Synthetic seeds in hindi , कृत्रिम सिंथेटिक बीज परिभाषा क्या है किसे कहते है संश्लिष्ट बीज अर्थ मतलब उदाहरण

By  

(Synthetic seeds in hindi) संश्लिष्ट या कृत्रिम बीज सिंथेटिक बीज परिभाषा क्या है किसे कहते है अर्थ मतलब उदाहरण ?

संश्लिष्ट बीज (Synthetic seeds)
पादप संवर्धन तकनीक द्वारा पादपों का पुनर्जनन उनका नवीन वातावरण में पारिस्थिति अनुकूलन (acclimitçation) तथा फिर उन्हें खेतों में रोपित करने तक के चरणों में काफी समस्याओं का करना पड़ता था। इन सबसे बचने के लिए संवर्धन माध्यम पर वृद्धि करते हुए पादपकों का पोषक के में संपुटन (encapsulation) ने शोध की एक नई दिशा संलिष्ट बीजों के रूप में खोल दी है।
संश्लिष्ट बीज जैल के मनके होते हैं जिनमें कायिक भू्रण या प्ररोह कलिका, आवश्यक पोषक (nutrients), वृद्धि नियामक, एन्टीबायोटिक्स, पेस्टीसाइड आदि होते हैं जिससे भ्रूण कलिका स्वस्थ पाल में विकसित हो सकें।
प्लांट सैल कल्चर टेक्नोलॉजी ग्रुप ऑफ न्यूक्लियर एग्रीकल्चर एण्ड बायोटेक्नोलॉजी डिविजन (Plant cell culture technology group of nuclear argiculture and biotechnology Division) ने 1980 के अन्त में चंदन तथा मल्बरी संश्लिष्ट बीजों पर शोध आरम्भ किया था। वर्तमान में ओरायजा कर्डिमम, म्यूजा आदि के संलिष्ट बीजों पर शोध जारी है।
संलिष्ट बीज वास्तव में संपुटिक कायिक भ्रूण (encapsulated somatic embryos) होते हैं जो कार्यात्मक (functional) रूप से बीजों के समान कार्य करते हैं तथा निर्जमित (sterile) अवस्थाओं में पादपक निर्मित कर सकते हैं। बड़े परिप्रेक्ष्य में यह कहा जा सकता है कि कोई भी संपुटित कलिका (encapsulated bud) अथवा किसी भी प्रकार का विभज्योतक ऊतक जो पादपक बना सके संश्लिष्ट बीज की श्रेणी में आते हैं।
इस प्रकार के बीज बनाने के पीछे मुख्य उद्देश्य यह है कि संवर्धन माध्यम द्वारा एक सरल, सस्ता अपरोक्ष (direct) तरीका खोजा जाये जिसमें संपुटन पदार्थ (encapsulated material) को सीधे ही खेत में रोपित किया जा सके। इस प्रकार के संपुटन आधात्री (matrix) का एक फायदा यह है कि इसमें पोषक पदार्थ, जैव उर्वरक (biofertilçers), कीटनाशी (pesticide), नाइट्रोजन स्थिरीकरण जीवाणु, पूतिरोधी (antibiotics) तथा अन्य आवश्यक तत्वों का समावेश किया जा सकता है।
इस प्रकार के संपुटित पदार्थ को सीधे ही खेतों में रोपित करने से उपसंवर्धन प्राप्त करना तथा m7 प्राप्त पादपकों को पारिस्थितिक अनुकूलन (acclimitçation) कराने की आवश्यकता नहीं होती है संपटित (encapsulated) पादपकों द्वारा एकसमान तथा एक साथ ही काफी सारे पादपक प्राप्त हो जाते हैं जिन्हें उगाने पर अंकुरण सभी में समान होता है जो प्राकृतिक बीजों के अंकुरण से काफी हद तक बेहतर होता है।
पादप संवर्धन माध्यम द्वारा काफी मात्रा में कायिक भू्रण उत्पन्न होते हैं जो लक्षणों में प्राकृतिक बीज के समान होते हैं तथा इनके अंकुरण द्वारा पादपक बनते हैं। प्राकृतिक बीज के समान संश्लिष्ट बीजों को बनाने हेतु संवर्धन माध्यम से भ्रूण लेकर उन्हें पोषक जैल में कार्बनिक, अकार्बनिक, खनिज लवण कार्बन स्रोत के रूप मे, पादप हार्मोन तथा (antimicrobial) मिश्रित करके भ्रूण को पूरी तरह से सुरक्षित (potected) कर दिया जाता है जिससे भ्रूण को यांत्रिक क्षति (mechanical damage) से बचाकर भू्रण के विकास तथा इसके अंकुरण में सहायता प्रदान की जा सके।
भू्रण को संपुटित करने के लिए सबसे उत्तम सोडियम एल्जीनेट (sodium alginate) का जटिल सम्मिश्र कैल्शियम क्लोराइड के साथ माना जाता है। इस विधि द्वारा दो प्रकार के संश्लिष्ट बीज बनाये जाते हैं।
(ं) हायड्रेटिड (Hydrated) – इस प्रकार के प्रत्येक संश्लिष्ट बीज को हाइड्रोजेल में संपुटित किया जाता है।
(इ) डेसीकेटिड (Desicatted) – इस प्रकार संपुटन माध्यम में कुछ घंटों के लिए आवरण मिश्रण (coating mixture) को सुखा लिया जाता है।
संश्लिष्ट बीज बनाने की प्रक्रिया
सामान्यतः संश्लिष्ट बीज बनाने की प्रक्रिया निम्न चरणों में पूर्ण होती है-
(प) भ्रूण, कक्षस्थ कलिका, प्ररोह शिखाग्र, आदि कोई भी प्रवर्धक (propaule) सावधानीपूर्वक निर्जर्मित संवर्धन माध्यम से निकालकर
वॉटमेन फिल्टर पेपर पर सुखा लिये जाते हैं।
(पप) इन शुष्क प्रबंधकों को पोषक माध्यम में बनाये गये सोडियम एल्जीनेट में मिश्रित कर लिया जाता है।
(पपप) प्रत्येक प्रवर्धक को अब चिमटी की सहायता से उठा कर कैल्शियम क्लोराइड के विलयन में 40 मिनट तक रख दिया जाता है।
(पअ) निश्चित काल के पश्चात् प्रवर्धकों को विलयन से निकाल लिया जाता है तथा द्विआसुत जल से तीन चार बार धो लिया जाता
है।
(अ) जल से धोकर निर्जमित हुए संशलिष्ट बीजों को पोषक माध्यम पर कॉटन, फिल्टर पेपर अथवा भूमि में अंकुरित होकर पादपक
बनने के लिए छोड़ दिया जाता है।
सारणी 1 – भारत में सूक्ष्म प्रवर्धन द्वारा उत्पादित होने वाली पादप जातियां
1. फलदायी फसलें अनार, पपीता, अंगूर, अनन्नास, स्ट्राबेरी, नींबू,
केला, सेब, चेरी तथा खजूर
2. वन वृक्ष कैलिस्टीमॉन, यूकेलिप्टस, सागवान, कदम्ब,
कटहल, सिमारूबा, बरगद सेल्वेडोरा तथा बांस
3. शोभाकारी पर्णिल पादप केलेथिया, कॉर्डिलाइन, डेफनबेकिया, फिलोडेन्ड्रोन, ड्रैसीना।
4. शाभोकारी पुष्पीय पौधे कारनेशन, गुलदाउदी, जरबेरा, गुलाब, ग्लेडियोलस, ऑर्किड इत्यादि।
5. सब्जियां शतावर, आलू, फलू गोभी, टमाटर, पत्तागोभी।
6. बागानी फसलें इलायची, गन्ना, वैनिला, कॉफी, अदरक, हल्दी, चाय, कालीमिर्च।

प्रश्न (Questions)
(।) बहुविकल्पी प्रश्न (Multiple Choice Questions)
1. सूक्ष्म प्रवर्धन में निम्न विधियां अपनाई जाती हैं
(ं) कक्षस्थ कलिका प्रचुरण (इ) शल्ककन्द द्वारा प्रचुरण
(ब) घनकंद द्वारा प्रचुरण (क) उपरोक्त सभी
During micropropogation the following methods are employed-
a) Proliferation by axillary (b) prolifiration by bulbs
c) proliferation by corms (d) Above all
2. किस हार्मोन की उपस्थिति में कलिका प्ररोह बनाती है.
(ं) साइटोकाइनिन (इ) ऑक्सिन
(ब) जिब्रेलिन (क) कोई नहीं
In the presence of which hormone bud develops into shoot
(a) cytokinin  (b)Auxin
(c) Gibrellin (d) None
उत्तर (Answers)
1.(d), 2. (a)
(ठ) रिक्त स्थान भरिए (Fill In the Blanks)
1. आवृतबीजी पादपों में सामान्यतः पादप ……… होते हैं।
In angiospermic plants generally the plants are…………….
2. संतति के पादपों को जीन प्रारूप के समान होते हैं
The gene structure of ffosprings is exactly like…………….
3. कंद में………… जनन पाया जाता है।
in tubers ——- propagation takes place…………..
उत्तर (Answers)
1. विषमयुग्मजी (hterozygous), 2. जनक पादपों (parent plants), 3. कायिक (vegetative)
(ब्) सत्यध्असत्य (True or False)
1. आर्किड में सूक्ष्मप्रवर्धन हो सकता है।
Micropropogation can take place in Orchids.
2. लिलि के शल्ककंद बल्ब में सूक्ष्म प्रवर्धन हो सकता है।
Micropropagation con occur in bulb of lily.
3. संलिष्ट बीज जैलयुक्त मनके होते हैं।
Synthetic seeds are beads made of gel.
उत्तर (Answers)
1. सत्य (True), 2. सत्य (True), 3. सत्य (True)

(क्) अतिलघुत्तरात्मक प्रश्न (Very Short Answer Type Questions)
1. संश्लिष्ट बीज की परिभाषा दीजिए।
Give the definition of synthetic seeds-
2. सूक्ष्म प्रवर्धन की परिभाषा दीजिए।
Define micropropagation.
3. हायड्रेटिड संलिष्ट बीज की परिभाष दीजिए।
Define hydrated synthetic seeds-
(म्) मिनुनपज ंितमज (Write Short Short Notes)
1. सूक्ष्म प्रवर्धन पर टिप्प्णी लिखिये।
Write a short note on micropropagation-
2. सूक्ष्म प्रवर्धन के लाभ लिखिये।
Write the advantages of micropropagation.
3. कायिक क्लोनीय विविधिता पर टिप्पणियां लिखिये।
Write a short note on somaclonal variation.
4. कायिक भ्रूणजनन पर टिप्पणी लिखिये।
Write a short note on somatic embryogenesis.
(थ्) निबन्धात्मक प्रश्न (Essay Type Questions)
1. सूक्ष्म प्रवर्धन पर लेख लिखिये।
Write an essay on micropropagation-
2. संश्लिष्ट बीज पर टिप्पणी लिखिये।
Write an essay an synthetic seeds-