गंध होती है।
गौण प्रदूषक का उदाहरण है-
(अ) CH4  (मिथेन)
(ब) Cl2  (क्लोरीन)
(स) CFC (क्लोरोफ्लोरोकार्बन)
(द) PAN (पेरोक्सी एसीटिल नाइट्रेट)
S.S.C. स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी‘ एवं ‘डी‘) परीक्षा, 2012
उत्तर-(द)
पेरोक्सी एसीटिल नाइट्रेट (PAN) एक ‘गौण‘ (Secondary) प्रदूषक है।
पेरोक्सीऐसीटिल नाइट्रेट क्या है?
(अ) एसिडिक डाई (ब) गौण प्रदूषक
(स) विटामिन (द) पादप हॉर्मोन
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(ब)
उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।
प्रकाश रसायन स्मॉग इस आम क्रिया का परिणाम है।
(अ) सूर्य प्रकाश की उपस्थिति में CO, O2 तथा परओक्सी एसिटिल
नाइट्रेट
(ब) लघु ताप पर CO, CO2 तथा NO2
(स) सूर्य प्रकाश की उपस्थिति में NO2 + O3 तथा परओक्सी एसिटिल
नाइट्रेट
(द) सायं के समय NO2़ O3 तथा CCO की उच्च आद्रता
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2015
उत्तर-(स)
प्रकाश रासायनिक धुंध सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में नाइट्रोजन डाइऑक्साइड (NO2) और वातावरण में उपस्थित वाष्पशील यौगिकों की क्रिया का परिणाम है। इसके निर्माण में सहायक परिस्थितियां निम्न है-
सूर्य का प्रकाश
नाइट्रोजन डाइऑक्साइड का बनना
18°C से अधिक तापमान
इस अभिक्रिया के फलस्वरूप प्रमुख विषाक्त घटक ओजोन तथा परओक्सी एसिटिल नाइट्रेट उत्पन्न होते हैं।
पाइराइट अयस्क को जलाने से मिलती है-
(अ) कार्बन डाइऑक्साइड गैस
(ब) सल्फर डाइऑक्साइड गैस
(स) नाइट्रोजन डाइऑक्साइड गैस
(द) नाइट्रिक ऑक्साइड गैस
S.S.C. स्टेनोग्राफर परीक्षा, 2011
S.S.C.  संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2010
उत्तर-(ब)
पाइराइट अयस्क (ऑयरन सल्फाइड – FeS2) को जलाने से सल्फर डाइऑक्साइड गैस निकलती है जिसके कारण पाइराइट का कागज उद्योग तथा सल्फ्यूरिक एसिड बनाने में वृहद पैमाने पर उपयोग होता है।
क्लोरोफॉर्म का प्रयोग किस रूप में किया जा सकता है?
(अ) पीड़ाहारी (ब) निश्चेतक
(स) मलेरियारोधी (द) प्रतिजैविक
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10़2) स्तरीय परीक्षा, 2012
उत्तर-(ब)
श्वास के साथ इसका वाष्प लेने से बेहोशी आ जाती है इसी कारण इसे निश्चेतक के रूप में प्रयोग किया जाता है। वर्ष 1847 में जेम्स सिम्पसन ने क्लोरोफॉर्म का निश्चेतक के रूप में प्रयोग किया।